Hindi Shayari हिंदी शायरी 2016


  1. जिंदगी दिन प्रतिदिन मजदूर हुई जा रही है,
  2. और लोग 'इंजीनियर साहब' कहके ताने दिए जा रहे हैं।
  3. =======================================
  4. मच्छर ने आपको काटा ये उसका जुनून था,
  5. मच्छर ने आपको काटा ये उसका जुनून था,
  6. फिर आपने वहाँ खुजाया ये आपका सुकून था,
  7. चाह कर भी आप उसे मार नहीं पाये,
  8. ग़ौर फ़रमाइये हुज़ूर चाह कर भी आप उसे मार नहीं पाये,
  9. क्योंकि उसकी रगों में आप ही का ख़ून था।
  10. =======================================
  11. अर्ज़ किया है चुप-चाप चल रहा था मैं मंज़िल की ओर,
  12. फिर ठेके पर नज़र पड़ी और हम गुमराह हो गए।
  13. =======================================
  14. प्यारा सा चेहरा, मीठी सी आवाज़;
  15. मासूम सा दिल, स्वीट सी मुस्कान;
  16. परफेक्ट पेर्सोनलिटी, खुसमिजाज अंदाज़;
  17. ये तो हुई मेरी बात... और बताओ कैसे हो आप?
  18. =======================================
  19. अर्ज़ किया है:
  20. वो कहती अपने भाइयों से, मेरे आशिक़ को यूँ ना पीटो;
  21. ज़रा गौर फरमाइये:
  22. वो कहती अपने भाइयों से, मेरे आशिक़ को यूँ ना पीटो;
  23. बड़ा ज़िद्दी है ये कमीना, पहले कुत्ते की तरह घसीटो।
  24. =======================================
  25. क्या बताए ग़ालिब वो गुस्से में भी हम पे रहम कर गई;
  26. लगाया कस के चांटा और सर्दी में गाल गरम कर गई।
  27. =======================================
  28. मेरे इश्क की बोलिंग ने उसके दिल की विकेट बहुत उम्दा तरीके से गिराई;
  29. तकदीर ऐसी हमारी, अंपायर उसका बाप निकला, जिसने ऊँगली नहीं उठाई!
  30. =======================================
  31. धन से बेशक गरीब रहो पर दिल से रहना धनवान;
  32. अक्सर झोपडी पे लिखा होता है सुस्वागतम;
  33. और महल वाले लिखते है कुत्ते से सावधान।
  34. =======================================
  35. हज़ारों ख्वाहिशें ऐसी, कि हर ख्वाहिश पे Rum निकले;
  36. जी भर के कभी ना पी पाया, क्योंकि जेब में पैसे कम निकले।
  37. =======================================
  38. जब तुम अंगडाई लेते हो, हमारा दम निकल जाता है;
  39. ऐ ज़ालिम, ये बता नहाने में तुम्हारा क्या जाता है।


  40. =======================================
  41. तेरे ग़म में तड़प कर मर जायेंगे;
  42. मर गए तो तेरा नाम ले जायेंगे;
  43. रिश्वत देकर तुझे भी बुलायेंगे;
  44. तुम ऊपर आओगे तो साथ बैठकर कुरकुरे खायेंगे।
  45. =======================================
  46. हीर रो-रो कर रांझे से कह रही है;
  47. हीर रो-रो कर रांझे से कह रही है;
  48. हाथ छोड़ कमीने मेरी नाक बह रही है।
  49. =======================================
  50. न वफ़ा का ज़िक्र होगा;
  51. न वफ़ा की बात होगी;
  52. अब मोहब्बत जिस से भी होगी;
  53. राखी के बाद होगी।
  54. =======================================
  55. हमारे ऐतबार की हद ना पूछ ग़ालिब;
  56. उसने दिन को रात कहा और हमने पैग बना लिया।
  57. =======================================
  58. तुम्हारी अदाओं पे मैं वारी-वारी;
  59. तुम्हारी अदाओं पे मैं वारी-वारी;
  60. क्या उधर लाइट आ री?
  61. इधर तो आ री - जा री, आ री - जा री!
  62. =======================================
  63. ऐ दोस्त बांध ले कफन मे व्हिस्की की बोतल, कब्र मेँ बैठकर पिया करेगे;
  64. इन लङकियो से तो मिली बेवफाई, अब चुड़ैलों से सेटिंग किया करेंगे!
  65. =======================================
  66. अर्ज़ किया है:
  67. मेरे इश्क के बालिंग ने उसके दिल का विकेट गिरा दिया;
  68. पर तक़दीर तो देखो, उसका बाप अंपायर निकला;
  69. .
  70. .
  71. .
  72. मेरी बाल को "नो बाल" देकर फ्री हिट कर दिया!
  73. =======================================
  74. जो तुमको हो पसंद वही बात कहेंगे;
  75. गौर फरमाइये:
  76. ​जो तुमको हो पसंद वही बात कहेंगे;
  77. ​क्योंकि हम पागलों से बहस नहीं करते।
  78. =======================================
  79. ​फ़िज़ाओं के बदलने का इंतजार मत कर;
  80. आँधियों के रुकने का इंतजार मत कर;
  81. ​पकड़ किसी को और फरार हो जा;
  82. ​पापा की पसंद का इंतजार मत कर।
  83. =======================================
  84. तुम्हे जब देखा हमने तो यह ख्याल आया;
  85. बड़ी जल्दी में रब था जब तुमको बनाया;
  86. तुम्हे जब देखा रब ने तो वो भी घबराया;
  87. बनाना क्या था मुझको है मैंने क्या बनाया। ​

  88. =======================================

  89. ​मेरे दोस्त तुम भी लिखा करो शायरी;​
  90. तुम्हारा भी मेरी तरह नाम हो जाएगा;​
  91. जब तुम पर भी पड़ेंगे अंडे और टमाटर;​​
  92. ​तो शाम की सब्जी का इंतज़ाम हो जाएगा।
  93. =======================================
  94. ​ना वक्त इतना हैं कि सिलेबस पूरा किया जाए​;​
  95. ना तरकीब कोई की एग्जाम पास किया जाए​;​
  96. ना जाने कौन सा दर्द दिया है इस पढ़ाई ने​;​
  97. ना रोया जाय और ना सोया जाए​।
  98. =======================================
  99. धोखा मिला जब प्यार में;​
  100. जिंदगी में उदासी सी छा गई;​​
  101. सोचा था छोड़ देंगे इस राह को;​
  102. कम्भख्त मोहल्ले में दूसरी आ गई।
  103. =======================================
  104. रिश्वत भी नहीं लेता कम्बखत जान छोड़ने की;
  105. यह तेरा इश्क़ भी मुझे केजरीवाल लगता है!
  106. =======================================
  107. किस किस का नाम लें, अपनी बरबादी मेँ;
  108. बहुत लोग आये थे दुआयेँ देने शादी मेँ!
  109. =======================================
  110. वो मंदिर भी जाता है और मस्जिद भी:
  111. परेशान पति का, कोई मज़हब नहीं होता।
  112. =======================================
  113. वो ज़हर देकर मारते तो दुनिया की नज़र में आ जाते;
  114. अंदाजे कत्ल तो देखो मोहब्बत करके हमसे शादी ही कर ली।
  115. =======================================
  116. मोहब्बत का सफर लंबा हुआ​;​
  117. ​​तो क्या हुआ, थोड़ा तुम चलो​;
  118. ​थोड़ा हम चले, थोड़ा तुम चलो;​
  119. ​थोड़ा हम चले, फिर रिक्शा कर लेंगे।
  120. =======================================
  121. कितना शरीफ शख्श है;
  122. पत्नी पे फ़िदा है;
  123. उस पे ये कमाल है कि;
  124. अपनी पे फ़िदा है।
  125. =======================================
  126. उम्र की राह में जज्बात बदल जाते है;
  127. वक़्त की आंधी में हालात बदल जाते है;
  128. सोचता हूँ कि काम कर-कर के रिकॉर्ड तोड़ दूँ;
  129. पर ऑफिस आते आते ख़यालात बदल जाते है।


