Prernadayak Shayari Hindi SMS Message 2017


सीढियाँ उन्हें मुबारक हो जिन्हें सिर्फ छत तक जाना है;
मेरी मंज़िल तो आसमान है रास्ता मुझे खुद बनाना है।
~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~  
कर दिया है बेफिक्र तूने फ़िक्र अब मैं कैसे करूँ;
फ़िक्र तो यह है कि तेरा शुक्र कैसे करूँ।
~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~  
बीच रास्ते से लौटने का कोई फायदा नहीं क्योंकि लौटने पर आपको उतनी ही दूरी तय करनी पड़ेगी जितनी दूरी तय करने पर आप लक्ष्य तक पहुँच सकते है।
~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~    
जब तक आप अपनी समस्याओं एंव कठिनाइयों की वजह दूसरों को मानते है, तब तक आप अपनी समस्याओं एंव कठिनाइयों को मिटा नहीं सकते।
~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~  
हर सपने को अपनी साँसों में रखो;
हर मंज़िल को अप~नी बाहों में रखो;
हर जीत आपकी ही है, बस अपने लक्ष्य को अपनी निगाहों में रखो।
~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~    
सफल होने के लिए, सफलता की इच्छा, असफलता के भय से अधिक होनी चाहिए।
~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~    
दुनिया विरोध करे तुम ङरो मत, क्योंकि जिस पेङ पर फल लगते हैं दुनिया उसे ही पत्थर मारती है।
~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~    
समझदार वह व्यक्ति नहीं जो ईंट का जवाब पत्थर से दे।
समझदार वह है जो फेंकी हुई ईंट से अपना आशियाना बना ले।
~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~    

होके मायूस ना यूँ शाम की तरह ढलते रहिये,
ज़िंदगी एक भोर है सूरज की तरह निकलते रहिये,
ठहरोगे एक पाँव पर तो थक जाओगे,
धीरे धीरे ही सही मगर राह पे चलते रहिये।
~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~    
जो हो गया उसे सोचा नहीं करते;
जो मिल गया उसे खोया नहीं करते;
हासिल उन्हें ही होती है सफलता;
जो वक़्त और हालात पर रोया नहीं करते।
~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~  
ज़िंदगी चाहे एक दिन की हो या चाहे चार दिन की,
उसे ऐसे जियो जैसे कि ज़िंदगी तुम्हें नहीं मिली, ज़िंदगी को तुम मिले हो।
~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~  
हार और जीत हमारी सोंच पर निर्भर है।
मान लिया तो हार और अगर ठान लिया तो जीत।
~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~  
रेहमत खुदा की तेरी चौखट पे बरसती नज़र आये;
हर लम्हा तेरी तक़दीर संवरती नज़र आये;
बिन मांगे तुझे मिले तू जो चाहे;
कर कुछ ऐसा काम कि दुआ खुद तेरे हाथों को तरसती नज़र आये।
~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~      
सीढ़ियाँ उनके लिए बनी हैं, जिन्हें छत पर जाना है,
लेकिन जिनकी नज़र, आसमान पर हो उन्हें तो रास्ता ख़ुद बनाना है।
~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~  
कागज़ अपनी किस्मत से उड़ता ~है और पतंग अपनी क़ाबलियत से!
किस्मत साथ दे या ना दे मगर क़ाबलियत ज़रूर साथ देगी।
~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~      
सूरज हर शाम को ढल ही जाता है,
पतझड़ बसंत में बदल ही जाता है,
मेरे मन मुसीबत में हिम्म~त मत हारना,
समय कैसा भी हो गुज़र ही जाता है।
~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~    
सोच को तुम अपनी ले जाओ शिखर तक;
कि उसके आगे सारे सि~तारे भी झुक जायें;
ना बनाओ अपने सफर को किसी कश्ती का मोहताज़;
चलो इस शान से कि तूफ़ान भी झुक जाये।
~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~      
ज़िन्दगी उसी को आ~जमाती है;
जो हर मोड़ पर चलना जानता है;
कुछ खोकर तो हर कोई मुस्कुराता है;
पर ज़िन्दगी उसी की है जो कुछ खोकर भी मुस्कुराना जानता है।
~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~  
जो सिरफिरे होते हैं इतिहास वही लिखते हैं,
समझदार लोग तो सिर्फ उनके बारे में पढते हैं,
परख अगर ही~रे की करनी है तो अंधेँरे का इंतज़ार करो,
वरना धूप में तो काँच के टुकडे भी चमकते हैं।
~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~      
खोकर पाने का मज़ा कुछ और ही है;
रोकर मुस्कुराने का मज़ा कुछ और ही है;
हार तो जिंदगी का हिस्सा है मेरे दोस्त;
हारने के बाद जीतने का मज़ा कुछ और ही है

