bepanah shayari sms message 2017



  • ज़िन्दगी की आखिरी शाम लिखते हैं;
  • आप की याद में गुजरते पल तमाम लिखते हैं;
  • वो कलम भी दीवानी हो जाती है आप की;
  • जिस कलम से हम आपका नाम लिखते हैं।
  • ===================================== 
  • जुदाई की कसक लिए;
  • तेरी याद से जुड़ा आंसू;
  • हर शब् मेरी आँख से टपका है;
  • गुज़रे कल की तरह आज का दिन भी;
  • तुम बिन उदास गुज़रता है।
  • ===================================== 
  • ये इश्क़ वालों की क़िस्मत बुरी होती है;
  • हर मुलाक़ात जुदाई से जुडी होती है;
  • कहीं भी देख लेना आज़माकर;
  • सच्चे प्यार को जुदाई ही नसीब होती है।
  • ===================================== 
  • धोखा दिया था जब तूने मुझे;
  • जिंदगी से मैं नाराज था; 
  • सोचा कि दिल से तुझे निकाल दूं;
  • मगर कंबख्त दिल भी तेरे पास था।
  • ===================================== 
  • लम्हें जुदाई को बेकरार करते हैं;
  • हालात मेरे मुझे लाचार करते हैं;
  • आँखे मेरी पढ़ लो कभी;
  • हम खुद कैसे कहें कि आपसे प्यार करते हैं।
  • =====================================   
  • जिस घड़ी तेरी यादों का समय होता है;
  • फिर हमें आराम कहाँ होता है;
  • हौंसला नहीं मुझमें तुम्हें भुला देने का;
  • काम सदियों का है यह, लम्हों में कहाँ होता है।
  • =====================================   
  • लम्हें जुदाई के बेकरार करते हैं;
  • हालात मेरे मुझे लाचार करते हैं;
  • आँखें मेरी पढ़ लो कभी भी;
  • हम खुद कैसे कहें कि आपसे प्यार करते हैं।
  • ===================================== 
  • जिंदगी की कश्ती कब लगे कौन से किनारे;
  • कब मिलेंगी मनचली बहारें;
  • जीना तो पड़ेगा ही कैसे भी प्यारे;
  • कभी दोस्तों की भीड़ में कभी तन्हाई के सहारे।
  • =====================================    
  • कितना चाहता हूँ तुझे यह मुझको पता नहीं; 
  • मगर तुम्हारे सिवा कोई और दिल में बसा नहीं; 
  • ज़माना दुश्मन हो गया चाहत का हमारी; 
  • जुदा हो गए फिर से यह मेरी खता नहीं।
  • =====================================   
  • तमन्ना से नहीं तनहाई से डरते हैं;
  • प्यार से नहीं रुसवाई से डरते हैं;
  • मिलने की तो बहुत चाहत है;
  • पर मिलने के बाद जुदाई से डरते हैं।