  130. =======================================


  131. चेतावनी
  132. अगर आपको कोई अनजान पार्सल मिले;
  133. तो उसे ना खोलें उसमें मेरी फोटो हो सकती है;
  134. और आपकी ज़रा सी लपरवाही आपको;
  135. मेरा दीवाना बना सकती है।
  136. =======================================
  137. कोई तो बुक ऐसी मिलती जिस पे दिल लुटा देते;
  138. हर सब्जेक्ट ने दिमाग़ खाया किसी एक को निपटा देते;
  139. अब सेलेबस देख कर ये सोचते हैं कि;
  140. एक महीना ओर होता तो दुनिया हिला देते।
  141. =======================================
  142. पानी में विस्की मिलाओ तो नशा चढ़ता है;
  143. पानी में रम मिलाओ तो नशा चढ़ता है;
  144. पानी में ब्रेंड़ी मिलाओ तो नशा चढ़ता है;
  145. साला पानी में ही कुछ गड़बड़ है।
  146. =======================================
  147. दिल दो किसी एक को;
  148. वो भी किसी नेक को;
  149. जब तक मिल ना जाए कोई;
  150. ट्राई करते रहो हर एक को।
  151. =======================================
  152. बहुत खूबसूरत हो तुम;
  153. खुद को दुनिया की बुरी नज़रों से बचाया करो;
  154. सिर्फ आँखों में काजल ही काफी नहीं;
  155. गले में नींबू, मिर्च और चप्पल भी लटकाया करो।
  156. =======================================
  157. अर्ज किया है,
  158. ए सुनामी जरुरत नहीं तेरी इन;
  159. खौफ़नाक लहरों की;
  160. जिंदगी में खौफ़ लाने के लिए;
  161. तो घरवाली ही काफी है।
  162. =======================================
  163. अर्ज़ किया है..
  164. लड़की रो रो के लड़के से कह रही है..
  165. वाह! वाह!!
  166. लड़की रो रो के लड़के से कह रही है..
  167. हाथ छोड़ दे कमीने नाक बह रही है।
  168. =======================================
  169. एक शराबी की दास्तां...

  170. सोच रहा हूँ दारू छोड़ दूं;
  171. पर, किसके सहारे छोडू?
  172. सभी कमीने है साले, पी जायंगे।
  173. =======================================
  174. कोई आँखों से बात कर लेता है;
  175. कोई आँखों में बात कर लेता है;
  176. बडा मुश्किल होता हैं जवाब देना यारों;
  177. जब कोई इंग्लिश में बात कर लेता है।
  178. =======================================
  179. हवा का झोंका आया;
  180. तेरी खुसबू साथ लाया;
  181. मैं समझ गई कि तू आज फिर नहीं नहाया।

  182. =======================================

  183. बारिश का मौसम बहुत तडपता है;
  184. उनकी याद हैं जिन्हें दिल चाहता है;
  185. लेकिन वो आए भी तो कैसे;
  186. ना उनके पास रैन कोट है और ना छाता है।
  187. =======================================
  188. पानी आने की बात करते हो;
  189. दिल जलाने की बात करते हो;
  190. चार दिन से मुंह नहीं धोया;
  191. तुम नहाने की बात करते हो।
  192. =======================================
  193. वो कहती थी कि मैं तुम्हारी जिन्दगी को जन्नत;
  194. बना दूंगी, बनानी तो उसे मैगी भी नहीं आती थी;
  195. लेकिन मैडम का आत्मविश्वास तो देखो।
  196. =======================================
  197. वो मेरी किस्मत मेरी तक़दीर हो गई;
  198. हमने उनकी याद में इतने ख़त लिखे कि;
  199. वो रद्दी बेचकर अमीर हो गई।
  200. =======================================
  201. आँखों से आँसू छलक पड़े बेरोजगारी के उस;
  202. अहसास पे ग़ालिब जब घर वाली ने कहा;
  203. "ए जी खाली बैठे हो तो ये मटर ही छील दो"।
  204. =======================================
  205. मैंने चाहा तुझे अबला समझ कर;
  206. मैंने चाहा तुझे अबला समझ कर;
  207. तेरे बाप ने पीट दिया मुझे तबला समझ कर।
  208. =======================================
  209. ख़त लिखता हूँ खून से स्याही ना समझना;
  210. किसी मरीज़ का सैंपल आया था मेरा न समझना!
  211. =======================================
  212. हम दुआ करते हैं खुदा से;
  213. कि वो आप जैसा दोस्त और ना बनाए;
  214. एक कार्टून जैसी चीज़ जो हमारे पास है;
  215. कहीं वो भी कॉमन ना हो जाए!
  216. =======================================
  217. जब तू होती थी मेरी ज़िन्दगी में तो तेरे मेरे इश्क के चर्चे बहुत थे;
  218. अच्छा ही हुआ ज़िन्दगी से चली गयी तू क्योंकि तेरे खर्चे ही बहुत थे!
  219. =======================================
  220. प्यार का गीत गायेंगे हम;
  221. तुझसे मोहब्बत निभायेंगे हम;
  222. जो तूने कबूल कर लिया प्यार मेरा तो ठीक;
  223. वरना किसी और हसीना को पटायेंगे हम!


