Bewafa Shayari Wafa Hindi Font Shayari


  1. Jazbaat mere kahin kuch khoye huye se hain,
  2. Kahu kaise wo tumse thoda shrmaye huye se hai,
  3. Par aaj na rok sakunga jazbaato ko main apne,
  4. Karte hai pyar hum tumhi se par ghabraye huye se hai.


  5. ==============================
  6. Pathar Ki Yeh Duniya Jazbat Nahi Samajhti,
  7. Dil Me Hai Jo Woh Bat Nahi Samajhti,
  8. Tanha Toh Chand Bhi Hai Sitaron Ke Beech,
  9. Magar Chand Ka Dard Bewafa Raat Nahi Samajhti.


  10. ==============================
  11. Hasrat hain sirf tumhe paane ki,
  12. Aur koi khawahish nahi is deewane ki,
  13. Shikwa mujhe tumse nahi khuda se hai,
  14. Kya zarurat thi tumhe itna khubsurat banaane ki.


  15. ==============================
  16. आपकी नयी सुबह इतनी सुहानी हो जाये,
  17. दुखों की सारी बातें आपकी पुरानी हो जायें,
  18. दे जाये इतनी खुशियां यह नया दिन,
  19. कि ख़ुशी भी आपकी दीवानी हो जाये।

  20. सुप्रभात!

  21. Aapki Nayi Subah itni Sayani ho jaye,
  22. Dukhon ki sari batein aapki purani ho jaye,
  23. De jaye Itni khushiya ye din,
  24. Ki Khushi bhi aapki diwaani ho jaye.

  25. Good Morning!


  26. ==============================
  27. Agar Bhigne Ka Itna Hi Shoq Hai Baarish Me,
  28. To Dekho Na Meri Aankhon Me,
  29. Baarish To Har Ek Ke Liye Hoti Hai,
  30. Lekin Ye Aankhein Sirf Tumhare Liye Barasti Hain.


  31. ==============================
  32. Kitna bebas hain insaan kismat ke aage,
  33. Har sapna tut jata hain hakikat ke aage,
  34. Jisne kbhi duniya me haarna nahi sikha,
  35. Wo bhi haar jata hain mohabbat ke aage.


  36. ==============================
  37. दूर दूर रह कर भी हम कितने करीब हैं,
  38. हमारा रिश्ता भी जाने कितना अजीब है,

  39. बिन देखे ही तेरा यूँ मोहब्बत करना मुझसे,
  40. बस तेरी यही चाहत ही तो मेरा नसीब है,

  41. पर जिसे प्यार ही ना मिला हो किसी का,
  42. वो बदकिस्मत भी यहाँ कितना गरीब है,

  43. और जिसे मिल गया हो तेरे जैसा यार यहाँ,
  44. वो शख्स भी मेरे जैसा ही खुशनसीब है….!!


  45. ==============================
  46. इश्क़ में कोई खोज नहीं होती,
  47. यह हर किसी से हर रोज नहीं होती,
  48. अपनी जिंदगी में हमारी मौजूदगी को बेवजह मत समझना,
  49. क्योंकि पलके कभी आँखों पर बोझ नहीं होती..!!

  50. Ishq mein koi khoj nahin hoti,
  51. Yeh har kisi se roz nahin hoti,
  52. Apni zindagi mein humari maujudagi ko bewajah mat samjhna,
  53. Kyonki palaken kabhi aankhon par bojh nahin hoti.


  54. ==============================
  55. Ek Mohabbat Hai Aur Uss Ki Ek Nishani Hai,
  56. Ek DiL Hai Jaise Koi Haweli Purani Hai,
  57. Safar Raat Ka Hai Aur Raat Bhi Tufani Hai.
  58. Samandar Hi Samandar Hai, Kashti Bhi Doob Jani Hai,
  59. Ibteda-e-IshQ Se Inteha-e-IshQ Tak,
  60. Main Hi Thi Bewafa Aur Maine Hi Wafa Nibhani Hai,
  61. Main Laut Aai Hun Manzil Ko Dekh Kar,
  62. Yahan To Yaadon Ki Weerani Hi Weerani Hai,
  63. Yeh Intezaar Khatam Kyun Nahin Hota Kis Se Puchun,
  64. Kya Koi Manzil Mera Muqadar Hai,
  65. Ya Yahi Meri Adhoori Kahani Hai.


  66. ==============================
  67. कौन कहता है की दिल..
  68. सिर्फ लफ्जों से दुखाया जाता है,
  69. तेरी ख़ामोशी भी कभी कभी..
  70. आँखें नाम कर देती है.

  71. Kaun kehta hai ki dil
  72. Sirf lafzo se dukhaya jaata hai
  73. Teri khaamoshi bhi kabhi kabhi..
  74. Aankhein nam kar deti hai.




  75. किस्मत ने जैसा चाहा वैसे ढल गए हम,
  76. बहुत संभल के चले फिर भी फिसल गए हम,
  77. किसी ने विश्वास तोडा तो किसी ने दिल,
  78. और लोगो को लगा की बदल गए हम.

  79. Kismat Ne Jaise Chaha Waise Dhal Gaye Hum,
  80. Bahut Sambhal Kar Chaley Phir Bhi Phisal Gaye Hum!!
  81. Kisi Ne Yakeen Thoda To Kabhi Kisi Ne Dil,
  82. Aur Logon Ko Lagata Ki Badal Gaye Hum!!