~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~  
रोज़ - रोज़ गिर कर भी मुकम्मल खड़ा हूँ,
ऐ मुश्किलों देखो मैं तुमसे कितना बड़ा हूँ।
~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~      
स्वंय को ऐसा बनाओ जहाँ तुम हो, वहाँ तुम्हें सब प्यार करें,
जहाँ से तुम चले जाओ, वहाँ तुम्हें सब याद करें,
जहाँ तुम पहुँचने वाले हो, वहाँ सब तुम्हारा इंतज़ार करें।
~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~      
दीपक बोलता नहीं उसका प्र~काश परिचय देता है।
ठीक उसी प्रकार आप अपने बारे में कुछ न बोलें, अच्छे कर्म करते रहें बस वही आपका परिचय देंगे।
~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~    
मंजिल मिले ना मिले ये तो मुकद्दर की बात है,
हम कोशिश भी ना करें ये तो गलत बात है।
प्रे~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~    
कुछ कर गुजरने के लिए, मौसम नहीं मन चाहिए;
साधन सभी जुट जायेंगे, बस संकल्प का धन चाहिए।
~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~    
भरोसा "खुदा" पर है तो~ जो लिखा है तक़दीर में वही पाओगे,
भरोसा अगर "खुद" पर है तो खुदा वही लिखेगा जो आप चाहोगे।
~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~    
कोई लक्ष्य मनुष्य के साहस से बड़ा नहीं,
हारा वही जो कभी लड़ा नहीं।
~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~    
हौसला कम न होगा तेरा तूफानों के सामने,
मेहनत को इबादत में बद~ल कर देख;
खुद ब खुद हल होंगी ज़िन्दगी की मुश्किलें,
बस ख़ामोशी को सवालों में बदल कर तो देख।
~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~  
अवसरों की राह देखने वाले व्यक्ति साधारण होते हैं;
लेकिन असाधारण व्यक्ति अवसरों को जन्म देते हैं।
~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~    
मंजिल पर पहुँचना ~है तो कभी राह के काँटों से मत घबराना,
क्योंकि काँटे ही तो बढ़ाते हैं रफ़्तार हमारे क़दमों की।
~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~  
बहता पानी ही पत्थरों पर निशान छोड़ता है,
पर पत्थर पानी पर ~कोई निशान नहीं छोड़ता है,
इसलिए कहते हैं चलने का नाम ज़िन्दगी है।
~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~      
ज़िन्दगी बहुत कुछ सिखाती है;
कभी हँसती है तो कभी रुलाती है;
पर जो हर हाल में खु~श रहते हैं;
ज़िन्दगी उनके आगे सिर झुकाती है।
~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~  
बैठ जाता हूँ अक्सर मिट्टी पर क्योंकि मुझे अपनी औकात अच्छी लगती है;
मैंने समंदर से सीखा है जीने का सलीका चुपचाप से बहना और अपनी मौज में रहना।
~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~      
कोई साथ दे ना दे, तू चलना सीख ले;
हर आग से हो जा वाकिफ तू जलना सीख ले;
कोई रोक नहीं पायेगा ~बढ़ने से तुझे मंज़िल की तरफ;
हर मुश्किल का सामना करना तू सीख ले।
~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~    
सोच को अपनी ले जाओ तुम उस शिखर तक;
कि उसके आगे सारे सितारे भी झुक जाएं;
न बनाओ अपने सफ़र को किसी कश्ती का मोहताज़;
चलो इस शान से कि तूफ़ान भी झुक जाए।
~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~    
हथेली पर रखकर नसीब ~हर शख्स मुकद्दर ढूंढता है,
सीखो उस समंदर से जो टकराने के लिए हमेशा पत्थर ढूंढता है।
~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~      
हर दिन अपनी ज़िन्दगी को एक नया ख्वाब तो दो;
चाहे पूरा ना हो~ पर आवाज़ तो दो;
एक दिन पूरे हो जायेंगे सारे ख्वाब तुम्हारे;
सिर्फ कोशिश करके एक शुरुआत तो दो।
~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~    
जो हो गया उसे सोचा नहीं करते;
जो मिल गया उसे खोया नहीं करते;
होती है हासिल मं~ज़िल उन्हें;
जो वक़्त और हालात पर रोया नहीं करते।
~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~  
अगर पाना है मंज़िल तो ~अपना रहनुमा खुद बनो;
वो अक्सर भटक जाते हैं जिन्हें सहारा मिल जाता है।
~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~    
खुद पर भरोसा करना कोई परिंदो से सीखे,
क्योंकि शाम को जब वो घोंसलों में जाते हैं तो उनकी चोंच में कल के लिए कोई दाना नहीं होता।
~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~  

