Hindi SMS Good Morning Shayari सुप्रभात

उदासियों की वजह तो बहुत है जिंदगी में;
पर बेवजह खुश रहने का ~मज़ा ही कुछ और है।
इसलिए हमेशा खुश रहो।
सुप्रभात!
======================================
सुप्रभात  
खिलते फूल जैसे लबों पर हंसी हो;
ना कोई गम हो ना कोई ~बेबसी हो;
सलामत रहे ज़िंदगी का यह सफ़र;
जहाँ आप रहो वहाँ बस ख़ुशी ही ख़ुशी हो।
सुप्रभात!
======================================
सुप्रभात  
तब तक कमाओ जब तक महंगी चीज़ सस्ती ना लगने लगे;
चाहे वो सम्मान हो या सामान।
सुप्रभात!
======================================
सुप्रभात  
सकारात्मक सोच आपके जीवन को सही दिशा देती है।
सही सोचें, सही समझें, सही दिशा मे बढें।
सुप्रभात!
======================================
सुप्रभात  
दो पल की ज़िन्दगी है इसे ~जीने के सिर्फ दो असूल बना लो,
रहो तो फूलों की तरह और बिखरो तो खुशबू की तरह।
सुप्रभात!
======================================
सुप्रभात  
स्वर्ग का सपना छोड़ दो,
नरक का डर छोड़ दो,
कौन जाने क्या पाप, क्या पुण्य,
बस किसी का दिल ~न दुखे अपने स्वार्थ के लिए,
बाक़ी सब कुदरत पर छोड़ दो।
सुप्रभात!
======================================
सुप्रभात  
ज़िन्दगी तब बेहतर होती है जब हम खुश होते हैं,
लेकिन यकीन करो ज़िन्दगी तब बेहतरीन हो जाती है जब हमारी वजह से सब खुश होते हैं।
सुप्रभात!
======================================
सुप्रभात  
दौलत छोड़ी दुनिया छोड़ी ~सारा खज़ाना छोड़ दिया;
सतगुरु के प्यार में दीवानों ने राज घराना छोड़ दिया;
दरवाज़े पे जब लिखा हमने नाम हमारे सतगुरु का;
मुसीबत ने दरवाज़े पे आना छोड़ दिया।
सुप्रभात!
======================================
सुप्रभात  
देर मैंने ही लगाई पहचानने~ में ऐ भगवान,
वरना तुमने जो दिया उसका तो कोई हिसाब ही नहीं;
जैसे जैसे मैं सिर को झुकाता चला गया,
वैसे वैसे तू मुझे उठाता चला गया।
सुप्रभात!
======================================
सुप्रभात  
भाग्य से जितना अधिक ~उम्मीद करेंगे वह उतना ही निराश करेगा।
कर्म में विश्वास रखें, आपको अपनी अपेक्षाओं से सदैव अधिक मिलेगा।
सुप्रभात!
======================================