  83. ==============================
  84. कौन कहता है हम उसके बिना मर जायेंगे,
  85. हम तो दरिया है समंदर में उतर जायेंगे,
  86. वो तरस जायेंगे प्यार की एक बून्द के लिए,
  87. हम तो बादल है प्यार के किसी और पर बरस जायेंगे|

  88. Kon Kehta Hai Uske Bina Hum Mar Jayenge,
  89. Dariya Hain Sagar Me Utar Jayenge,
  90. Wo Taras Jayenge Pyar Ki Boond K Liye,
  91. Hum To Badal Hain Kisi Or Pe Baras Jayenge.


  92. ==============================
  93. Ye kaisa silsila hai tere aur mere darmiyaan,
  94. Faasle toh bahot hain magar mohabbat kam nahi hoti.

  95. Ek tujhko hi chaaha tha, zamaane se ladkar…!!
  96. Tumne zamaane se milkar, mujhe hi tanhaa kar diya.
  97. Aie shekh mere peene ka andaz dekh,
  98. Aksar sharab me aansu mila ke peeta hoon.
  99. Kahin fisal na jao zara sambhal ke rehna,
  100. Mausam baarish ka bhi hai aur mohabbat ka bhi.
  101. Mere hi hathon pe likhi hai taqdeer meri,
  102. Aur meri hi taqdeer par mera bus nahi chalta.
  103. Tujhe pa na sake toh bhi saari zindagi tujhe pyar karenge,
  104. Ye zaruri toh nahi jo mil na sake usse chhor diya jaye.
  105. Zindagi mein Yeh Hunar Bhi Aazmaana chahiye,
  106. Apnon se agar ho Jung toh haar Jaana chahiye.
  107. Hum roj udas hote hai or shaam guzar jaati hai,
  108. Ek roj shaam bi udas hogi or hum guzar jayenge.
  109. Uski bewafai pe bhi fida hoti hai jaan apni,
  110. Khuda jane agar us mein wafa hoti to kya hota.
  111. Bas ek tujhe hi yakeen nahi mere jazbaaton par,
  112. Warna kitne hi deewane ban bethe meri mohabbat ki dastan sun kar.

  113. ==============================
  114. रात गुमसुम हैं मगर चाँद खामोश नहीं,
  115. कैसे कह दूँ फिर आज मुझे होश नहीं,
  116. ऐसे डूबा तेरी आँखों के गहराई में आज,
  117. हाथ में जाम हैं,मगर पिने का होश नहीं|

  118. Raat gumsum hai magar chand khamosh nahi,
  119. Kaise keh du aaj fir hosh nahi.
  120. Aisa duba teri aakhon ki gehrai main,
  121. Haath mein jaam hai, magar pine ka hosh nahi.


  122. ==============================
  123. जब भी उनकी गली से गुज़रते है,
  124. मेरी आँखें एक दस्तक दे देती है,
  125. दुःख ये नहीं वो दरवाजा बंद कर देते है
  126. ख़ुशी ये है की मुझे पहचान लेते है|

  127. Jab Bhi Unki Gali Se Guzarta Hoon,
  128. Meri Ankhein Ek Dastak De Deti Hai,
  129. Dukh Ye Nahi, Wo Darwaja Band Kar Dete Hai,
  130. Khusi Ye Hai, Wo Mujhe Ab Bhi Pahchan Lete Hai.


  131. ==============================
  132. Fikar Mat Kar Bande Kalam Kudrat Ke Haat Hai,
  133. Likhne Wale Ne Likh Diya Taqdeer Tere Saath Hai,
  134. Fikar Karta Hai Kyun Fikar Se Hota Hai Kya,
  135. Rakh Khuda Pe Bharosa, Dekh Phir Hota Hai Kya.


  136. ==============================
  137. Aakhiya De kolo Sada Reh sajna,
  138. Assi Lakh War Tak Ke Vi Nahi Rajna,
  139. Mukhra Na Mori Sada Zor Koi Na,
  140. Kade Chaad Ke Na Javi Sada Hor Koi Na.


  141. ==============================
  142. फूल इसलिये अच्छे कि खुश्बू का पैगाम देते हैं..
  143. कांटे इसलिये अच्छे किदामन थाम लेते हैं..
  144. दोस्त इसलिये अच्छे कि वो मुझ पर जान देते हैं..
  145. और दुश्मनों को मैं कैसे खराब कह दूं..
  146. वो ही तो हैं जो हर महफिल में मेरा नाम लेते हैं..


  147. ==============================
  148. फूल की पत्तियां बनकर मेरे चारो तरफ बिखर गई,
  149. उसकी यादों की खुश्बू से ये हवाऐं भी निखर गई,
  150. ना रास्ता मुझे कोई दिखाई दे ना मैं ही देखना चाहूँ,
  151. तन्हा कर के यूं मुझे मेरी मंजिलें जाने किधर गई|


  152. ==============================
  153. Aaj Bhi Mere Dil Me Woh Basti Hai,
  154. Aaj Bhi Mujhe Sapno Me Woh Dikhti Hai,
  155. Kya Hua Ab Hum Door Hai Ek-Dusre Se Par,
  156. Aaj Bhi Meri Saanse Unki Dhadkan Sunn K Chalti Hai.




  157. ==============================



  158. Apni nigahon se na dekh khudko
  159. Heera bhi tujhe patthar lagega,
  160. Sab kehte honge chand ka tukda hai tu,
  161. Meri nazar se dekh chand tera tukda lagega.