जब टूटने लगे हौंसला तो इतना याद रखना,
बिना मेहनत के कभी तख़्त-ओ-ताज हासिल नहीं होते;
ढूंढ लेते हैं जुगनू अंधेरों में भी मंज़िल;
क्योंकि जुगनू कभी रौशनी के मोहताज़ नहीं होते।
~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~    
पसीने की स्याही से जो लिखते हैं अपने इरादों को;
उनके मुक़द्दर के पन्ने कभी कोरे नहीं होते।
~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~  
मुश्किलें केवल बहतरीन लोगों के हिस्से में ही आती हैं,
क्योंकि वो लोग ही उसे बेह~तरीन तरीके से अंजाम देने की ताकत रखते हैं।
~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~      
यह ज़रूरी नहीं कि हर लड़ाई जीती ही जाए;
ज़रूरी तो यह है कि हर हार से कुछ सीखा जाए।
~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~    
ज़िन्दगी उसी को आजमाती है जो हर मोड़ पर चलना जानता है;
कुछ खोकर तो हर कोई मु~स्कुराता है पर ज़िन्दगी उसी की है,
जो कुछ खोकर भी मुस्कुराना जानता है।
~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~    
ज़िन्दगी जीने का मकसद~ खास होना चाहिए;
और अपने आप पर विश्वास होना चाहिए;
जीवन में खुशियों की कोई कमी नहीं होती;
बस जीने का अंदाज़ होना चाहिए।
~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~      
हर दर्द की एक पहचान होती है;
ख़ुशी चंद ल~म्हों की मेहमान होती है;
वही बदलते हैं रुख हवाओं का;
जिनके इरादों में जान होती है।
~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~  
नदी जब किनारा छोड़ देती है;
राह की चट्टानों को भी तोड़ देती है;
बात छोटी सी भी अगर चुभ जाये दिल में;
तो ज़िंदगी के रास्ते और दिशा बदल देती है।
~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~    
मंजिल पर पहुँचना है तो राह के काँटों से मत घबराना,
क्योंकि काँटे ही तो बढ़ा देते हैं रफ़्तार क़दमों की।
~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~      
यह ज़माना क्या सतायेगा हमको;
इसको हम सताकर दिखलायेंगे;
यह ज़माना क्या झुकायेगा हमको;
इसको हम झुका क~र दिखलायेंगे।

~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~  

दीपक तो अँधेरे में जला करते हैं;
फूल तो काँटो में खि~ करते हैं;
थक कर ना बैठ ऐ मंज़िल के मुसाफिर;
~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~  
हर जलते दिये तले अँधेरा होता है;
हर रात के पीछे एक सवेरा होता है;
लोग डर जाते हैं मु~श्किलों को देख कर;
पर हर मुश्किल के पीछे सफलता का सवेरा होता है।
~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~    
मंजिल इंसान के हौंसले आज़माती है;
सपनों के परदे आँखों से हटाती है;
किसी भी बात से हिम्म~त से ना हारना;
ठोकर ही इंसान को चलना सिखाती है।
~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~    
उम्मीदों की कश्ती ~को डुबोया नहीं करते;
मंज़िल हो अगर दूर तो रोया नहीं करते;
रखते हैं जो दिल में उम्मीद कुछ पाने की;
~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~      
पसीने की स्याही से जो लिखते हैं अपने इरादों को,
उनके मुक़द्दर के पन्ने कभी कोरे नहीं हुआ करते।
~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~    
क्यों तेरा सपना पूरा नहीं होता;
हिम्मत वालों ~का इरादा नहीं अधूरा होता;
जिस इंसान के होते हैं कर्म अच्छे;
उस के जीवन में कभी अँधेरा नहीं होता।
~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~    
कमजोर होते हैं वो लोग जो शिकवा किया करते हैं;
उगने वाले तो पत्थर का सीना चीर कर भी उगा करते हैं।
~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~  
रहने दे आसमान ज़मीन की तलाश कर;
सब कुछ यहीं है, ना कहीं और तलाश कर;
हर आरजू पूरी हो तो जीने का क्या मज़ा;
जीने के लिए बस वजह की तलाश कर।
~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~  
ज़िन्दगी उसी को आजमाती है;
जो हर मोड़ पर चल~ना जानता है;
कुछ खोकर तो हर कोई मुस्कुराता है;
पर ज़िन्दगी उसी की है जो कुछ खोकर भी मुस्कुराना जानता है।
~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~    
एक कोशिश और कर, बैठ न तू हार कर;
तू है पुजारी कर्म का, थो~ड़ा तो इंतज़ार कर;
विश्वास को दृढ़ बना, संकल्प को कृत बना;
एक कोशिश और कर, बैठ न तू हार कर।
~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~  