शुरुआत करने के लिए ~महान होने की ज़रुरत नहीं, पर महान होने के लिए शुरुआत करनी पड़ती है।
उठो.और जोश के साथ इस नए दिन की नयी शुरुआत करो।
सुप्रभात!
======================================
सुप्रभात  
हर नयी सुबह का नया नया नज़ारा;
ठंडी हवा लेकर आयी है~ पैगाम हमारा;
कि खुशियों से भरा रहे आज का दिन तुम्हारा।
सुप्रभात!
======================================
सुप्रभात  
गुलशन में भँवरों का फेरा हो गया,
पूरब में सूरज का डेरा हो गया,
खिलती मुस्कान~ के साथ खोलो आँखें,
देखो एक बार फिर से नया सवेरा हो गया।
सुप्रभात!
======================================
सुप्रभात  
अच्छे के साथ अच्छे रहो लेकिन बुरे के साथ बुरे नहीं बनो क्योंकि पानी से गंदगी साफ कर सकते हैं, गंदगी से गंदगी नही।
सुप्रभात!
======================================
सुप्रभात  
कल का दिन किसने देखा है, तो आज का दिन भी खोये क्यों;
जिन घडि़यों में हँस सकते हैं, उन घड़ियों में रोये क्यों।
सुप्रभात!
======================================
सुप्रभात  
जिन्हें ख्वाब देखना अच्छा लगता है~ उन्हें रात छोटी लगती है;
और जिन्हें ख्वाब पूरे करना अच्छा लगता है उन्हें दिन छोटा लगता है।
सुप्रभात!
======================================
सुप्रभात  
ऐ सूरज मेरे अपनों को यह पैगाम देना;
खुशियों का दिन हँ~सी की शाम देना;
जब कोई पढे प्यार से मेरे इस पैगाम को;
तो उन को चेहरे पर प्यारी सी मुस्कान देना।
सुप्रभात!
======================================
सुप्रभात  
जब तुम पैदा हुए थे तो तुम रोए थे जबकि पूरी दुनिया ने जश्न मनाया था।
अपना जीवन ऐसे जियो कि तुम्हारी मौत पर पूरी दुनिया रोए और तुम जश्न मनाओ।
सुप्रभात!
======================================
सुप्रभात  
समस्याएं इतनी ताक़तवर न~हीं हो सकती जितना हम इन्हें मान लेते हैं।
ऐसा कभी नहीं हुआ कि अंधेरों ने सुबह ही ना होने दी हो। चाहे कितनी भी गहरी काली रात हो उसके बाद सुबह होनी ही है।
सुप्रभात!
======================================
सुप्रभात  
माला की तारीफ़ तो सब करते हैं, क्योंकि मोती सबको दिखाई देते हैं लेकिन तारीफ़ के काबिल तो धागा है जिसने सब को जोड़ रखा है। इसलिए केवल मोती ही ना बनें वो धागा भी बनें जो सब को जोड़े।
सुप्रभात!

======================================
एक छोटा शब्द है... पढ़ें तो 'सेकंड' लगेगा
सोचें तो 'मिनट' लगेगा
समझें तो 'दिन' लगेगा
और साबित करने में पूरी ज़िन्दगी लग जाती है।
वो है 'विश्वास'। इसलिए ~कभी इसे टूटने मत दीजिये।
सुप्रभात!
======================================
सुप्रभात  
सुबह की प्यारी रौनक तो देखो,
इन आँखों में बसी उ~नकी तस्वीर तो देखो,
हम ने आपको प्यारा सा सन्देश भेजा है सुप्रभात का,
एक बार उठ कर इसे प्यार से तो देखो।
सुप्रभात!
======================================
सुप्रभात  
बेझिझक मुस्कुराएँ जो भी गम है,
ज़िन्दगी में टेंशन कि~सको कम हैं,
अच्छा या बुरा तो केवल भ्रम है,
ज़िन्दगी का नाम ही कभी ख़ुशी कभी गम है।
सुप्रभात!
======================================
सुप्रभात  
सफलता भी फीकी लगती है यदि कोई बधाई देने वाला नहीं हो और विफलता भी सुंदर लगती है जब आपके साथ कोई अपना खड़ा हो।
सुप्रभात!
======================================
सुप्रभात  
रात गुज़री फिर महकती सुबह आई,
दिल धड़का फिर आप~की याद आई,
आँखों ने महसूस किया उस हवा को,
जो आपको छूकर हमारे पास आई।
सुप्रभात!
======================================
सुप्रभात  
चाँद तारे छुप गए मिट गया अंधकार,
धूप सुनहरी देखकर जाग गया संसार,
दिन आपका गुजरे अच्छा करते है दुआ हज़ार,
भेज रहे हैं खिली~ धूप के साथ सुबह का नमस्कार।
सुप्रभात!
======================================
सुप्रभात  
सूरज की पहली कि~रण आपको हँसी दे,
उड़ते पंछी आपको मधुर वाणी दे,
ताज़ी हवा की ख़ुशबू आपको शांति दे,
इसी तरह आपका दिन मंगलमय रहे।
सुप्रभात!
======================================
सुप्रभात  
कलियाँ खिल उठी एक प्यारे से एहसास के साथ,
एक नया विश्वास दिन की~ शुरुआत एक मीठी सी मुस्कान के साथ,
आपको बोलना है मंगलमय हो आपका हर दिन, मंगल हो ये सुप्रभात।
सुप्रभात!
======================================
सुप्रभात  
यदि हम उंचा उठना चाहते है तो, अपने अंदर के अहंकार को निकालकर, स्वयं को हल्का करना पडेगा... क्योंकि ऊँचा वही उठता~ है जो हल्का होता है।
सुप्रभात!
======================================
सुप्रभात  
ना किसी के आभाव में जियो, ना किसी के प्रभाव में जियो;
ज़िन्दगी आपकी है बस अपने मस्त स्वभाव में जियो।
सुप्रभात!

