Happy Shivratri 2017 Wishes in Hindi SMS 2017


  1. मै सत् चित् आनंद हूँ
  2. हर प्राणी के भीतर रह कर समय को गति प्रदान करता हूँ
  3. मै कल्याणकारी शिव हूँ
  4. हर प्राणी के मन से मोह का परित्याग कर उसे ज्ञान
  5. का मार्ग दिखाता हूँ
  6. मै तोह सिर्फ भाव का भूखा हूँ
  7. ना सम्मान का मोह
  8. ना अपमान का भय
  9. मै कल्याणकारी शिव हूँ मै सदा शिव हूँ.

  10. ***********************************

  11. आप ही इस पार जग के आप ही उस पार हो
  12. हे दया मयी शिव आप ही संसार के आधार हो
  13. जन्मदाता आप ही शिव मातपिता भगवान हो सर्व
  14. सुख दाता सदा भ्राता हो तन धन प्राण हो
  15. हे दया मयी शिव आप ही संसार के आधार हो.

  16. ***********************************

  17. उग्रायोग्रास्वरूपाय यजमानात्मने नमः|
  18. महाशिवाय सोमाय नमस्त्वमृत मूर्तये||
  19. हे उग्ररूपधारी यजमान सदृश आपको नमस्कार है| सोमरूप
  20. अमृतमूर्ति हे महादेव! आपको नमस्कार है|

  21. ***********************************

  22. ⇙⇙महाकाल,रुद्रमाल,काल,कपाल,नन्दी,भाल…
  23. सिर में गंगधार,
  24. गले में मुण्डमाल,
  25. कटि में मृगछाल,
  26. चरणों में प्रयाग,
  27. हिमालय है जिनका वास…
  28. ऐसे हैं भोलेनाथ!!!
  29. इनके श्री चरणों में,
  30. बारम्बार प्रणाम⇙⇙⇙

  31. ***********************************


  32.  
  33. ⇗⇗⇗जल चढ़ाओ और जो चाहे मांग लो
  34. सावन मास में आशुतोष भगवान शंकर की पूजा का विशेष महत्व है.
  35. सोमवार शंकर जी का प्रिय दिन है.
  36. इसलिए श्रावण सोमवार का महत्व और भी बढ़ जाता है.
  37. इस महीने प्रत्येक सोमवार भगवान शिव का व्रत करने से
  38. मनोकामनाएं पूर्ण हो जाती हैं.
  39. इस मास में लघुरुद्र, महारुद्र अथवा अतिरुद्र पाठ करके
  40. प्रत्येक सोमवार को शिवजी का व्रत करना चाहिए⇙⇙⇙

  41. ***********************************

  42. ⇙⇙ॐ मृत्युंजयाय रुद्राय नीलकण्ठाय शम्भवे l
  43. अमृतेशाय शर्वाय महादेवाय ते नम⇘⇘⇘

  44. ***********************************

  45. नमस्तेस्तु भगवन् l
  46. विश्वेश्वराय महादेवाय l
  47. त्रैय्मबकाय त्रिपुरान्तकाय l
  48. त्रिकाग्नि कालाय l
  49. कालाग्नि रुद्राय नीलकण्ठाय मृत्युंजयाय l
  50. सर्वेश्वराय सदाशिवाय श्रीमान महादेवाय नमः ll

  51. ***********************************

  52. पूरब से जब सूरज निकले सिन्दूरी घन छाए
  53. पवन के पग में नुपुर बांधे, मयूर मन मेरा गाए
  54. ॐ नाम शिवाय, ॐ नमः शिवाय, ॐ नमः शिवाय

  55. ***********************************

  56. ⇙⇙हर हर महादेव…….
  57. ॐ नमः शिवाय……
  58. कर्पूरगौरम् करुणावतारम् |
  59. संसारसारम् भुजगेन्द्रहारम् ||
  60. सदा वसन्तम् हृदयारविन्दे |
  61. भवम् भवानि सहितम् नमामि⇛⇛⇛

  62. ***********************************

  63. ⍇⍇शिव शंकर का गुणगान करो,
  64. शिव भक्ति का रसपान करो।
  65. जीवन ज्योतिर्मय हो जाए,
  66. जो तिर्लिंगो का धयान करो॥
  67. उसने ही जगत बनाया है,
  68. कण कण में वोही समाया है।
  69. दुःख भी सुख सा ही बीतेगा,
  70. सर पे जब शिव का साया है ।
  71. बोलो हरि हरि हरि महादेव,
  72. हर मुश्किल को आसान करो ॥
  73. शंकर तो हैं अन्तर्यामी,
  74. भक्तो के लिए सखा से हैं ।
  75. भगवान् भाव के भूखे हैं,
  76. भगवान् प्रेम के प्यासे हैं ।
  77. मन के मंदिर में इसी लिए शिव मंदिर
  78. का निर्माण करो ॥
  79. । ॐ नमः शिवाय⍆⍆⍆⍆⍆

No comments:

Post a Comment