  162. ==============================
  163. Ek dil mere dil ko Zakhm de gaya,
  164. Zindagi bhar jeene ki kasam de gaya,
  165. Lakho phoolon me se ek phool chuna hmne,
  166. Jo kaanto se gehri chubhan de gaya.


  167. ==============================
  168. Rone Ki Saza Na Rulane Ki Saza Hai,
  169. Ye Dard Mohabbat Ko Nibhane Ki Saza Hai,
  170. Haste Hai To Aankho Se Nikal Aate Hai Aansu,
  171. Ye Us Shaks Se Dil Lagane Ki Saza Hai.


  172. ==============================
  173. Tere Pyar Me Do Pal Ki Zindgi Bahut Hai,
  174. Ek Pal Ki Hansi Aur Ek Pal Ki Kushi Bahut Hai,
  175. Ye Dunia Mujhe Jane Ya Na Jane,
  176. Teri Ankhe Mujhe Pehchane Yahi Bahut Hai.


  177. ==============================
  178. Kise apna banayen,
  179. Koi is kaabil nahi milta,
  180. Yahan pattahar bahut milte hain,
  181. Par dil nahi milta,
  182. Yeh duniya farebon ki basti hai aye dost,
  183. Yahan sirf dard milte hain,
  184. Humdard nahi milta.


  185. ==============================
  186. Kabhi Hum Tute Toh Kabhi Khwab Tute,
  187. Jane Kitne Tukdo Me Armaan Tute,
  188. Har Tukda Ek Aaina Hain Zindagi Ka,
  189. Har Aaine Ke Sath Lakho Jazbat Tute.


  190. ==============================
  191. Tumhari Har Ek Baat Bewfai Ki Kahani Hai,
  192. Lekin
  193. Teri Har Saans Meri Zindagi Ki Nishani Hai,
  194. Tum Aaj Tak Samajh Nahi Sake Mere Pyar Ko,
  195. Isliye Mere Aansoo Bhi Tere Liye Pani Hai.


  196. ==============================
  197. Chaha tha jise use bhulaya na gaya,
  198. Zakhm dil ka logo se chupaya na gaya,
  199. Bewafai ke baad bhi itna pyar karta hai dil unse,
  200. Ki bewafai ka ilzaam bhi uss par lagaya na gaya.


  201. ==============================
  202. Haqiqat Mohabbat Ki Judaai Hoti Hai,
  203. Kabhi Kabhi Pyar Main Bewafai Hoti Hai,
  204. Humari Taraf Haath Badhaa Kar Toh Dekh,
  205. Dosti Main Kitni Sachhai Hoti Hai.


  206. ==============================
  207. Ehsaan Kiya Usne Mujhe Pyaar Sikha Kar,
  208. Kya Hoti Hai Chahat Ye Mujh Ko Bata Kar,
  209. Judai hi Hota Hai Pyaar Ka Asli Matlab,
  210. Chhod Diya Mera Saath Bas Itna Bata Kar.





  211. वफ़ा का दरिया कभी रुकता नही,
  212. इश्क़ में प्रेमी कभी झुकता नही,
  213. खामोश हैं हम किसी के खुशी के लिए,
  214. ना सोचो के हमारा दिल दुःखता नहीं|


  215. ==============================
  216. Koi gam de pave parchave na,
  217. Jis nagree yaar vasde ne,
  218. Sanu rona de k umraan da,
  219. Bhaven oh khid khid hasde ne,
  220. Asin mangde haan sukh una da,
  221. Jinha jholi hanju paaye ne,
  222. Na roko ajj ron devo,
  223. Meinu yaar chete aye ne !!!


  224. ==============================
  225. Kab Unki Aankho Se Izhar Hoga
  226. Dil Ke Kisi Kone Mei Hamare Liye Pyar Hoga
  227. Guzar Rahi He Raat Unki Yaad Me
  228. Kabi to Unko Bhi Hamara Intzar Hoga..!
  229. God Night!!!


  230. ==============================
  231. मेरी हर बात को उल्टा वो समझ लेते हैं,
  232. अब के पूछा तो कह दूंगा कि हाल अच्छा है..

  233. खामोशियाँ में शोर को सुना है मैंने,
  234. ये ग़ज़ल गुंगुनायेगी रात के साये में ।
  235. मिला क्या हमें सारी उम्र मोहब्बत करके,
  236. बस एक शायरी का हुनर, एक रातों का जागना..
  237. ना पीछे मुड़ के देखो, ना आवाज़ दो मुझको,
  238. बड़ी मुश्किल से सीखा है मैंने अलविदा कहना..!
  239. कभी टूटा नहीं मेरे दिल से तेरी यादों का रिश्ता..
  240. गुफ़्तगू किसी से भी हो ख़याल तेरा ही रहता है..
  241. ना छेड़ किस्सा वोह उल्फत का बड़ी लम्बी कहानी है
  242. मैं जिन्दगी से नहीं हारा किसी अपने की मेहरबानी है
  243. हर किसी के हाथ मैं बिक जाने को हम तैयार नहीं..
  244. यह मेरा दिल है तेरे शहर का अख़बार नहीं..
  245. आज भी एक सवाल छिपा है.. दिल के किसी कोने मैं..
  246. की क्या कमी रह गईथी तेरा होने में.
  247. मेरी लिखी किताब, मेरे ही हाथो मे देकर वो कहने लगे
  248. इसे पढा करो, मोहब्बत करना सिख जाओगे..!!
  249. इतनी चाहत तो लाखो रुपए पाने की भी नही होती..
  250. जितनी बचपन की तस्वीर देख कर बचपन में जाने की होती हैं