======================================

श्रद्धा' ज्ञान देती है, '~नम्रता' मान देती है, और 'योग्यता' स्थान देती है।
और तीनों मिल जाएं तो व्यक्ति को हर जगह 'सम्मान' देती हैं।
सुप्रभात!
======================================
सुप्रभात  
पग-पग सुनहरे फू~ल खिलें,
कभी ना हो काँटों का सामना;
ज़िन्दगी आप की खुशियों से भरी रहे,
बस यही है हमारी मोनकामना।
सुप्रभात!
======================================
सुप्रभात  
काली अँधेरी रात के बाद सुबह है आई;
उठकर देखो सुबह ~का नज़ारा, सूर्य की रौशनी से सारी दुनिया है जगमगाई;
क्या हुआ अगर कल गम में बीता, आज की सुबह नयी उमीदें है ले कर आई।
सुप्रभात!
======================================
सुप्रभात  
ज़िंदगी की हर सुबह कुछ शर्तें लेकर आती है और ज़िंदगी की हर शाम कुछ तज़ुर्बे देकर जाती है।
सुप्रभात!
======================================
सुप्रभात  
सुबह सुबह ज़िन्दगी की शुरुआत होती है;
किसी अपने से बात ~हो तो खास होती है;
हँस के प्यार से अपनों को सुप्रभात बोलो तो;
खुशियाँ अपने आप साथ होती हैं।
आप का दिन शुभ हो!
सुप्रभात
======================================  
नया दिन नयी~ सुबह करिये नयी शुरुआत,
जागो उठो खोलो पलकें हो गया प्रभात!
आपका दिन मंगलमय हो!
सुप्रभात  
======================================
खूबसूरत तस्वीरें नैगेटिव से ~तैयार होती हैं वो भी अँधेरे में, इसलिए जब भी आपके जीवन में अन्धकार नज़र आये तो समझ लीजिये कि ईश्वर आपके भविष्य की सुंदर सी तस्वीर का निर्माण कर रहा है।
सुप्रभात!
======================================
सुप्रभात  
कागज अपनी कि~स्मत से उड़ता है, लेकिन पतंग अपनी काबिलियत से।
इसलिए किस्मत साथ दे या न दे, काबिलियत जरुर साथ देती है।
सुप्रभात!
======================================
सुप्रभात  
हर सूर्यास्त हमारे जीवन से एक दिन कम कर देता है, लेकिन हर सूर्योदय हमें आशा भरा एक और दिन दे देता है।
इसलिए सदैव हर सुबह बेहतर की उम्मीद करें।
सुप्रभात!
======================================
सुप्रभात  
नन्हीं कली खिल चुकी है,
बगिया में तितली गुनगुना रही है,
तू आँख खोल तुझे सुबह जगा रही है,
ख्वाबों की वो ग~लियाँ सोने जा रही हैं
कह दे अब चंदा को अलविदा,
सुबह तेरे लिए खुशियों का मल्हार गा रही है।
सुप्रभात!
======================================