  224. =======================================

  225. तेरे बारे में सोचा तो मुझे एक ख्याल आया;
  226. तुझे मैंने दोस्त बना के ज़िन्दगी में क्या पाया;
  227. बाकी बातों को तो तू मार गोली;
  228. पहले ये बता तूने पड़ोस वाली आइटम को कैसे पटाया!
  229. =======================================
  230. नींद आती है तो एक ख्वाब आता है;
  231. ख्वाब में इक लड़की आती है, और पीछे उसका बाप आता है;
  232. फिर क्या, फिर ना नींद आती है ना ख्वाब आता है!
  233. =======================================
  234. आज तुम पे आंसुओं की बरसात होगी;
  235. फिर वही कड़कती रात होगी;
  236. SMS ना करके तूने दिल दुखाया है मेरा;
  237. जा तेरे बदन में खुजली सारी रात होगी!
  238. =======================================
  239. सितम ढाने की हद होती है;
  240. पास ना आने की रूठ जाने की हद होती है;
  241. एक SMS तो कर दे जालिम;
  242. पैसे बचाने की भी हद होती है!
  243. =======================================
  244. तेरी गलतियों को माफ़ कौन करता;
  245. मैं ना रहता तो तुझसे इन्साफ कौन करता;
  246. शुक्र है खुदा ने सलामत रखा मेरे दोस्त को;
  247. वरना मेरी शादी में जूठी प्लेटें साफ़ कौन करता!
  248. =======================================
  249. चूल्हे पे रखा तवा गर्म है;
  250. वाह-वाह;
  251. चूल्हे पे रखा तवा गर्म है;
  252. आज कल की लड़कियों से ज़्यादा तो लड़कों में शर्म है!
  253. =======================================
  254. कर्ज़ा देता मित्र को, वह मूर्ख कहलाए;
  255. महामूर्ख वह यार है, जो पैसे लौटाए!
  256. =======================================
  257. क्या सुनाएँ हम आपको दास्ताँ-ए-गम;
  258. अर्ज किया है;
  259. क्या सुनाएँ हम आपको दास्ताँ-ए-गम;
  260. जब से आप मिले हो परेशान हो गए हैं हम!
  261. =======================================
  262. खुदा के घर से कुछ गधे फरार हो गए;
  263. कुछ तो पकडे गए, और कुछ हमारे यार हो गए!
  264. =======================================
  265. लिखना पढ़ना छोड़ दे बन्दे नेकियों पर रख आस;
  266. चादर उठा और आराम से सो जा भगवान् करेंगे पास!


  267. =======================================

  268. मैं अपने घर गया वो अपने घर गयी;
  269. फिर मुझको क्या खबर कि वहां से वो किधर गयी!
  270. =======================================
  271. क्या हुआ जो उसने रचा ली मेहँदी;
  272. हम भी अब सेहरा सजायेंगे;
  273. तो क्या हुआ अगर वो हमारे नसीब में नहीं;
  274. अब हम उसकी छोटी बहन पटायेंगे!
  275. =======================================
  276. शायर हूँ शायरी अर्ज़ करता हूँ जो इतनी भी नहीं है बुरी;
  277. शायर हूँ शायरी अर्ज़ करता हूँ जो इतनी भी नहीं है बुरी;
  278. चुपचाप सुन लो नहीं तो जान से हाथ धो बैठोगे;
  279. क्योंकि मेरे पास है छुरी!
  280. =======================================
  281. मोहब्बत करने वालों को इनकार अच्छा नहीं लगता;
  282. इस दुनिया के बाशिंदों को इकरार अच्छा नहीं लगता;
  283. जब तक लड़का भगा नहीं ले जाए लड़की को;
  284. तब तक लोगों को प्यार सच्चा नहीं लगता!
  285. =======================================
  286. मुस्कुरा कर लडको को पागल बनाना तो हसीनो की इक अदा है;
  287. अर्ज़ किया है; 
  288. मुस्कुरा कर लडको को पागल बनाना तो हसीनो की इक अदा है;
  289. और जो कमबख्त उसे मोहब्बत समझे वो सबसे बड़ा गधा है!
  290. =======================================
  291. पी लेंगे तुम्हारा हर एक आंसू;
  292. कभी अपनी महफ़िल में बैठाकर तो देखो;
  293. भाभी कहोगे तुम अपनी गर्लफ्रेंड को;
  294. कभी हमसे मिलाकर तो देखो!
  295. =======================================
  296. मत छीनों बच्चों से मोबाइल;
  297. ये अकेले रहने से बहुत डरते हैं;
  298. ले लो एग्जाम भी SMS पर ही, क्योंकि;
  299. यही है जो वो मन लगाकर करते है!
  300. =======================================
  301. हमेशा ज़िन्दगी में मुस्कुराते रहो;
  302. हर इंसान को अपना बनाते रहो;
  303. जब तक कोई कार वाली ना बने तुम्हारी गर्लफ्रेंड;
  304. तब तक स्कूटर वाली से ही काम चलाते रहो!
  305. =======================================
  306. हम भी जान-ए-मन तेरे लिए ताजमहल बनायेंगे;
  307. अर्ज़ किया है;
  308. हम भी जान-ए-मन तेरे लिए ताजमहल बनायेंगे;
  309. एक कप सुबह पिलायेंगे और एक कप शाम को पिलायेंगे!
  310. =======================================
  311. ना जाने कब कोई अपना रूठ जाए;
  312. ना जाने कब कोई अश्क आँखों से छूट जाए;
  313. कुछ पल हमारे साथ भी मुस्कुरा लिया करो ए दोस्त;
  314. न जाने कब तुम्हारे दांत टूट जाएँ!

  315. =======================================


  316. तुम्हारा साया बन कर ता उम्र तुम्हारा साथ निभायेंगे;
  317. हर एक कदम तुम्हारी राहों को फूलों से सजायेंगे;
  318. अगर मौत ने जुदा कर भी दिया ए दोस्त हमें तुमसे;
  319. तो तुम्हारी खिड़की के सामने वाले पेड़ पर;
  320. प्रेत बन कर उलटे लटक जायेंगे!
  321. =======================================
  322. मुस्कुराना तो हर खूबसूरत लड़की की अदा है;
  323. और जो उसे प्यार समझे। वो सबसे बड़ा गधा है।
  324. =======================================
  325. दोस्ती को बड़े प्यार से निभाएंगे;
  326. कोशिश रहेगी तुझे न सतायेंगे;
  327. कभी पसंद न आये मेरा साथ तो बता देना;
  328. गिन भी न पाओगे इतने "थप्पड़" लगाएंगे!
  329. =======================================
  330. जब जब घिरे बादल तेरी याद आई;
  331. जब झूम के बरसा बादल तेरी याद आई;
  332. जब-जब मैं भीगा तेरी याद आई;
  333. अब रहा नहीं जाता, छतरी लौटा दे भाई!
  334. =======================================
  335. आरजू में तेरी दीवाने हो गए;
  336. तुझ से दोस्ती करते करते औरों से बेगाने हो गए;
  337. कर दे कोई तो SMS इस नाचीज़ को;
  338. तेरे भी बकवास SMS पढ़े ज़माने हो गए!
  339. =======================================
  340. रंगों से भरी शाम हो आपकी;
  341. चाँद सितारों से ज्यादा शान हो आपकी;
  342. इस ज़िन्दगी में बस एक ही आरजू है हमारी;
  343. कि बंदर से ऊँची छलांग हो आपकी!
  344. =======================================
  345. ऐसी वाणी बोलिये कि सब से झगडा होए;
  346. ऐसी वाणी बोलिये कि सब से झगडा होए;
  347. पर उस से झगडा ना करें जो आप से तगड़ा होए!
  348. =======================================
  349. हंसी के लिए गम कुर्बान;
  350. ख़ुशी के लिए आंसू कुर्बान;
  351. दोस्त के लिए जान भी कुर्बान;
  352. और
  353. अगर दोस्त की गर्लफ्रेंड मिल जाए तो;
  354. साला दोस्त भी कुर्बान।
  355. =======================================
  356. मेरे दिल की दुआएं लेती जा;
  357. जा तुझको सुखी संसार मिले;
  358. मायके याद ना आये तुझे;
  359. ससुराल में इतनी मार मिले!
  360. =======================================
  361. आशिक पागल हो जाते हैं प्यार में;
  362. बाकी कसर पूरी हो जाती है इंतज़ार में;
  363. मगर ये दिलरुबा नहीं समझती;
  364. वो तो पानी-पूरी खाती फिरती है बाजार में!