  251. ==============================
  252. चुपचाप चल रहे थे.. हम अपनी मंजिल की तरफ..
  253. फिर रस्ते में एक ठेका पड़ा.. और हम गुमराह हो गए।

  254. ऐ जीन्दगी जा ढुंड॒ कोई खो गया है मुझ से.
  255. अगर वो ना मिला तो सुन तेरी भी जरुरत नही मुझे.
  256. कुछ दूर हमारे साथ चलो, हम दिल की कहानी कह देंगे,
  257. समझे ना जिसे तुम आखो से, वो बात जुबानी कह देंगे ।
  258. कितनी ही खूबसूरत क्यों न हो तुम..
  259. पर मैं जानता हूँ.. असली निखार मेरी तारीफ से ही आता है..
  260. होने वाले ख़ुद ही अपने हो जाते हैं..
  261. किसी को कहकर, अपना बनाया नही जाता..!!
  262. नक़ाब क्या छुपाएगा शबाब-ए-हुस्न को,
  263. निगाह-ए-इश्क तो पत्थर भी चीर देती है..
  264. ज़िन्दगी जोकर सी निकली
  265. कोई अपना भी नहीं.. कोई पराया भी नहीं
  266. मेरी आँखों में बहने वाला ये आवारा सा आसूँ
  267. पूछ रहा है.. पलकों से तेरी बेवफाई की वजह..
  268. दम तोड़ जाती है हर शिकायत लबों पे आकर,
  269. जब मासूमियत से वो कहती है मैंने क्या किया है
  270. अगर तुम्हें यकीं नहीं, तो कहने को कुछ नहीं मेरे पास,
  271. अगर तुम्हें यकीं है, तो मुझे कुछ कहने की जरूरत नही !

  272. ==============================
  273. Tu Yaad Kare Na Kare Teri Khushi,
  274. Hum To Tujhe Yaad Karte Rehte Hai,
  275. Tujhe Dekhne Ko Dil Tarsata Hai,
  276. Hum To Intezaar Karte Rehte Hai.

  277. ==============================
  278. Ek pyari line ladki ka apne boyfrnd ke liye

  279. Haa ye sach hai k mujhe tumse Mohabbat hai,
  280. Ye bhi sach hai k main tumhari chahat hun,
  281. Par meri zindagi me chahato ki kami to nahi,
  282. Rishte or bhi hai ek sirf tum hi to nahi,
  283. Apni zaat k is pehlu se ajj milwaaon tumhe,
  284. Main kya hun, kaise hun batlaaon tumhe,
  285. Apni Maa ki tarbiyat hun main,
  286. Izzat hon apne Papa ki,
  287. Maan hun apne bhai ka,
  288. Nishaan hun apni behno ki parchai ki,
  289. To behak jaaon main yeh kabhi mumkin hi nahi,
  290. Ke Dil woh sab bhi to rakhte hai, ek tum hi to nahi.


  291. ==============================
  292. भले ही किसी गैर की जागीर थीं वो,
  293. पर मेरे ख्वाबों की भी तस्वीर थीं वो,
  294. मुझे मिलती तो कैसे मिलती,
  295. किसी और की हिस्से की तक़दीर थीं वो|

  296. Bhale Hi Kisi Gair Ki Jaagir Thi Wo,
  297. Par Mere Khwabon Ki Tasveer Thi Wo,
  298. Mujhe Milti To Kaise Milti,
  299. Kisi Aur Ke Hisse Ki Taqdeer Thi Wo.


  300. ==============================
  301. तुम बदलो तो….कहेते हो मज़बूरीयाँ है बहोत,
  302. और हम ज़रा सा बदले तो हम बेवफ़ा हो गए|

  303. सुकून ऐ दिल के लिए कभी हाल तो पूँछ ही लिया करो,
  304. मालूम तो हमें भी है कि हम आपके कुछ नहीं लगते..
  305. यूँ बिगड़ी बहकी बातों का कोई शौक़ नही है मुझको,
  306. वोपुरानी शराब के जैसी है,असर सर से उतरता ही नही..
  307. बेवफा कहने से पहले मेरी रग रग का खून निचोड़ लेना।
  308. कतरे कतरे से वफ़ा ना मिले तो बेशक मुझे छोड़ देना।
  309. पीते थे शराब हम, उसने छुड़ाई अपनी कसम देकर,
  310. महफ़िल में गए थे हम, यारों ने पिलाई उसकी कसम देकर।
  311. तेरी तलाश में निकलू भी तो क्या फायदा..
  312. तुम बदल गए हो.. खो गए होते तो और बात थी|
  313. तज़ुर्बा है मेरा मिट्टी की पकड़ मजबुत होती है,
  314. संगमरमर पर तो हमने पाँव फिसलते देखे हैं..
  315. उस शख्स का गम भी कोई सोचे..
  316. जिसे रोता हुआ ना देखा हो किसी ने..
  317. जाने क्या मासूमियत है तेरे चेहरे में,
  318. तेरे सामने आने से ज्यादा तुझे छुपके देखना अच्छा लगता है|
  319. खुद पर भरोसे का हुनर सीख ले..
  320. लोग जितने भी सच्चे हो साथ छोड़ ही जाते हैं|


  321. ==============================
  322. Humare Anso Pooch Kar Wo Muskurate Hain,
  323. Esi Ada Se Wo Dil Ko Churate Hain,
  324. Hath Unka Chu Jaye Humare Chehre Ko,
  325. Isi Umeed Mein Hum khud ko Rulate Hain.