कोयल की कुहू कुहू में हैं जो मिठास,
नदिया के जल में~ भी है खनकती आवाज,
ऐसा ही सुरीला होगा आपका आज,
दिल से कहते हैं आपको सुप्रभात!
सुप्रभात  
======================================
स्वभाव रखना है तो उस दीपक की तरह रखो जो बादशाह के महल में भी उतनी रोशनी देता है जितनी किसी गरीब की झोपड़ी में।
सुप्रभात!
======================================
सुप्रभात  
सुबह का मौसम और सतगुरु की याद,
हलकी सी ठडंक और सिमरन की प्यास,
संगत की सेवा और ना~म की मिठास,
शुरू कीजिए अपना दिन प्रभु के साथ।
सुप्रभात!
======================================
सुप्रभात  
प्रसन्न व्यक्ति वह है जो निरंतर स्वयं का मूल्यांकन एवं सुधार करता है।
जबकि दुःखी व्यक्ति~ वह है जो दूसरों का मूल्यांकन करता है।
सुपरभात!
======================================
सुप्रभात  
एक सुबह ऐसी भी हो,
जहाँ आँखे जिंदा र~हने के लिये नहीं, पर जिंदगी जीने के लिए खुलें। सुप्रभात!
सुप्रभात
======================================
भगवान आपको ढेर सारा~ प्याज़ और खूब सारी खुशियाँ दे।
सुप्रभात!
======================================
सुप्रभात  
सुबह का मौसम जैसे जन्नत का एहसास,
आँखों में नींद और चाय की तलाश,
जागने की मज़बूरी, थोड़ा और सोने की आस,
पर आपका दिन शुभ हो हमारी सुप्रभात के साथ।
सुप्रभात!
======================================
सुप्रभात  
रिश्तों की बगिया में एक रि~श्ता नीम के पेड़ जैसा भी रखना;
जो सीख भले ही कड़वी देता हो पर तकलीफ में मरहम भी बनता है।
सुप्रभात!
======================================
सुप्रभात  
सुबह सुबह की खूबसू~रत किरणें कहने लगी मुझे,
जल्दी से बाहर तो देखो मौसम कितना प्यारा है;
मैंने भी कह दिया, थोड़ी देर रुक जाओ,
पहले उसको मैसेज तो कर लूँ जो मुझे जान से प्यारा है।
सुप्रभात!
======================================
सुप्रभात  
अपनी जुबान से किसी की बुराई मत करो, क्योंकि बुराईयाँ तुममें भी हैं और ज़ुबान दूसरों के पास भी है।
सुप्रभात!
======================================


