Maharshi Dayanand Saraswati Jayanti SMS Messages New 2017

⧬⧬स्वामी महर्षि दयानंद सरस्वती ने हमें उत्कर्ष⧬⧬
⧬⧬जीवन के लिए अमूलय सन्देश दिए आज उ⧬⧬
⧬⧬नकी जयंती पर आपको और आपके परिवार को शुभकामनाए⧬⧭⧭


⧬⧬स्वामी दयानंद सरस्वती ने कहा था : माता ,
पिता और गुरु सबसे बेहतर मार्गदर्शक होते हैं !
आज उनकी जयंती पे सब को शुभकामनाये !

⧬⧬जिसको परमात्मा और जीवात्मा का यथार्थ ज्ञान,
जो आलस्य को छोड़कर सदा उद्योगी, सुखदुःखादि का सहन,
धर्म का नित्य सेवन करने वाला,
जिसको कोई पदार्थ धर्म से छुड़ा कर अधर्म की ओर न खेंच सके वह पण्डित कहलाता है

⧬⧬अगर एक आर्य अकेला है तो उसे स्वयं अध्ययन करना चाहिए .
दो हो तो उन्हें परस्पर प्रश्नोत्तर करना चाहिए और अगर
एक से ज्यादा हो तो उन्हें सत्संग करना चाहिए
और वेदों के अध्याय पड़ने चाहिए – स्वामी दयानंद सरस्वती


 ⧬⧬उस सर्वेयापाक ईष्वर को योग द्वारा जान लेने
पर ह्रदय की अविद्यारूपी गांठ काट जाती है
सभी प्रकार के संसय दूर हो जाते है और भविस्य में
किये जा सकने वाले पाप कर्म नष्ट हो जाते है अथार्त
ईष्वर को जान लेने पर व्यक्ति भविष्य में पाप नहीं करता – सवामी दयानंद सरस्वती

⧬⧬सत्य को गहण करने और असत्य को छोड़ने में सर्वदा उद्धत रहना चाहिए – सवामी दयानंद सरस्वती

⧬⧬मांस का भोजन किसी के लिए अच्छा नहीं है
दयालु परमात्मा ने वेदों में कभी नहीं कहा है
जानवरो को मारने और मांस खाने के लिए
जब सभी मांस भ्छन्न को जानवर खाने के लिए
नहीं मिलेगा तो वे मनुष्यो खाने शुरू कर देगे – सवामी दयानंद सरस्वती

⧬⧬काम करने से पहले सोचना बुद्धिमानी काम करते
हुवे सोचना सतकर्ता काम करने के बाद सोचना मूर्खता
सवामी दयानंद सरस्वती जयंती सुभकामनाये दयानंद
केवल भक्ति नहीं केवल वीरता नहीं बन्धुत्व नहीं एकेस्वरवाद
नहीं सत्यनिष्ठा नहीं और विद्दता नहीं | दयानंद ये सब कुछ है |
किसी को बुरा न लगे तो दयानंद मानवता है |


No comments:

Post a Comment