  326. ==============================


  327. Aap hi ho khayal me hamare din raat,
  328. Kehni hai humko apse kuch baat,
  329. Mauka to dakar dekhiye humko,
  330. Inkar na kar paoge kyuki sacche hai hamare jazbaat.


  331. ==============================
  332. Gham na kar Zindagi bahut badi hai,
  333. Chahat ki mehfil tere liye saji hai,
  334. Bas ek bar muskura kar tho dekh,
  335. Taqdeer khud tujhse milne bahar khadi hai.


  336. ==============================
  337. Gam tum laate ho zindagi mein humaare,
  338. Wo zakhm aane he nahi deti,
  339. Khushi ko to ek pal mein bikher dete ho tum humaari,
  340. Wo to khushi ko jaane he nahi deti,
  341. Hosh mein laa-laa kar tum hosh udaati ho humaare,
  342. Wo sharaab to hosh mein aane he nahi deti.


  343. ==============================
  344. Ho chuki mulakaat abhi salaam baaki hai,
  345. Tumhare naam ki do ghoont sharaab baki hai,
  346. Tumko mubarak ho khushiyoon ka shamyaana,
  347. Mere naseeb me abhi do gaz zameen baki hai.


  348. ==============================
  349. Ab udas hona bhi achha lagta hai,
  350. Kisi ke pass na hona bhi achha lagta hai,
  351. Me dur rehkar bhi kisi ki yaado me hu,
  352. Yeh ehsas hona bhi achha lagta hai.


  353. ==============================
  354. Bhagwan ne insan ko kya se kya bana diya,
  355. Kisi ko kavi to kisi ko katil bana diya,
  356. Do phoolon ka wajan na utha sakti thi Mumtaz,
  357. Shah Jahan ne uske liye tajmahal bana diya.


  358. ==============================
  359. ए पलक तु बन्‍द हो जा,
  360. ख्‍बाबों में उसकी सूरत तो नजर आयेगी,
  361. इन्‍तजार तो सुबह दुबारा शुरू होगी,
  362. कम से कम रात तो खुशी से कट जायेगी|

  363. Ae Palak tu band ho ja,
  364. Khawbon mein unki surat to nazar aayegi,
  365. Intezar to subah phir se shuru hoga,
  366. Kam se kam raat to sukoon se kat jayegi.


  367. ==============================
  368. जो कोई समझ न सके वो बात हैं हम,
  369. जो ढल के नयी सुबह लाये वो रात हैं हम,
  370. छोड़ देते हैं लोग रिश्ते बनाकर,
  371. जो कभी न छूटे वो साथ हैं हम।

  372. Jo koi samajh na sake wo baat hu Main,
  373. Jo dhal ke nayi subah laye wo raat hu Main,
  374. Chhod dete hai log rishte banakar,
  375. Jo kabhi chhod na jaye wo sath hu Main.


  376. ==============================
  377. तनहाइयों मे मुस्कुराना इश्क़ है,
  378. एक बात को सब से छुपाना इश्क़ है,
  379. यूँ तो नींद नही आती हमें रात भर,
  380. मगर सोते सोते जागना और जागते जागते सोना इश्क़ है|

  381. Tanhai mein muskurana ishq hai,
  382. Ek baat ko sab se chupana ishq hai,
  383. Yu to neend nahi aati hai raat bhar,
  384. Magar sote sote jaag jana ishq hai..!!


  385. ==============================
  386. मिट्टी मेरी कब्र से चुरा रहा है कोई,
  387. मर कर मेरे दिल बहुत याद आ रहा है कोई,
  388. एक पल की ज़िन्दगी और देदे ऐ खुदा,
  389. मायूस मेरी कब्र से जा रहा है कोई|

  390. Mitti Meri Kabar Se Chura Raha Hai Koi,
  391. Markar Bhi Dil Ko Bahut Yaad Aa Raha Hai Koi,
  392. Ik Pal Ki Jindgi Or Dede ae Khuda,
  393. Maayuse Meri Kabar Se Ja Rahi Hai Koi.



  394. तेरा प्यार भी एक हजार की नोट जैसा है,
  395. डर लगता है कहीं नकली तो नहीं|

  396. आज इतना जहर पिला दो कि सांस तक रुक जाए मेरी,
  397. सुना है कि सांस रुक जाए तो रूठे हुये भी देखने आते है…!
  398. क्यूँ शर्मिंदा करते हो रोज, हाल हमारा पूँछ कर ,
  399. हाल हमारा वही है जो तुमने बना रखा हैं…
  400. उम्र गुजार दी मैने गमो के कारोबार मे ।
  401. खुदा जाने सुकून बिकता कहा है?
  402. सुकून ऐ दिल के लिए कभी हाल तो पूँछ ही लिया करो,
  403. मालूम तो हमें भी है कि हम आपके कुछ नहीं लगते…!
  404. तुम्हारे खयालो में चलते चलते कही फिसल ना जाऊ मैं,
  405. अपनी यादों को रोक, की मेरे शहर में बारिश का मौसम है..
  406. कुछ रीश्ते ‘रब’ बनाता हे कुछ रीश्ते ‘लोग’ बनाते हे
  407. पर कुछ् लोग बीना कीसी रीश्ते के रीश्ते नीभाते हे, शायद वही ‘दोस्त’ कहेलाते हे|
  408. मुहब्बत में यही खौफ क्यों हरदम रहता है…
  409. कही मेरे सिवा किसी और से तो मुहब्बत नहीं उसे…
  410. खुदा का शुक्र है की ख्वाब बना दिये,
  411. वरना तुम्हे देखने की तो हसरत ही रह जाती।
  412. मुझे रुला कर सोना तो तेरी आदत बन गई है,
  413. जिस दिन मेरी आँख ना खुली तुझे निंद से नफरत हो जायेगी|