  365. =======================================

  366. ए खुदा ग़म न देना मेरे दोस्त को चाहे मुझे ग़मों का संसार दे दे;
  367. घूमें नयी साइकिल पर यार मेरा;
  368. मुझे चाहे पुरानी मर्सिडीज़ कार दे दे!
  369. =======================================
  370. हसीनों के चेहरे पर हर लम्हा हर वक्त हंसी होती है;
  371. हसीनों के चेहरे पर हर लम्हा हर वक्त हंसी होती है;
  372. कमबख्त हमारा दिल भी ऐसी ही हसीना पर आता है;
  373. जो पहले ही किसी कमबख्त से फंसी होती है!
  374. =======================================
  375. जुल्फों में फूलों को सजा के आयी;
  376. चेहरे से दुपट्टा उठा के आयी;
  377. किसी ने पूछा आज बड़ी खुबसूरत लग रही है;
  378. हमने कहा शायद आज नहा के आयी!
  379. =======================================
  380. खुशबु ने फूल को ख़ास बनाया;
  381. फूल ने माली को ख़ास बनाया;
  382. चाहत ने मोहब्बत को ख़ास बनाया;
  383. और कमबख्त मोहब्बत ने कितनो को देवदास बनाया!
  384. =======================================
  385. वो आज भी हमें देख कर मुस्कुराते हैं;
  386. वो आज भी हमें देख कर मुस्कुराते हैं;
  387. ये तो उनके बच्चे ही कम्बख्त हैं;
  388. जो हमें मामा-मामा बुलाते है!
  389. =======================================
  390. उन्होंने देखा हमें तिरछी नज़र से तो हम मदहोश हो गए;
  391. जब पता चला कि उनके नैन ही तिरछे हैं तो हम बेहोश हो गए!
  392. =======================================
  393. इश्क को दर्द-ए-सर कहने वाले सुन;
  394. हमने भी ये दर्द अपने सर ले लिया;
  395. हमारी निगाहों से बचकर वो कहा जायेंगे;
  396. क्योंकि अब हमने उनके मोहल्ले में ही घर ले लिया!
  397. =======================================
  398. खुदा करे कि तुझे खुशियों का संसार मिले;
  399. हर पल तुझे खुशियाँ हज़ार मिलें;
  400. रब्ब करे तेरी गर्लफ्रेंड तुझे राखी बांध जाए;
  401. और तुझे एक और बहन का प्यार मिले!
  402. =======================================
  403. निगाहें आज भी उस शख्स को शिद्दत से तलाश करती हैं;
  404. जिसने कहा था, "बस दसवी कर लो, आगे पढ़ाई आसान है"!
  405. =======================================
  406. ज़िन्दगी लम्बी है दोस्त बनाते रहो;
  407. दिल मिले नी मिले हाथ मिलाते रहो;
  408. ताज महल बनाना तो बहुत महंगा पडेगा; 
  409. इसीलिए हर गली में मुमताज़ बनाते रहो!

  410. =======================================


  411. मुड़-मुड़ कर ना देख मुझे यूँ हँसते-हँसते;
  412. अर्ज़ किया है;
  413. मुड़-मुड़ कर ना देख मुझे यूँ हँसते-हँसते;
  414. कहीं ऐसा ना हो मेरे दोस्त तुझे कह दें भाभी जी नमस्ते!
  415. =======================================
  416. इश्क का बुखार कुछ इस कदर चढ़ा था हमारे ज़हन पर;
  417. कि मम्मी की चप्पल खा कर ही दिमाग को चैन आया!
  418. =======================================
  419. तेरी ज़िन्दगी में कभी गम ना आये;
  420. तेरी आँखे कभी नम ना हों;
  421. मेरी दुआ है उस खुदे से तुझे मिले एक खुबसूरत सा हमसफ़र;
  422. जिसका वज़न 150 किलो से कम ना हो!
  423. =======================================
  424. हम दुआ करेंगे उस खुदा से कि खुशियों से भर दे वो आपकी झोली;
  425. हम दुआ करेंगे उस खुदा से कि खुशियों से भर दे वो आपकी झोली;
  426. दया कोई भी इनमे से अगर होशियारी दिखाए तो मार देना उसे गोली!
  427. =======================================
  428. खुश रहे तू सदा यह दुआ है मेरी;
  429. तेरी प्रेमिका ही बन जाए भाभी तेरी।
  430. =======================================
  431. ना कर इश्क मेरे यार यह लडकियां बहुत सताती हैं;
  432. ना करना इन पर ऐतबार ये खर्चा बहुत कराती हैं;
  433. कभी खुली आँख से इनकी बेवफाई की हद देखो;
  434. रिचार्ज तुम कराते हो और नंबर मेरा लगाती हैं!
  435. =======================================
  436. आपकी बातों पे दिल हारूं;
  437. आपकी सूरत पे जान वारूं;
  438. जिस नहीं आता आपका कोई सन्देश;
  439. दिल करता है आपके गाल पर दो तमाचे मारूं!
  440. =======================================
  441. लाइलाज थे हम, इलाज़ किसी डॉक्टर के पास न था;
  442. इश्क का रोग था ए दोस्त;
  443. माँ की चप्पल से ही आराम आ गया!
  444. =======================================
  445. तुझसे कैसे नज़र मिलाएं दिलबर जानी;
  446. तुझसे कैसे नज़र मिलाएं दिलबर जानी;
  447. तेरी दायीं आँख काणी;
  448. मेरी बायीं आँख काणी!
  449. =======================================
  450. ताजमहल को देख कर बोला शाहजहाँ का पोता;
  451. ताजमहल को देख कर बोला शाहजहाँ का पोता;
  452. आज अपना भी मोटा बैंक बैलेंस होता;
  453. अगर हमारा दादा आशिक ना होता!