हर जलते दीपक तले अँधेरा होता है,
हर रात के पीछे एक सवेरा होता है,
लोग डर जाते हैं मुसी~बत को देख कर,
मगर हर मुसीबत के पीछे सच का सवेरा होता है।
सुप्रभात!
======================================
सुप्रभात  
यदि सपने सच~ नहीं हो तो रास्ते बदलो सिद्धान्त नहीं;
क्योंकि पेड़ हमेशा पत्तियाँ बदलते हैं, जड़ें नहीं।
सुप्रभात!
======================================
सुप्रभात  
आप का हर लम्हा गुलाब हो जाये,
आप का हर पल शादाब हो जाये,
जिन पर बरसती हैं खुदा की रहमतें,
आपका भी नाम उनमें शुमार हो जाये।
सुप्रभात!
======================================
सुप्रभात  
सुबह की हर धूप कुछ याद दिलाती है;
हर महकती खुशबू एक जादू जगाती है;
कितनी भी व्यस्त ~क्यों ना हो यह ज़िन्दगी;
सुबह सुबह अपनों की याद आ ही जाती है।
सुप्रभात!
======================================
सुप्रभात  
अच्छे के साथ अ~च्छे रहो लेकिन बुरे के साथ बुरे नहीं बनो।
क्योंकि पानी से गंदगी साफ कर सकते हैं, गंदगी से गंदगी नही।
सुप्रभात!
======================================
सुप्रभात  
जो परमात्मा को दिल देते हैं,
परमात्मा उन्हें दिल से देते हैं।
सुप्रभात
======================================!
सुप्रभात  
ना किसी के आभाव में जियो,
ना किसी के प्रभाव में जियो,
ज़िन्दगी आपकी है बस अपने मस्त स्वभाव में जियो।
सुप्रभात!
======================================
सुप्रभात  
विक्लप बहुत हैं बि~खरने के लिए,
संकल्प एक ही काफी है संवरने के लिए।
सुप्रभात!
======================================
सुप्रभात  
हर दिन अच्छा नहीं हो ~सकता लेकिन हर दिन में कुछ अच्छा ज़रूर होता है।
सुप्रभात!
सुप्रभात  
ऐ सूरज मेरे अपनों को यह पैगाम देना;
खुशियों का दिन हँसी ~की शाम देना;
जब कोई पढे प्यार से मेरे इस पैगाम को;
तो उन को चेहरे पर प्यारी सी मुस्कान देना।
सुप्रभात!
======================================
~
ये दुनिया ठीक वैसी~ है जैसी हम इसे देखना पसंद करते हैं। यहाँ पर किसी को गुलाबों में काँटे नजर आते हैं तो किसी को काँटों में गुलाब।
सुप्रभात!
======================================
सुप्रभात  
गलती कबूल करने और गुनाह छोड़ने में कभी देर ना करें क्योंकि सफर जितना लम्बा होगा वापसी उतनी मुश्किल होगी।
सुप्रभात!.======================================
सुप्रभात  
जीत की आदत~ अच्छी होती है मगर कुछ रिश्तों में हार जाना ही बेहतर होता है।
सुप्रभात
======================================!
सुप्रभात  
लम्हों की एक किताब है ज़िन्दगी,
साँसों और ख्यालों का हिसाब है ज़िन्दगी,
कुछ ज़रूरतें पूरी, कुछ ख्वाहिशें अधूरी,
बस इन्ही सवालों का जवाब है ज़िन्दगी।
सुप्रभात!
======================================
सुप्रभात  
ज़िन्दगी की हर सुबह कुछ शर्तें लेकर आती है
और ज़िन्दगी की ह~र शाम कुछ तज़ुर्बे देकर जाती है।
सुप्रभात!
======================================
सुप्रभात  
खिलखिलाती सुबह, ताज़गी से भरा सवेरा है;
सुबह की बहारों ने आपके लिए रंग बिखेरा है;
सुबह कह रही है जाग जाओ अब नींद से;
आपकी मुस्कुराहट ~के बिना तो सब अधूरा है।
सुप्रभात!
======================================
सुप्रभात  
मंजिल मिले ना ~मिले ये तो मुकद्दर की बात है;
हम कोशिश भी ना करें ये तो गलत बात है।
सुप्रभात!
======================================
सुप्रभात  
बढ़ते कदमो को~ ना रुकने दे ऐ मुसाफिर;
चाहे रास्ता हो कठिन और मंज़िल हो दूर;
चाहे ना मिले रास्ते में कोई हमसफ़र;
फिर भी झुकना नहीं और पा लेना लक्ष्य को करके बाधाएं सारी दूर।
सुप्रभात !
======================================
सुप्रभात  
जो परमात्मा को दिल देते हैं,
परमात्मा उन्हें दिल से देते हैं।
सुप्रभात!
======================================
सुप्रभात  
हर घर में ख़ुशी की फुहार हो,
हर आँगन में सुबह शाम मस्ती की बहार हो,
खुशियों की नदियाँ बहती रहें सब के दिलों में,
ऐसे ही सदा हँसता ~और मुस्कुराता हर परिवार हो।
सुप्रभात!