  414. ==============================
  415. मुझे रुला कर सोना..
  416. तो तेरी आदत बन गई है,
  417. जिस दिन मेरी आँख ना खुली..
  418. तुझे निंद से नफरत हो जायेगी|

  419. Mujhe Rulakar Sona..
  420. To Teri Aadat Ban Gayi Hai,
  421. Jis Din Meri Aankh Na khuli..
  422. Tujhe Neend Se Nafrat Ho Jayegi.


  423. ==============================
  424. देखी जो नब्ज मेरी,
  425. हँस कर बोला वो हकीम,
  426. जा जमा ले महफिल पुराने दोस्तों के साथ..
  427. तेरे हर मर्ज की दवा वही है ..


  428. ==============================
  429. सुना है आज उस की आँखों मे आसु आ गये..!!
  430. वो बच्चो को सिखा रही थी की मोहब्बत ऐसे लिखते है..!!

  431. घायल किया जब अपनो ने, तो गैरो से क्या गिला करना,
  432. उठाये है खंजर जब अपनो ने, तो जिंदगी की तमन्ना क्या करना|
  433. न रूठ जाओ तुम मेरी वफाओं से,
  434. मै खुद मना लूंगा तुम्हे दुआओं से।
  435. हम भी बडे रहीश थे दिल कि दौलत लूटा बैठे,
  436. किस्मत एेसी पलटी ईश्क के धधे मे आ बैठे|
  437. नाकाम थीं मेरी सब कोशिशें उस को मनाने की,
  438. पता नहीं कहां से सीखी जालिम ने अदाएं रूठ जाने की।
  439. हौसला रखो उसे मनाने का,
  440. वो रूठ जाता है इसी बहाने से|
  441. बड़ी मुश्किल से सुलाया है ख़ुद को मैंने..
  442. अपनी आँखों को तेरे ख़्वाब क़ा लालच देकर|
  443. उसने पुछा जिंदगी किसने बरबाद की,
  444. हमने ऊँगली उठाई और अपने ही दिल पर रख ली |
  445. ऐ शेख़ मेरे पीने का अंदाज़ देख,
  446. अक्सर शराब में आंसू मिला के पीता हूँ|
  447. कहीं फिसल ना जाओ ज़रा संभल के रहना,
  448. मौसम बारिश का भी है और मुहब्बत का भी…

  449. ==============================
  450. किसी रोज़ याद न कर पाऊं तो खुदगर्ज़ न समझ लेना दोस्तों,
  451. दरसल छोटी सी इस उम्र में परेशानिया बहुत हैं,
  452. मैं भूला नहीं हूँ किसी को मेरे बहुत अच्छे दोस्त हैं ज़माने में,
  453. बस थोड़ी ज़िन्दगी उलझ पड़ी है दो वक़्त की रोटी कमाने में|

  454. Kisi roj yaad na kar pau to khudgarj na samjh lena,
  455. Darasl choti si iss umar mai presaniya bhut hai,
  456. Main bhoola nhi hu kisi ko mere bahot achhe dost hai zmane me,
  457. Bs thodi zindagi uljhi pdi hai do waqt ki roti kmane me.


  458. ==============================
  459. संगमरमर के महल में तेरी ही तस्वीर सजाऊंगा,
  460. मेरे इस दिल में ऐ प्यार तेरे ही ख्वाब सजाऊंगा,
  461. यूँ एक बार आजमा के देख तेरे दिल में बस जाऊंगा,
  462. मैं तो प्यार का हूँ प्यासा जो तेरे आगोश में मर जाऊॅंगा।

  463. Sangmarmar Ke Mahal Mein Teri Tasveer Sajauga,
  464. Mere Is Dil Mein Ae Pyar Tere Hi Khwab Sajaunga,
  465. Yun Ek Baar Aajma Ke Dekh Tere Dil Mein Bas Jaunga,
  466. Main Toh Pyar Ka Pyala Hun Teri Hi Yaad Mein Mar Jaunga.

  467. ==============================
  468. खुद भी रोता है,
  469. मुझे भी रुला के जाता है,
  470. ये बारिश का मौसम,
  471. उसकी याद दिला के जाता है।


  472. ==============================
  473. बेताब तमन्नाओ की कसक रहने दो!
  474. मंजिल को पाने की कसक रहने दो!
  475. आप चाहे रहो नज़रों से दूर!
  476. पर मेरी आँखों में अपनी एक झलक रहने दो!

  477. Betaab tamannaon ki kasak rehne do,
  478. Manzil ko paane ki lalak rehne do,
  479. Aap bhale raho nazron se dur,
  480. Par band nazron me apni pyari si zhalak rahne do.