  454. =======================================


  455. ये मामला भी कैसा अजीब है;
  456. तू दूर होकर भी मेरे करीब है;
  457. ख्वाहिश मिटा तू अपने दिल से उसे पाने की;
  458. क्योंकि जो लड़का तुझे पसंद है वो खानदानी गरीब है!
  459. =======================================
  460. दोस्त रूठे तो रब रूठे, फिर रूठे तो जग छूटे;
  461. अगर फिर रूठे तो दिल टूटे, और अगर फिर रूठे?
  462. तो निकाल डंडा;
  463. मार साले को जब तक डंडा न टूटे!
  464. =======================================
  465. हर तरफ पढाई का साया है;
  466. किताबों मैं सुकून किसने पाया है;
  467. लड़के तो जाते हैं ट्यूशन में लडकियां देखने;
  468. और मास्टर कहता है देखो बेचारा इतनी बरसात में भी पढने आया है!
  469. =======================================
  470. मोहब्बत सिर्फ खर्चों की बड़ी लंबी कहानी है;
  471. कभी फिल्म दिखानी है, कभी शॉपिंग करानी है;
  472. मास्टर रोज कहता है कहाँ हैं फीस के पैसे?
  473. उसे समझाऊं मैं कैसे, मुझे छोरी (लड़की) पटानी है!
  474. =======================================
  475. इश्क को दर्द-ए-सर कहने वाले सुने;
  476. हमने भी ये दर्द अपने सर ले लिया;
  477. हमारी निगाहों से बचकर वो कहा जायेंगे;
  478. हमने तो उनके मोहल्ले में ही घर ले लिया!
  479. =======================================
  480. ना लिया कर इश्क के इम्तिहान इतने जान मेरी;
  481. तेरे इश्क के इम्तिहान देते वक्त अक्सर मेरा दिल कुछ उदास होता;
  482. न कसूर मेरा है ना तेरे उन सवालों का;
  483. बस परेशानी है तो इतनी कि तेरा पप्पू हमेशा ग्रेस मार्क्स से पास होता है!
  484. =======================================
  485. तन्हाई में सताती है उसकी याद ऐसे, चले आते हैं आँखों में आंसू जैसे;
  486. मेरा हुक्म है ये तुम्हे दया कि पता लगाओ मुन्नी बदनाम हुई तो हुई कैसे!
  487. =======================================
  488. जब देखा उन्होंने तिरछी नज़र से;
  489. कसम खुदा की मदहोश हो गए हम;
  490. पर जब पता चला कि नज़र स्थायी तिरछी है;
  491. तो वहीँ खड़े-खड़े बेहोश हो गए हम।
  492. =======================================
  493. जब कोई ज़िन्दगी में बहुत ख़ास बन जाए;
  494. उसके बारे में सोचना ही उसका एहसास बन जाए;
  495. तो मांग लेना खुदा से उसे जिंदगी भर के लिए;
  496. इससे पहले की उसकी माँ किसी और की सास बन जाए!
  497. =======================================
  498. चाँद से रोशनी ज्यादा और सितारों से कम निकले;
  499. वाह वाह!
  500. चाँद से रोशनी ज्यादा और सितारों से कम निकले;
  501. जब भी मैं तुझे देखूं मेरी हंसी एक दम निकले।


  502. =======================================
  503. उसके प्यार में उम्र भर इंतज़ार किया;
  504. उसके प्यार में उम्र भर इंतज़ार किया;
  505. और उस इंतज़ार में जाने कितनों से प्यार किया।
  506. =======================================
  507. इश्क में ये अनजाम पाया है;
  508. हाथ पैर टूटे, मुंह से खून आया है;
  509. हॉस्पिटल पहुचा तो नर्स ने फ़रमाया;
  510. बहारों फूल बरसाओ, किसी का महबूब आया है।
  511. =======================================
  512. हम दिलफेक आशिक़ हर काम में कमाल कर दे;
  513. जो वादा करे वो पूरा हर हाल में कर दे;
  514. क्या जरुरत है जानू को लिपस्टिक लगाने की;
  515. हम चूम-चूम के ही होंठ लाल कर दें।
  516. =======================================
  517. लोग इश्क करते हैं बड़े शोर के साथ;
  518. हमने भी किया बड़े जोर के साथ;
  519. लेकिन अब करेंगे थोड़ा गौर के साथ;
  520. क्योंकि कल उसे देखा है किसी और के साथ।
  521. =======================================
  522. चप्पल छोटी हो जाए तो पाँव में नहीं आती;
  523. वाह वाह!
  524. चप्पल छोटी हो जाए तो पाँव में नहीं आती;
  525. और गर्लफ्रेंड मोटी हो जाए तो बाहों में नहीं आती।
  526. =======================================
  527. यहाँ खुदा है, वहां खुदा है, जहाँ देखो खुदा ही खुदा है;
  528. और
  529. जहाँ नहीं खुदा है, वहां कल खुदेगा।
  530. =======================================
  531. कभी हौसला भी आजमा लेना चाहिए;
  532. बुरे वक़्त में मुस्कुरा लेना चाहिए;
  533. अगर सांतवे दिन भी खुजली ना मिटे तो;
  534. आठवें दिन नहा लेना चाहिए।
  535. =======================================
  536. फूलों में गुलाब अच्छा लगता है;
  537. हर चेहरे पर शबाब अच्छा लगता है;
  538. आप हमेशा नाक से चूहे निकालते रहें;
  539. हमें आपका यही अंदाज़ अच्छा लगता है।
  540. =======================================
  541. जीवन में एक चीज़ याद रखना:
  542. आंसू पोछने वाले बहुत मिलेंगे;
  543. पर नाक पूछने वाला कोई नहीं मिलेगा;
  544. तो ज़ेब में हमेशा रुमाल रखना।
  545. =======================================
  546. छेड़ दिया इश्क मैंने आतंकियों के देश में;
  547. दुश्मन भी प्यारा लगा हिना रबानी के वेश में।


  548. =======================================

  549. मीठी मीठी यादों को पलकों पे सजा लेना;
  550. साथ गुज़रे लम्हों को दिल में बसा लेना;
  551. मैं तो बरसों का प्यासा हूँ, 'फराज़';
  552. बिजली आ जाये तो याद से मोटर चला देना।
  553. =======================================
  554. अर्ज़ किया है:
  555. उसको आना होगा तो खुद ही चली आयेगी;
  556. अरे वाह वाह;
  557. उसको आना होगा तो खुद ही चली आयेगी;
  558. यूं बैठकर शौचालय में जोर लगाने से क्या फायदा।
  559. =======================================
  560. लैला ने तो प्यार किया;
  561. पर मजनू की किस्मत जाग गई;
  562. मजनू ने इतने प्रेम पत्र लिखे कि;
  563. लैला डाकिये के साथ भाग गयी।
  564. =======================================
  565. मोहब्बत के रास्ते में हर वक्त दर्द मिलेगा;
  566. मेरी मानो दोस्त,
  567. तुम इसी रास्ते पर मेडिकल स्टोर खोल लो;
  568. मस्त चलेगा।
  569. =======================================
  570. आसमान में काली घटा छाई है;
  571. आज फिर गर्लफ्रेंड से मार खाई है;
  572. मगर मेरी गलती नहीं है, दोस्तो;
  573. पड़ोस वाली लड़की आज मिनी स्कर्ट पहनकर आई है।
  574. =======================================
  575. खुशबु ने फूलों को ख़ास बनाया;
  576. फूलों ने माली को ख़ास बनाया;
  577. और कमबख्त मोहब्बत ने;
  578. कितनो को देवदास बनाया!
  579. =======================================
  580. जब कोई इतना ख़ास बन जाये;
  581. उसके बारे में सोचना एहसास बन जाये;
  582. तो मांग लेना खुदा से उसे जिंदगी भर के लिए;
  583. इससे पहले कि उसकी माँ किसी और की सास बन जाये।
  584. =======================================
  585. वाह गालिब तूने क्या शेर मारा है;
  586. वाह गालिब तूने क्या शेर मारा है;
  587. अरे यार! देख जरा शेरनी कितना रो रही है।
  588. =======================================
  589. काला न कहो मेरे महबूब को;
  590. काला न कहो मेरे महबूब को;
  591. खुदा तो तिल ही बना रहा था;
  592. पर प्याला ही लुढ़क गया।
  593. =======================================
  594. गिले शिकवे दिल से न लगा लेना;
  595. कभी रूठ जाऊं तो मना लेना;
  596. कल का क्या पता हम हो न हो;
  597. इसलिए जब भी मिलूं;
  598. कभी समोसा और कभी पानी पूरी खिला देना