======================================
जो उड़ते हैं अहम के आसमानों में;
ज़मीन पर आने में वक़्त नहीं लगता;
हर तरह का वक़्त आता है ज़िंदगी में;
वक़्त के ~गुज़रने में वक़्त नहीं लगता।
सुप्रभात!
======================================
सुप्रभात  
ॐ में ही आस्था;
ॐ में ~ही विश्वास;
ॐ में ही शक्ति;
ॐ में ही सारा संसार;
ॐ से होती है अच्छे दिन की शुरुआत।
सुप्रभात!
======================================
सुप्रभात  
मुबारक हो आपको खुदा की दी यह जिंदगी;
खुशियों~ से भरी रहे आपकी यह जिंदगी;
गम का साया कभी आप पर ना आये;
दुआ है यह हमारी आप सदा यूँ ही मुस्कुराएं।
सुप्रभात!
======================================
सुप्रभात  
जीवन में "परेशानिया" चाहे जितनी हों,
"चिंता" करने से और ज्यादा होती हैं,
"खामोश" होने से बिलकुल "कम",
"सब्र" करने से~ "खत्म" हो जाती हैं,
तथा परमात्मा का "शुक्र" करने से
"खुशियो" मे बदल जाती हैं।
सुप्रभात!
======================================
सुप्रभात  
सारा जहाँ उ~सी का है जो मुस्कुराना जानता है;
रौशनी भी उसी की है जो शमा जलाना जानता है;
हर जगह मंदिर मस्जिद और गुरूद्वारे हैं लेकिन;
ईश्वर तो उसी का है जो सर झुकाना जानता है।
सुप्रभात!
======================================
सुप्रभात  
इतिहास कहता है कि कल सुख था,
विज्ञान कहता है कि कल सुख होगा,
लेकिन धर्म कहता है कि अगर मन सच्चा और दिल अच्छा है तो हर रोज़ सुख होगा।
सुप्रभात!
======================================
सुप्रभात  
सुबह सुबह ज़िन्दगी की शुरुआत होती है;
किसी अपने से बात हो तो खास होती है;
हँस के प्यार से~ अपनों को सुप्रभात बोलो तो;
खुशियाँ अपने आप साथ होती हैं।
सुप्रभात!
======================================
सुप्रभात  
सुबह की हर धूप कुछ याद दिलाती है;
हर महकती खुशबू एक जादू जगाती है;
कितनी भी व्यस्त ~क्यों ना हो यह ज़िन्दगी;
सुबह सुबह अपनों की याद आ ही जाती है।
सुप्रभात!
======================================
सुप्रभात  
वक़्त और समझ किस्मत वा~लों को ही मिलता है।
क्योंकि वक़्त हो तो समझ नहीं आती और समझ आती है तो वक़्त नहीं होता।
सुप्रभात!
======================================
सुप्रभात  
सुबह सुबह हो खुशियों का मेला;
ना हो लोगों की परवाह, ना हो दुनिया का झमेला;
पंछियो का ~हो मधुर संगीत, और मौसम हो अलबेला;
मुबारक हो आपको ये ख़ूबसूरत सवेरा।
सुप्रभात!

======================================

सुबह का उजाला सदा आपके साथ हो;
हर दिन का एक एक ~पल हमेशा आपके साथ हो;
दुआ हमेशा निकलती है दिल से आपके लिए;
हज़ारों खुशियों का खज़ाना आपके पास हो।
सुप्रभात!
======================================
सुप्रभात  
जैसे हर सुबह ~हमारे जीवन का एक नया आरम्भ होता है वैसे ही चलो हम अपने बीते दिनों के सभी ग़म भुला कर आओ एक नयी शुरुआत करें।
सुप्रभात!
======================================
सुप्रभात  
ख़ुशी एक ऐसा एहसास~ है, जिसकी हर किसी को तलाश है;
ग़म एक ऐसा अनुभव है, जो सबके पास है;
मगर ज़िन्दगी तो वही जीता है, जिसको खुद पर विश्वास है।
सुप्रभात!
======================================
सुप्रभात  
ये खूबसूरत फ़िज़ाओं में फूलों की खुशबू हो;
सुबह की ~किरण में पंछियों की आवाज़ हो;
जब भी खोलो अपनी ये निगाहें;
उन निगाहों में सिर्फ खुशियों की झलक हो।
सुप्रभात!
======================================
सुप्रभात  
हँसी आपकी कोई चुरा ना पाये;
कभी कोई आ~पको रुला ना पाये;
खुशियों के ऐसे दीप जले ज़िंदगी में;
कि कोई तूफ़ान भी उसे बुझा ना पाये।
सुप्रभात!
======================================
सुप्रभात  
हर सुबह की धूप कुछ याद दिलाती है;
हर महकती~ खुशबू एक जादू जगाती है;
ज़िन्दगी कितनी भी व्यस्त क्यों ना हो;
निगाहों पर सुबह सुबह अपनों की याद आ ही जाती है।
सुप्रभात!
======================================
सुप्रभात  
ऐ सुबह तुम जब भी आना सब के लिए सतगुरु की रेहमत लाना।
सुप्रभात!
======================================
सुप्रभात  
प्यारी सी मधुर निंदिया के बाद;
रात के कुछ सपनों के साथ;
सुबह की कु~छ उम्मीदों के साथ;
आपको प्यार भरा सुप्रभात।
सुप्रभात  
======================================
ईश्वर वह ~नहीं देता जो आपको अच्छा लगता है,
ईश्वर वह देता है जो आपके लिए अच्छा होता है।
सुप्रभात!
======================================
सुप्रभात  
जो जैसा है उसे वैसे ही अपना लो,
रिश्ते निभाने आ~सान हो जायेंगे।
सुप्रभात!