  481. ==============================
  482. शाम-ए-महेफिल!
  483. चलो कुछ पुराने दोस्तों के, 👬
  484. दरवाज़े खटखटाते हैं,
  485. देखते हैं उनके पँख थक चुके है,
  486. या अभी भी फड़फड़ाते हैं,
  487. हँसते हैं खिलखिलाकर,
  488. या होंठ बंद कर मुस्कुराते हैं,
  489. वो बता देतें हैं सारी आपबीती,
  490. या सिर्फ सफलताएं सुनाते हैं,
  491. हमारा चेहरा देख वो,
  492. अपनेपन से मुस्कुराते हैं,
  493. या घड़ी की और देखकर,
  494. हमें जाने का वक़्त बताते हैं,
  495. चलो कुछ पुराने दोस्तों के,
  496. दरवाज़े खटखटाते हैं !


  497. ==============================
  498. बोये जाते हैं बेटे.. पर उग जाती हैं बेटियाँ,
  499. खाद पानी बेटों को.. पर लहराती हैं बेटियां,
  500. स्कूल जाते हैं बेटे.. पर पढ़ जाती हैं बेटियां,
  501. मेहनत करते हैं बेटे.. पर अव्वल आती हैं बेटियां,
  502. रुलाते हैं जब खूब बेटे.. तब हंसाती हैं बेटियां,
  503. नाम करें न करें बेटे.. पर नाम कमाती हैं बेटियां,
  504. जब दर्द देते बेटे.. तब मरहम लगाती बेटियां,
  505. छोड़ जाते हैं जब बेटे.. तो काम आती हैं बेटियां,
  506. आशा रहती है बेटों से.. पर पुर्ण करती हैं बेटियां,
  507. हजारों फरमाइश से भरे हैं बेटे.. पर समय की नज़ाकत को समझती बेटियां,
  508. बेटी को चांद जैसा मत बनाओ कि हर कोई घूर घूर कर देखे…
  509. किंतु.. बेटी को सूरज जैसा बनाओ ताकि घूरने से पहले सब की नजर झुक जाये.


  510. ==============================

  511. मोहब्बत एक एहसासों की पावन सी कहानी है,
  512. कभी कबीरा दीवाना था ,कभी मीरा दीवानी है,
  513. यहाँ सब लोग कहते हैं मेरी आँखों में आँसू हैं,
  514. जो तू समझे मोती है जो न समझे तो पानी है|


  515. ==============================
  516. दो कदम तो सब चल लेते हैं पर ,
  517. ज़िन्दगी भर साथ कोई नहीं निभाता ,
  518. अगर रो कर भूल जाती यादें ,
  519. तो हस कर कोई गम न छुपाता .

  520. Do kadam to sab chal lete hain par,
  521. Zindagi bhar saath koi nahi nibhata ,
  522. Agar ro kar bhool jaati yaadein,
  523. To has kar koi gum na chhupaata .


  524. ==============================
  525. कभी कोई अपना अनजान हो जाता है,
  526. कभी किसी अनजान से प्यार हो जाता है,
  527. ये जरुरी नही की जो ख़ुशी दे उसी से प्यार हो,
  528. दिल तोड़ने वालो से भी प्यार हो जाता है|


  529. ==============================
  530. बहुत आसान है जमाने में जनम लेना,
  531. बड़ी मुश्किल है एक उम्र तक जीवन जीना,
  532. हम तो खामोश हैं तेरी ही खामोशी से,
  533. तुमसे ही सीखा है हमने आंसू पीना..


  534. ==============================
  535. आज अचानक तेरी याद ने मुझे रुला दिया,
  536. क्या करू तुमने जो मुझे भुला दिया,
  537. न करती वफ़ा न मिलती ये सजा,
  538. शायद मेरी वफ़ा ने ही तुझे बेवफा बना दिया।

  539. Aaj Achanak Teri Yaad Ne Mujhe Rula Diya,
  540. Kya Karu tumne Jo Mujhe Bhula Diya,
  541. Na Karti Wafa Na Milti Ye Saza,
  542. Shayad Meri Wafao Ne hi tujhe Bewafa bana diya.


  543. ==============================
  544. मंजर भी बेनूर थे और फिजायें भी बेरंग थी…
  545. बस तुम याद आए और मौसम सुहाना हो गया…

  546. फितरत, सोच और हालात में फर्क है…
  547. वरना ,इन्सान कैसा भी हो दिल का बुरा नही होता..
  548. गिरा दे जितना पानी है तेरे पास ऐ बादल.
  549. ये प्यास किसी के मिलने से बुझेगी तेरे बरसने से नही..
  550. तकलीफें तो हज़ारों हैं इस ज़माने में,
  551. बस कोई अपना नजऱ अंदाज़ करे तो बर्दाश्त नहीं होता
  552. तना पानी है तेरे पास ऐ बादल. .
  553. ये प्यास किसी के मिलने से बुझेगी तेरे बरसने से नही..
  554. मंजर भी बेनूर थे और फिजायें भी बेरंग थी…
  555. बस तुम याद आए और मौसम सुहाना हो गया….
  556. आजकल के हर आशिक की अब तो यही कहानी है..
  557. मजनू चाहता है लैला को, लैला किसी और की दीवानी है !!!
  558. मोहब्बत वक़्त के बे-रहम तूफान से नही डरती ,
  559. उससे कहना, बिछड़ने से मोहब्बत तो नही मरती .
  560. जिंदगी के रूप में दो घूंट मिले,
  561. इक तेरे इश्क का पी चुके हैं..दुसरा तेरी जुदाई का पी रहे हैं !!!!
  562. मुस्कुराने की आदत भी कितनी महँगी पड़ी हमे;
  563. छोड़ गया वो ये सोच कर की हम जुदाई मे भी खुश हैं..

