Best two 2 line whatsapp twitter facebook


  • कहो कब तुमसे मिली
  • बिछड़ने का सवाल है
  • याद करो वो मंजर
  • जब हम वफादार थे
  • गम में राज़दार थे
  • तुने हीं छोड़ी वफ़ा की राह
  • कहो अब हम कैसे गुनहगार है।


  • किनारों से मुझे ऐ नाख़ुदा दूर ही रखना
  • वहाँ ले कर चलो, तूफ़ान जहां से उठने वाला हैं


  • ज्यादा मुँह बनाकर सेल्फ़ी लेने से होंठ बत्तख जैसे हो जाता है । ना यकीन हो तो नरगिस फकरी और अनुष्का शर्मा से पूछ लो



  • सरहद पर गोली चली, 
  • धरती होली लाल|
  • होली पल पल खेलता,
  • भारत माँ का लाल



  • आई लव यू टू से भी ज्यादा खुशी अगर
  • कुछ सुनकर मिलती है, तो वो 'मकानमालिक बाहर
  • रहते हैं' है।


  • कितना मुश्किल है मनाना उसको
  • जो रूठा भी ना हो और बात भी ना करे



  • नाख़ुदा को ख़ुदा कहा है तो फिर
  • डूब जाओ, ख़ुदा ख़ुदा न करो
  • इश्क़ है इश्क़,ये मज़ाक नहीं
  • चंद लम्हों में फ़ैसला न करो


  • #तेरा_मेरा_रिश्ता 
  • »»»«»कोई एेसा बंधन है
  • ~~जो मन को ही नही
  • ______आत्मा को भी बांध
  • ΩΩΩΩΩΩदेता है आपस में


  • यार हर DP में शक्ल बदली बदली सी लगती है उसकी😕😟😕
  • साला लड़की ना हुई इच्छाधारी नागिन हो गयी



  • साले लोग कितने free है आज की तारिख में, पता कुछ भी नहीं बस दूसरे के कहने पर Block करने में लगे है😂😂
  • खुद की बुद्धि तो बेच खाई थी बचपन में



  • संविधान में नहीं लिखा हुआ है, तो क्या हुआ 
  • मेरा भी ट्विट आरटी कर दिया करो



  • पढ़ने वाले की कमी है वरना
  • गिरते आँसू भी एक किताब है


  • उसकी महफ़िल में वही सच था वो जो कुछ भी कहे
  • हम भी गूंगों की तरह हाथ उठा देते थे



  • हम दिल को बेचते हैं कोई दिल को मोल ले।
  • इस दिल का यही मोल है कोई हंस के बोल दे


  • उस गुलाबी चाँद के चेहरे पे थोड़ा सा रंग लगा देते,
  • तुम जो पास होते तो हम भी होली मना लेते



  • किस्से बन जाता है, कहानियाँ हो जाता है ...
  • इक उम्र के बाद आदमी, आदमी नहीं रहता


  • किनारों से मुझे ऐ नाख़ुदा दूर ही रखना
  • वहाँ ले कर चलो, तूफ़ान जहां से उठने वाला हैं


  • कितना मुश्किल है मनाना उसको
  • जो रूठा भी ना हो और बात भी ना करे


  • नाख़ुदा को ख़ुदा कहा है तो फिर
  • डूब जाओ, ख़ुदा ख़ुदा न करो
  • इश्क़ है इश्क़,ये मज़ाक नहीं
  • चंद लम्हों में फ़ैसला न करो



  • दिनभर हजारों चेहरे देखता हूँ मैं, बस एक तेरा #चेहरा है जो पूरी #रात भुलाता नहीं मैं..



  • थोड़ी सी तो तवज्जो दी होती मुझे
  • जानते हो न.....
  • मेरे लिए जीने की वजह हो तुम....



  • अच्छी बात नही है ये..
  • काम को लेकर !विचारिक मतभेद अपनी जगह हैं...
  • लेकिन इस तरह मतभेद को पर्सनल करना ... ठीक नही



  • रखा करो! नजदीकीयाँ.....
  • जिदंगी का कोई भरोसा नहीं.....

  • फिर मत कहना कि.....
  • चले भी गऐ और बताया भी नहीं



  • मैं अक्स!र हर किसी के लिए रोता नहीं, 
  • बस एक वहीं शक्स है जिसके दुर जाने के मजाक पर भी मेरे आंसू थमते नहीं।



  • बिकता नही गम बाज़ार में
  • दर्द बहुत है छोटे से संसार में
  • अगर हो जमाने में कोई भी दुख तो
  • स्वागत है मेरे महांकाल के दरबार में.
  • जय श्री महांकाल



  • हम जो सोचते है 
  • जिन बातों में हमारा विस्वास हो
  • जो बिना! डर के कह पाये
  • यही तो अभिव्यक्ति की जीत ..



  • अगर ईश्वर पर भरोसा करना है तो भक्त प्रहलाद की तरह करो,
  • हमारे दिखा!वे और चढ़ावे की जरूरत ईश्वर को नहीं है, वो सदैव हमारे साथ है



  • लेकिन क्या ये निरपेक्ष हो
  • यानि कितनी भी कठोर बात हो
  • जो आपको ठीक लगती हो
  • बेफ़िक्र कहने और बोलने की आजादी हो

  • ~·~आप जो करने से डरते है~·~
  • ~·~उसे करिए और करते ही रहिए~·~
  • ~·~अपने डर पर जीत पाने का~·~
  • ~·~यही सबसे सफल तरीका है



  • सुना है आज बिक रहा है इश्क़ बाज़ार में

  • जाओ उस इश्क़ फरामोश से पूछो वफ़ा भी साथ देता है क्या...



  • हर चेहरे में नज़र आता है तेरा चेहरा , लगता है तुम ने
  • मेरी नज़र को बाँध दिया है।


No comments :

Post a Comment