======================================

हे प्रभु!
दोनों हाथ जोड़ कर आप~से विनती है कि उन्हें खुश रखना जो मुझे याद करते हैं।
सुप्रभात  
======================================
हर दिन अपनी ज़िन्दगी को एक नया ख्वाब दो;
चाहे पूरा ~ना हो पर आवाज़ तो दो;
एक पूरे हो जायेंगे सारे ख्वाब तुम्हारे;
सिर्फ एक शुरुआत तो दो।
सुप्रभात!
======================================
सुप्रभात  
भूल हो~ना 'प्रकृति' है;
मान लेना 'संस्कृति' है;
सुधार लेना 'प्रगति' है।
सुप्रभात!
======================================
सुप्रभात  
वक़्त और समझ किस्मत~ वालों को ही मिलता है।
क्योंकि वक़्त हो तो समझ नहीं आती और समझ आती है तो वक़्त नहीं होता।
सुप्रभात!
======================================
सुप्रभात  
सुप्रभात ऐ सुरज मेरे अपनो को यह पैगाम देना;
खुशियों ~का दिन हँसी की शाम देना;
जब कोई पढे प्यार से मेरे इस पैगाम को;
तो उन को चेहरे पर प्यारी सी मुस्कान देना।
सुप्रभात!
======================================
सुप्रभात  
ज़िन्दगी एक पल है~ जिसमे ना आज है ना कल है;
जी लो इसको इस तरह कि जो भी आपसे मिले वो यही कहे;
बस यही मेरी ज़िंदगी का हसीन पल है।
सुप्रभात!
======================================
सुप्रभात  
जितनी खूबसूरत ये सुबह है;
उतना ही खूबसूरत आपका हर पल हो;
जितनी भी ~खुशियाँ आज आपके पास हैं;
उससे भी अधिक आने वाले कल हो।
सुप्रभात!
======================================
सुप्रभात  
हर सुबह तेरी दुनिया में रौशनी कर दे;
रब तेरे ग़म को~ तेरी ख़ुशी कर दे;
जब भी टूटने लगें तेरी साँसें;
खुदा तुझमे शामिल मेरी ज़िन्दगी कर दे।
सुप्रभात!
======================================
सुप्रभात  
हर फूल आपको एक नया अरमान दे;
सूरज की हर किरण आपको सलाम दे;
निकले कभी जो~ एक आँसू भी आपका,
तो खुदा आपको उससे दोगुनी मुस्कान दे।
सुप्रभात।
======================================
सुप्रभात  
मीठे बोल बोलिए क्योंकि
अल्फाजों में जान होती है,
इन्हीं से आरती~, अरदास और अजान होती है,
ये दिल के समंदर के वो मोती हैं, जिनसे इंसान की पहचान होती है।
सुप्रभात!


No comments :

Post a Comment