आसमान में न देखो अपने ~सपनों को;
सपनों के लिए ज़मीन की जरूरत होती है;
सब कुछ मिले ज़िन्दगी में तो जीने का क्या मज़ा;
जीने के लिए एक कमी की जरूरत भी जरूरी होती है।
~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~    
दुनियां का हर शौंक पाला नहीं जाता;
काँच के खिलौनों ~को उछाला नहीं जाता;
मेहनत करने से मुश्किलें हो जाती हैं आसान;
क्योंकि हर काम किस्मत पर टाला नहीं जाता।
~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~    
ज़िन्दगी से जो लम्हा मिले उसे चुरा लो;
ज़िन्दगी प्यार से अपनी सजा लो;
जिंदगी यूँ ही गुजर जाएगी;
बस कभी खुद हँसो कभी रोते हुए को हँसा लो।
~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~    
वक़्त से लड़कर जो नसीब बदल दे;
इंसान वही जो अपनी त~क़दीर बदल दे;
कल होगा क्या, कभी ना यह सोचो;
क्या पता कल खुद वक़्त अपनी तस्वीर बदल दे।
~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~    
ज़िन्दगी उसी को आ~जमाती है,
जो हर मोड़ पर चलना जानता है;
कुछ खोकर तो हर कोई मुस्कुराता है,
पर ज़िन्दगी उसी की है जो कुछ खोकर भी मुस्कुराना जानता है।
~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~    
बेहतर से बेहतर की तलाश करो;
मिल जाये नदी तो समंदर की तलाश करो;
टूट जाता है शीशा पत्थर~ की चोट से;
टूट जाये पत्थर कोई ऐसा शीशा तलाश करो।
~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~    
तारों में एक अकेला चाँद जगमगाता है;
मुश्किलों में अकेला ~इंसान ही डगमगाता है;
काँटों से कभी मत घबराना ऐ दोस्त;
क्योंकि काँटों में ही एक गु~लाब मुस्कुराता है।
~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~    
सीढ़ियाँ उनके लिए बनी हैं, जिन्हें छत पर जाना है,
लेकिन जिनकी नज़र, आसमान पर हो उन्हें तो रास्ता ख़ुद बनाना है।
~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~      
छाता बारिश को तो नहीं रोक सकता लेकिन बारिश में खड़े रहने का हौसला अवश्य देता है।
इसी प्रकार आत्म वि~श्वास सफलता की गारंटी तो नहीं देता लेकिन सफलता के लिए संघर्ष करने की प्रेरणा अवश्य देता है।
~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~    
ख़ुशी एक ऐसा एहसास है, जिसकी हर किसी को तलाश है;
ग़म एक ऐसा अनुभव है, जो सबके पास है;
मगर ज़िन्दगी को खुल कर तो वही जीता है;
जिसे खुद पर और अपने खुदा पर विश्वास है

~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~  
मायूस मत होना यह ए~क गुनाह होता है;
मिलता वही है जो किस्मत में लिखा होता है;
हर चीज़ मिले आसानी से यह ज़रूरी तो नहीं;
मुश्किलों के दौर में ही तो हिम्मत का पता चलता है।
~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~    
विकल्प मिलेंगे बहुत~, मार्ग भटकाने के लिए;
संकल्प एक ही काफी है मंज़िल तक जाने के लिए।
~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~  
ज़िंदगी में मुश्किलें तमाम हैं;
फिर भी लबों पे एक मुस्कान है;
क्योंकि जब जीना ~हर हाल में है;
तो मुस्कुरा कर जीने में क्या नुक्सान है।
~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~    
उबाल इतना भी ना हो कि खून सूख कर उड़ जाए;
धैर्य इतना भी ना हो कि, खून जमें तो फिर खौल ही ना पाए।
~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~      
अच्छी ज़िन्दगी जीने के~ दो तरीके हैं;
एक तो जो हासिल हुआ है उसे पसंद करना सीख लो;
या फिर जो पसंद है उसे हासिल करना सीख लो।
~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~  