  599. =======================================

  600. अय दोस्त मत कर इन हसीनाओं से मोहब्बत;
  601. वह आँखों और बातों से वार करती हैं;
  602. मैंने तेरी वाली की आँखों में देखा है;
  603. वो मुझसे भी प्यार करती है।
  604. =======================================
  605. दिल की धड़कन रुक सी गई;
  606. सांसें मेरी थम सी गई;
  607. पूछा हमने दिल के डॉक्टर से तो पता चला;
  608. कि सर्दी के कारण आपकी यादें दिल में जम सी गई।
  609. =======================================
  610. हक़ीकत थी पर ख़्वाब निकला;
  611. दूर था पर पास निकला;
  612. मैं इस बात को क्या कहूं;
  613. ये ज़रदारी तो मुसर्रफ़ का भी बाप निकला।
  614. =======================================
  615. आंसू टपक पड़े बेरोजगार के उस एहसास पर ग़ालिब;
  616. कि आंसू टपक पड़े बेरोजगार के उस एहसास पर ग़ालिब;
  617. जब माँ ने कहा;
  618. "बेटा खाली बैठा है, जा मटर ही छील ले।"
  619. =======================================
  620. कैसे मुमकिन था किसी और दवा से इलाज़?
  621. अय ग़ालिब।
  622. इश्क का रोग था;
  623. . .
  624. "माँ की चप्पल से ही आराम आया।"
  625. =======================================
  626. चाँद से रोशनी ज्यादा और सितारों से कम निकले;
  627. वाह वाह;
  628. चाँद से रोशनी ज्यादा और सितारों से कम निकले;
  629. जब भी मैं तुझे देखूं मेरी हंसी एक दम निकले!
  630. =======================================
  631. चली जाती है आये दिन वो बियुटी पार्लोर में यूं;
  632. उनका मकसद है, "मिशाल-ए-हूर" हो जाना;
  633. मगर ये बात किसी भी बेगम की समझ में क्यों नहीं आती;
  634. कि मुमकिन नहीं 'किशमिश' का फिर से 'अंगूर' हो जाना।
  635. =======================================
  636. तेरी दुनिया में कोई गम ना हो;
  637. तेरी खुशियाँ कभी कम न हो;
  638. भगवान तुझे ऐसी आइटम दे;
  639. जो अग्निपथ की चिकनी चमेली से कम ना हो।
  640. =======================================
  641. अर्ज़ किया है:
  642. खुदा बचाये हमें इन हसीनो से;
  643. वाह वाह।
  644. खुदा बचाये हमें इन हसीनो से;
  645. .
  646. . .
  647. . . .
  648. लेकिन इन हसीनो को कौन बचाये, हम जैसे कमीनो से।
  649. =======================================
  650. उम्मीदों की समां दिल में मत जलाना;
  651. इस जहां से अलग दुनिया मत बसाना;
  652. आज बस मूड में था तो मैसेज कर दिया;
  653. पर रोज इंतज़ार में पलके मत बिछाना

  654. =======================================

  655. धड़कन दिल की रुक जाती है;
  656. सांस आकर थम जाती है;
  657. बहुत बुरी हालत होती है, यारो;
  658. जब गर्लफ्रेंड से शादी करने की नौबत आती है।
  659. =======================================
  660. बोतल छुपा दो कफ़न में मेरे;
  661. शमशान में पिया करूंगा;
  662. जब खुदा मांगेगा हिसाब;
  663. तो पैग बना कर दिया करूंगा।
  664. =======================================
  665. अर्ज़ किया है:
  666. मुस्कुराना तो हर लड़की की अदा है;
  667. वाह-वाह।
  668. उसे जो मोहब्बत समझे वो सबसे बड़ा गधा है।
  669. =======================================
  670. आँखों के रास्ते दिल में उतर गये;
  671. बंदा-नवाज़, आप तो हद से गुज़र गये।
  672. =======================================
  673. मैंने दरवाजा खोला तो:
  674. उसकी आँखों में आंसू, चेहरे पर हंसी थी;
  675. सासों में आहें, दिल में बेबसी थी;
  676. पगली ने पहले नहीं बताया कि
  677. .
  678. ..
  679. ...
  680. दरवाजे में उसकी ऊँगली फंसी थी।
  681. =======================================
  682. आपने दिल का हाल बताना छोड़ दिया;
  683. हमने भी गहराई में जाना छोड़ दिया;
  684. होली से पहले ही आपने;
  685. सुबह नहाना छोड़ दिया।
  686. शुभ सर्दी।
  687. =======================================
  688. शराब बनी तो मैखाने बने;
  689. हुस्न बना तो दीवाने बने;
  690. कुछ तो बात है आप में;
  691. यूंही नहीं हम "पागल खाने" में।
  692. =======================================
  693. मेरी सांसो में जो समाया बहुत लगता है;
  694. वही शख्स मुझे पराया भी बहुत लगता है;
  695. उनसे मिलने की तमन्ना तो बहुत है मगर;
  696. आने-जाने में किराया ही बहुत लगता है।
  697. =======================================
  698. अपना बच्चा रोये तो दिल में दर्द होता है;
  699. और दूसरे का रोये तो सर में दर्द होता है;
  700. अपनी बीवी रोये तो भी सर में दर्द होता है;
  701. और दूसरे की रोये तो दिल में दर्द होता है!
  702. =======================================
  703. आज कल सब कहते हैं, मैं बुझा-बुझा सा रहता हूँ;
  704. अगर जलता रहता तो कब का खाक हो जाता!

  705. =======================================
  706. आप जैसे लोग कुछ ख़ास लगते हैं;
  707. दिल में हर वक़्त एक आस रखते हैं;
  708. ना जाने कब हो जाये मुलाकात आपसे;
  709. इसलिए हम एक 'डिस्प्रिन' हमेशा अपने साथ रखते हैं!
  710. =======================================
  711. याद तेरी विच सानु चैन कोई ना;
  712. साड्डे उत्ते तेन्नु रहम कोई ना;
  713. होरां नु ता दिन रात मैसेज कित्ते;
  714. पर साड्डे लाई तेरे कोल टाइम कोई ना!
  715. =======================================
  716. हर कामयाबी पर आपका नाम हो;
  717. आपके हर कदम पर दुनिया का सलाम हो;
  718. ठंड का सामना हिम्मत से करना यार;
  719. मैं नहीं चाहता आपको सर्दी लगे या जुखाम हो!
  720. =======================================
  721. सवेरा क्या हुआ, सितारों को भूल गए;
  722. सूरज क्या आया, चाँद को भूल गये;
  723. गुजरे क्या पल हमारे मैसेज के बिना;
  724. आप हमें मैसेज करना भूल गये!
  725. =======================================
  726. हर तरफ पढ़ाई का साया है;
  727. किताबों में सुख किसने पाया है;
  728. लड़के तो जाते हैं, ट्यूशन लड़कियां देखने;
  729. और सर कहते हैं, देखो बरसात में भी लड़का पढ़ने आया है!
  730. =======================================
  731. तू चंदर मुखी मैं सूर्यमुखी;
  732. तू भी दुखी मैं भी दुखी;
  733. तू छत से नीचे कूद जा;
  734. तू भी सुखी मैं भी सुखी!
  735. =======================================
  736. हकीकत समझो या फसाना;
  737. अपना समझो या बेगाना;
  738. हमारा आपका है रिश्ता पुराना;
  739. इसलिये फर्ज था आपको बताना;
  740. ठंड शुरू हो गयी है;
  741. कृपया रोज मत नहाना!
  742. =======================================
  743. ना इश्क कर मेरे यार, यह लड़कियां बहुत सताती हैं;
  744. न करना इन पर एतबार, यह खर्चा बहुत करवाती हैं;
  745. रिचार्ज तुम करवा के देतो हो;
  746. और नंबर मेरा लगाती हैं!
  747. =======================================
  748. =======================================
  749. कमाल तेरे नखरे, कमाल का तेरा स्टाइल है;
  750. बात करने की तमीज नहीं, और हाथ में मोबाइल है!