  • ===================================== 

  • कोई रास्ता नहीं दुआ के सिवा; 
  • कोई सुनता नहीं यहां खुदा के सिवा; 
  • मैंने भी जिंदगी को बहुत करीब से देखा है; 
  • मुश्किल में कोई साथ नहीं देता आंसुओं के सिवा।
  • =====================================   
  • हर ख़ुशी गम का ऐलान है; 
  • हर मुलाक़ात जुदाई का ऐलान है; 
  • ना रखा किसी से उम्मीद; 
  • हर उम्मीद दिल टूटने का फरमान है।
  • =====================================   
  • जलते हुए दिल को और मत जलाना;
  • रोती हुई आँखों को और मत रुलाना;
  • आपकी जुदाई में हम पहले ही मर चुके हैं;
  • मरे हुए इंसान को और मत मारना।
  • =====================================  
  • मुझे उसके पहलु में आशियाना ना मिला;
  • उसकी जुल्फों की छाओं में ठिकाना ना मिला;
  • कह दिया उसने मुझको बेवफ़ा;
  • जब मुझको छोड़ने का उसे कोई बहाना ना मिला।
  • =====================================  
  • अर्ज़ किया है:
  • इतना कमजोर हो गए तेरी जुदाई में;
  • इतना कमजोर हो गए तेरी जुदाई में;
  • कि अब तो चींटी भी खींच ले जाती है चारपाई से।
  • =====================================   
  • बेताब तमन्नाओं की कसक रहने दो;
  • मंजिल को पाने की कसक रहने दो;
  • आप चाहे रहो नजर से दूर;
  • पर मेरी आँखों में एक झलक रहने दो।
  • =====================================    
  • बता मुझे ये तेरी तनहाई कैसी है;
  • समझकर प्यार सारा फिर भी रुसवाई कैसी है;
  • हमें और भी मजबूर कर दिया है तूने;
  • तू बता तो सही ये तेरी तनहाई कैसी है?
  • ===================================== 
  • तुम ना समझोगे इस तन्हाई के मायने;
  • पूछना है तो शाख से टूटे पत्ते से पूछो क्या है जुदाई;
  • यूँ ना कह दो बेवफा हमें;
  • ===================================== 
  • ज़माना बन जाए कागज़ का;
  • और समंदर हो जाए स्याही का;
  • फिर भी कलम लिख नहीं सकती;
  • दर्द तेरी जुदाई का।
  • =====================================   
  • याद में तेरी आँहें भरता है कोई;
  • हर साँस के साथ तुझे याद करता है कोई;
  • मौत तो सच्चाई है आनी है;
  • लेकिन तेरी जुदाई में हर रोज मरता है कोई

  • ===================================== 

  • यह सफ़र दोस्ती का कभी ख़त्म न होगा;
  • दोस्तों से प्यार कभी कम न होगा;
  • दूर रहकर भी जब रहेगी महक इसकी;
  • हमें कभी बिछड़ने का ग़म न होगा!
  • ===================================== 
  • याद में तेरी आँखें भरता है कोई;
  • हर सांस के साथ तुझे याद करता है कोई;
  • मौत एक ऐसी चीज़ है जिसको आना ही है;
  • लेकिन तेरी जुदाई में हर रोज़ मरता है कोई।
  • =====================================   
  • जिंदगी मोहताज़ नहीं मंजिलो की;
  • वक़्त हर मंजिल दिखा देता है;
  • मरता नहीं कोई किसी से जुदा होकर;
  • वक़्त सबको जीना सिखा देता है।
  • जुदाई ===================================== सर्द रातों को सताती है जुदाई तेरी;
  • आग बुझती नहीं सीने में लगाई तेरी;
  • जब भी चलती हैं हवाएं;
  • बहुत परेशान करती है यह तन्हाई मेरी।
  • जु=====================================    
  • दिल तो करता है जिंदगी को किसी क़ातिल के हवाले कर दूँ, अये यारो;
  • जुदाई में यूँ रोज़ रोज़ मरना मुझे अच्छा नहीं लगता!
  • ===================================== 
  • हमने तो ऊमर गुज़ार दी तन्हाई में;
  • सह लिए सित्तम तेरी जुदाई में;
  • अब तो यह फ़रियाद है खुदा से;
  • कोई और ना तड़पे, तेरी बेवाफ़ाई में!
  • =====================================    
  • फूल खिलतें हैं, खिलकर बिछड़ जाते हैं;
  • फूल खिलतें हैं, खिलकर बिछड़ जाते हैं;
  • यादें तो दिल में रहती हैं, दोस्त ही मिलकर बिछड़ जाते हैं!
  • जु=====================================  
  • मंजिल ढूंढ़ते ढूंढ़ते आज मुझे एहसास हुआ;
  • कि मेरे 'हमसफ़र' की राह तो कबकी बदल गयी!
  • जु=====================================  
  • खुदा किसी को किसी पर फ़िदा न करे;
  • करे तो क़यामत तक जुदा न करे;
  • यह माना कि कोई मरता नहीं जुदाई में;
  • लेकिन जी भी तो नहीं पाता तन्हाई में!



Comments