  564. ==============================
  565. घुट घुट कर जीना तो
  566. ज़िन्दग़ी नहीं होती,

  567. नफरत से सर झुकाना
  568. बन्दग़ी नहीं होती,

  569. वो ग़ुनाह माफ़ी के
  570. लायक नहीं है,

  571. जिसमें शामिल कोई
  572. शर्मिन्दग़ी नहीं होती ।


  573. ==============================
  574. आज भीगी है पलके किसी की याद में
  575. आकाश भी सिमट गया हैं अपने आप में
  576. ओस की बूँद ऐसी गिरी है ज़मीन पर
  577. मानो चाँद भी रोया हो उनकी याद में.…

  578. Aaj bhigi hai palke kisi ki yaad mein,
  579. Aakash bhi simat gaya hai apne aap mein,
  580. Oas ki boonde aisi giri hai jameen per,
  581. Maano chand bhi roya ho uski yaad mein.


  582. ==============================
  583. Har raahi ko mann chaha mukaam nahi milta,
  584. Jisko jee bhar pyar kar sake wo insaan nahi milta,
  585. Aasma ke sitaron ki tarah hamare armaan bhi bikharte rehte hain,
  586. Jo apne dil mein hamein jagah de sake wo meharbaan nahi milta.


  587. ==============================
  588. एक दर्द है जो दिल से जाता नहीं
  589. यही वजह है कि हमें तेरी याद आती है
  590. लो सुबह आ गई, तू रातभर रुलाती रही
  591. बेखुदी में ही ये रात भी कट जाती है…

  592. सुप्रभात दोस्तों..

  593. ==============================

  594. वफ़ा की तलाश करते रहे हम
  595. बेबफाई में अकेले मरते रहे हम,

  596. नहीं मिला दिल से चाहने वाला
  597. खुद से ही बेबजह डरते रहे हम,

  598. लुटाने को हम सब कुछ लुटा देते
  599. मुहब्बत में उन पर मिटते रहे हम,

  600. खुद दुखी हो कर खुश उन को रखा
  601. तन्हाईयों में सांसे भरते रहे हम,

  602. वो बेवफाई हम से करते ही रहे
  603. दिल से उन पर मरते रहे हम|


  604. ==============================
  605. Talash Uski Karo Jo Kisi Ke Paas Na Ho,
  606. Bhula Do Use Jis Par Bharosa Na Ho,
  607. Hum To Apne Gamo Par Bhi Hass Padte Hain,
  608. Wo Isliye Ki Samne Wala Udas Na Ho.


  609. ==============================
  610. Anjaan ek saathi ka iss dil ko intejar hai,
  611. Pyasa hain ye aankhen aur dil bekarar hai,
  612. Unke saath mil jaye to har raah aasan ho jayegi,
  613. Shayad issi anokahe ehsaas ka naam Pyaar hai….


  614. ==============================
  615. Tadap Kar Dekho Kisi Ki Chahat Mein,
  616. Pata Chalega Ke Intzar Kya Hota Hai,
  617. Agar Yunhi Mil Jata Bina Tadpe Koi Kisi Ko,
  618. To Kaise Pata Chalta Ke Pyar Kya Hota Hai..!!


  619. ==============================
  620. Jise Tum sacche Dil Se Pyar Karo Use
  621. Kabhi Mat Aazmana…!!

  622. Kyo Ki

  623. Agar Woh Gunhegaar Bhi Hua
  624. Toh Dil Tumhara Hi Tutega…!!


  625. ==============================
  626. Uske Hone Ya Naa Hone Se,
  627. Kuch Khaas Fark Nahi Pada,
  628. Dosto
  629. Bas
  630. Kal Jahan Dil Hua Karta Tha,
  631. Aaj Wahan Dard Hota Hai !!


  632. ==============================
  633. आज मौसम कितना खुश गंवार हो गया,
  634. खत्म सभी का इंतज़ार हो गया,
  635. बारिश की बूंदे गिरी कुछ इस तरह से,
  636. लगा जैसे आसमान को ज़मीन से प्यार हो गया|


  637. ==============================
  638. Ek din hum bhi kafan odh jayenge,
  639. Sab rishte is jameen se tod jayenge,
  640. Jitna g caahe satalo yaro,
  641. Ek din rote huye sabko chod jayenge.


  642. ==============================
  643. बादलों से कह दो,
  644. जरा सोच समझ के बरसे,
  645. अगर हमें उसकी याद आ गई,
  646. तो मुकाबला बराबरी का होगा|

  647. Badalon se keh do,
  648. Jara soch samjh kar barse,
  649. Agar mujhe unki yaad aa gayi,
  650. To mukabla barabari ka hoga.


  651. ==============================
  652. टूटे हुए दिल ने भी उसके लिए दुआ मांगी,
  653. मेरी साँसों ने हर पल उसकी ख़ुशी मांगी..
  654. न जाने कैसी दिल्लगी थी उस बेवफा से,
  655. के मैंने आखिरी ख्वाहिश में भी उसकी वफ़ा मांगी….

No comments:

Post a Comment