  751. =======================================
  752. डाली ने डाली पर नज़र डाली;
  753. किसी ने इस पर डाली;
  754. किसी ने उस पर डाली;
  755. हमने जिसपर नज़र डाली;
  756. उसके बाप ने उसकी शादी कहीं और कर डाली!
  757. =======================================
  758. तेरे इश्क ने सरकारी दफ्तर बना दिया दिल को;
  759. ना कोई काम करता है, ना कोई बात सुनता है!
  760. =======================================
  761. हर गम को पाला नही जाता;
  762. काँच की चीज़ों को उछाला नही जाता;
  763. कुछ करना है तो मेहनत करो;
  764. हर बात को 'आल इज वेल' कहकर टाला नही जाता!
  765. =======================================
  766. बेवफा तुम हो तो वफ़ादार हम भी नही;
  767. बेशरम तुम हो तो शरमदार हम भी नही;
  768. प्यार के इस मोड़ पर आकर कहते हो शादीशुदा हो;
  769. तो कुंवारे हम भी नहीं!
  770. =======================================
  771. ख्वाहिशों को जेब में रखकर निकला कीजिये, जनाब;
  772. खर्चा बहुत होता है, मंजिलों को पाने में!
  773. =======================================
  774. पंख लगाकर मेरे ख्वाबों को ले जाओ कहीं दूर;
  775. नालायक रात में आते हैं, और सोने भी नहीं देते!
  776. =======================================
  777. बेवफा तुम हो तो वफादार हम भी नहीं;
  778. बेशर्म तुम हो तो शर्म दार हम भी नहीं;
  779. प्यार के इस मोड़ पर आकर कहती हो शादी शुदा हो?
  780. तो कुंवारे हम भी नहीं!
  781. =======================================
  782. उसूल-ए-वफ़ा:
  783. ये मोहब्बत नहीं, उसूल-ए-वफ़ा है;
  784. ऐ दोस्त, हम जान तो दे देंगे मगर अपनी जान का नंबर नहीं देंगे!
  785. =======================================
  786. सोचता हूँ कंजूसों का एक डिपार्टमेंट बनाऊ;
  787. चेयरमैन की कुर्सी पर आपको बिठाऊ;
  788. दुनिया से आप को चंदा दिलवाऊ;
  789. ताकि आप से कुछ मैसेज्स तो ले पाऊ!
  790. =======================================
  791. तुम्हारा हर मैसेज मेरे रोम रोम में गुदगुदी पैदा करता है;
  792. जब भी मैं पढता हूं, मेरा दिल जोर से धड़कता है;
  793. लेकिन क्या करें, कसूर तुम्हारा नहीं है;
  794. यह मोबाइल ही 'वाईबरेशन मोड' पर चलता है!

  795. =======================================


  796. देना है ये दिल किसी को दान में, यारो;
  797. है कोई मस्त माल ध्यान में, तो बताओ!
  798. =======================================
  799. वो भी क्या दिन थे, जब हम हसीनों से गले मिला करते थे;
  800. यह उन दिनों कि बात है, जब हम दो साल के हुआ करते थे!
  801. =======================================
  802. फ़ोन के रिश्ते भी अजीब होते हैं;
  803. बैलेंस रखकर भी लोग गरीब होते हैं;
  804. खुद तो मैसेज करते नहीं;
  805. मुफ्त के मैसेज पढ़ने के शौक़ीन होते हैं!
  806. =======================================
  807. उसने हाथों पर मेहंदी लगा रखी थी;
  808. हमने भी अपनी बारात सजा रखी थी;
  809. क्यूंकि हमें मालूम था वो बेवफा निकलेगी;
  810. इसलिए हमने भी उसकी सहेली पटा रखी थी!
  811. =======================================
  812. इतने कमज़ोर हुए तेरी जुदाई में;
  813. जर्रा गौर फर्रमाँइए:
  814. इतने कमज़ोर हुए तेरी जुदाई में;
  815. कि चींटी भी अब खींच ले जाती है 'चारपाई' से!
  816. =======================================
  817. दिल में आंसुओं के मेले हैं;
  818. तुम बिन, हम बहुत अकेले हैं;
  819. सब कुछ छोड़कर, "एस एम् एस" तुम्हें करते हैं;
  820. देखो हम कितने वेल्ले हैं!
  821. =======================================
  822. वो मेरी किस्मत मेरी तकदीर हो गयी;
  823. हमने उनकी याद में इतने ख़त लिखे कि;
  824. वह 'रद्दी' बेचकर ही अमीर हो गयी!
  825. =======================================
  826. राम युग में दूध मिला, कृषण युग में घी;
  827. इस युग में दारू मिली, खूब दबाकर पी!
  828. =======================================
  829. मौसम बड़ा बेहाल है;
  830. सुर है, न ताल है;
  831. मैसेज बॉक्स भी कंगाल है;
  832. क्या आपकी मैसेज फैक्ट्री में भी हड़ताल है?
  833. =======================================
  834. होठों को छुआ उसने तो, एहसास अब तक है;
  835. आंखे नम हुई तो सांसो में आग अब तक है;
  836. वक़्त गुजर गया, पर उसकी याद नही गई;
  837. क्या कहूं, "हरी मिर्च का स्वाद अब तक है!"

