Monday, 16 January 2017

अधूरे से रहते मेरे लफ्ज़ तेरे ज़िक्र के बिना


No comments:

Post a Comment