  838. =======================================

  839. कभी खुली हवा मे घुमते थे;
  840. अब "ए. सी." की आदत लगायी है!
  841. धुप हम्से सहन नही होती;
  842. हर कोई देता यही दुहाई है!
  843. =======================================
  844. तुमसा कोई दूसरा जमीन पर हुआ;
  845. तो रब से शिकायत होगी!
  846. एक का तो झेला नहीं जाता;
  847. दूसरा आ गया तो क्या हालत होगी!
  848. =======================================
  849. जब होता है तुम्हारा दीदार, दिल धड़कता है बार-बार;
  850. आदत से मजबूर हो तुम, ना जाने कब माँग लो उधार!
  851. =======================================
  852. ऐसी बाणी बोलियें की सबसे झगड़ा होए;
  853. पर उससे झगड़ा न करिये, जो अपने से तगड़ा होए!
  854. =======================================
  855. दिली तमन्ना है कि मैं भी अपनी पलकों पे बैठाऊँ तुझको;
  856. बस तू अपना वजन कम करले, तो मेरा काम आसान हो जाए!
  857. =======================================
  858. तारीफ के काबिल हम कहाँ;
  859. चर्चा तो आपकी चलती है!
  860. सब कुछ तो है आपके पास;
  861. बस सींग और पूंछ की कमी खलती है!
  862. =======================================
  863. सोचा था हर मोड़ पे "एस ऍम एस" करेंगे आपको;
  864. पर कमबख्त पूरी सड़क सीधी थी, कोई मोड़ ही नहीं आया!
  865. =======================================
  866. दिली तमन्ना है कि मैं भी अपनी पलकों पे बैठाऊँ तुझको;
  867. बस तू अपना वजन कम करले, तो मेरा काम आसान हो जाए!
  868. =======================================
  869. भूल गए या, भुलाना चाहते हो;
  870. दूर कर दिया, या करना चाहते हो;
  871. अजमा लिया, या अजमाना चाहते हो;
  872. मेसेज कर रहे हो, या अभी और पैसे बचाना चाहते हो?
  873. =======================================
  874. निकले जो दुनिया की भीड़ में तो ये जाना है;
  875. निकले जो दुनिया की भीड़ में तो ये जाना है;
  876. दुखी है हर वो शख्स, जिसे आज फिर काम पर जाना है!

  877. =======================================
  878. बस इतना ही कहा था मैंने कि तेरे प्यार में बरसों से प्यासा हूँ सनम;
  879. और उसने पानी का पाइप मुंह में डालकर मोटर चला दी!
  880. =======================================
  881. बोतल छुपा देना कफ़न में मेरे;
  882. शमशान में बैठ कर पिया करूँगा;
  883. खुदा मांगेगा जब हिसाब मुझसे;
  884. एक एक पैग बना कर दिया करूँगा!
  885. =======================================
  886. हम समझते कम हैं, समझाते ज्यादा हैं;
  887. इसलिए सुलझते कम हैं, उलझते ज्यादा हैं!
  888. =======================================
  889. हम हो गए तुम्हारे, तुम्हें सोचने के बाद;
  890. अब न देखेंगे किसी को, तुम्हें देखने के बाद;
  891. दुनिया छोड़ देंगे, तुम्हें छोड़ने के बाद;
  892. खुदा! माफ़ करे इतने झूठ बोलने के बाद!
  893. =======================================
  894. हर रात हम तुम्हें याद किया करते है;
  895. सितारों में तुम्हें देखा करते है;
  896. लेकिन हमारे ख्वाबों में मत आना तुम;
  897. क्योंकि हम भूत से डरा करते है!
  898. =======================================
  899. कोई आँखों से बात कर लेता है;
  900. कोई आँखों में मुलाक़ात कर लेता है;
  901. बड़ा मुश्किल होता है जवाब देना;
  902. जब कोई इंग्लिश में बात कर लेता है!
  903. =======================================
  904. बेकार है वो लोग जो अपने लवर को मिस किया करते हैं;
  905. अरे मिस करना है तो मच्छर को करो;
  906. जो अपनी जान पर खेल कर आपको किस्स किया करते हैं!
  907. =======================================
  908. बहुत उदास है कोई तेरे जाने से;
  909. हो सके तो लौट आ किसी बहाने से;
  910. तू लाख खफा सही पर एक बार तो देख;
  911. कितना कचरा जमा है तेरे न आने से!
  912. =======================================
  913. हमने धूप समझी वो छाया निकली;
  914. हमने गाय समझी वो भैंस निकली!
  915. बेडा गर्क हो इन ब्यूटी पार्लरों का;
  916. हमने तो उसे लडकी समझा था;
  917. लेकिन वो तो लड़की की माँ निकली!
  918. =======================================
  919. सारी रात इसी कश्मकश में गुज़र जाती है कि;
  920. ये रजाई में हवा कहाँ से घुस रही है!

  921. =======================================
  922. झटका कुछ इस तरह दिया सनम ने, अपनी जुल्फों को;
  923. इकठ्ठे 7 जूएँ मेरे दामन में आ गिरे!
  924. =======================================
  925. आशिक पागल हो जाते हैं प्यार में;
  926. बाकी कसर पूरी हो जाती है इंतज़ार में;
  927. मगर ये दिलरुबा नहीं समझती;
  928. वो तो गोल गप्पे और पपड़ी खाती फिरती है बाज़ार में!
  929. =======================================
  930. आसमान जितना नीला है;
  931. सूरजमुखी जितना पिला है;
  932. पानी जितना गीला है;
  933. आपका स्क्रू उतना ही ढीला है!
  934. =======================================
  935. ज़िन्दगी है तो ख्वाब है;
  936. ख्वाब है तो मंजिले है;
  937. मंजिले है तो रास्ते है;
  938. रास्ते है तो मुश्किलें;
  939. हिम्मत है तो, एस एम् एस करो!
  940. =======================================
  941. कभी-कभी मेरे दिल में ख्याल आता है,
  942. कभी-कभी मेरे दिल में ख्याल आता है,
  943. कि क्यों कभी-कभी मेरे दिल में ख्याल आता है?
  944. =======================================
  945. मुझसे ये जुदाई का गम पिया नहीं जाता;
  946. कोई दो गिलास व्हिस्की के ही पिला दो बर्फ डाल के!
  947. =======================================
  948. प्यार हुआ इकरार हुआ है;
  949. प्यार से फिर क्यों डरता है दिल;
  950. क्यों न डरे दिल?
  951. .
  952. ..
  953. ...
  954. क्योंकि आजकल के प्यार से बढ़ता है, सिर्फ मोबाइल और रेस्टौरेंट का बिल!
  955. =======================================
  956. उधर आप मजबूर बैठे हैं;
  957. इधर हम खामोश बैठे है;
  958. बात हो तो कैसे हो;
  959. जब दोनों तरफ दो कंजूस बैठे हैं!
  960. =======================================
  961. जब बारिश होती है, तुम याद आते हो!
  962. जब काली घटा छाए, तुम याद आते हो!
  963. जब भीगते हैं हम, तो तुम याद आते हो!
  964. बताओ, तुम मेरी छतरी कब वापिस करोगे!
  965. =======================================
  966. फूल बिना, खुशबू बेकार;
  967. चाँद बिना, चांदनी बेकार;
  968. प्यार बिना, ज़िन्दगी बेकार;
  969. मेरे एस एम् एस बिना, तुम्हारा मोबाइल बेकार!

  970. =======================================

  971. कितना बेबस है इंसान, किस्मत के आगे!
  972. हर सपना टूट जाता है हकीकत के आगे!
  973. जिसने कभी हाथ न फेलाया हो, 
  974. वो भी हाथ फेलता है `गोलगप्पे वाले` के आगे!
  975. =======================================
  976. एक आप हो कितने अच्छे हो!
  977. एक आप हो कि कितने सुंदर हो!
  978. एक आप हो कि कितने सच्चे हो!
  979. और एक हम है कि झूठ पर झूठ बोले जा रहे है

No comments:

Post a Comment