कोई साथ दे ना दे, तू चलना सीख ले;
हर आग से हो जा वाकिफ तू जलना सीख ले;
कोई रोक नहीं पायेगा बढ़ने से तुझे मंज़िल की तरफ;
हर मुश्किल का सा~मना करना तू सीख ले।
~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~  
ताश के पत्तों से कभी महल नहीं बनता;
नदी को रोक लेने से कभी समंदर नहीं बनता;
बढ़ते रहो ज़िंदगी में ह~र पल किसी नयी दिशा की तरफ;
क्योंकि बस एक जंग जीतने से कोई सिकंदर नहीं बनता।
~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~  
खोकर पाने का मज़ा ही कुछ और है;
रोने के बाद मुस्कुराने का मज़ा ही कुछ और है;
हार तो जिंदगी का हिस्सा है मेरे दोस्त;
हारने के बाद जीतने का मज़ा ही कुछ और है।
~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~    
कोशिशों के बाद भी अगर कभी हो जाए हार;
होकर निराश ना बैठना मन को अपने मार;
बढ़ते रहना आगे सदा जैसा भी आ जाये समय;
क्योंकि पा लेती हैं मंज़िल चींटी भी गिर कर बार-बार।
~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~    
सोच को अपनी ले जाओ तुम शिखर तक;
कि उसके आगे सारे सितारे भी झु@क जाएं;
न बनाओ अपने सफ़र को किसी कश्ती का मोहताज़;
चलो इस शान से कि तूफ़ान भी झुक जाए

~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~  

ख़ुशी एक ऐसा एहसास है, जिसकी हर किसी को तलाश है;
ग़म एक ऐसा अनुभव है, जो सबके पास है;
मगर ज़िन्दगी तो वही जीता है, जिसको खुद पर विश्वास है।
~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~    
सामने हो मंजिल तो रास्ता ना मोड़ना;
जो मन में हो वो ख्वाब ना तोड़ना;
हर कदम पे मिलेगी कामयाबी तुम्हें;
बस सितारे छूने के लिए कभी ज़मीन ना छोड़ना।
~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~    
मायूस मत हो यह एक गुनाह होता है;
मिलता वही है जो किस्मत में लिखा होता है;
हर चीज़ मिले आसानी से यह ज़रूरी तो नहीं;
मुश्किलों के दौर में ही तो हिम्मत का पता चलता है।
~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~    
कुछ कर गुजरने के लिए मौसम नहीं मन चाहिए;
रास्ते तो अपने आप बन जायेंगे बस हौंसलों का धन चाहिए।
~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~      
कितनो की तकदीर बदलनी है तुम्हें;
कितनो को रास्ते पे लाना है तुम्हें;
अपने हाथों की लकीरों को मत देख;
इन लकीरों से बहुत आगे जाना है तुम्हें।
~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~  
हौंसलों को कर बुलंद रास्तों पर चल दे;
तुझे तेरा मुक़ाम मिल @जायेगा;
बढ़ कर आगे अकेला तू पहल कर;
देख कर तुझको काफिला खुद बन जायेगा।
~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~    
तेरा सपना क्यों नहीं पूरा होता;
हिम्मत वालों @का इरादा नहीं अधूरा होता;
जिस इंसान के होते हैं कर्म अच्छे;
उस के जीवन में कभी नहीं अँधेरा होता।
~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~  
हर दर्द की एक पहचान होती है;
ख़ुशी चंद लम्हों@ की मेहमान होती है;
वही बदलते हैं रुख हवाओं का;
जिनके इरादों में जान होती है।
~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~    
करे कोशिश अगर इंसा@न तो क्या-क्या नहीं मिलता;
वो सिर उठा के तो देखे जिसे रास्ता नहीं मिलता;
भले ही धूप हो, काँटे हों राहों में मगर चलना तो पड़ता है;
क्योंकि किसी प्यासे को घर बैठे कभी दरिया नहीं मिलता।
~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~  
यूँ ही नहीं मिलती मंज़िल राही को;
एक जूनून सा दिल में ज@गाना पड़ता है;
ऐसे ही नहीं बन जाते आशियाने परिंदो के;
भरनी पड़ती है उड़ान बार-बार, तिनका-तिनका उठाना पड़ता है

~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~  

खुद पर हो विश्वास और मन में हो आस्था;
फिर कितनी भी आ जायें बाधाएं, मिल ही जाता है रास्ता।
~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~    
अभी ना पूछो हमसे मं@ज़िल कहाँ है;
अभी तो हमने चलने का इरादा किया है;
ना हारे हैं, ना हारेंगे कभी;
यह किसी और से नहीं बल्कि खुद से वादा किया है।
~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~    
ताश के पत्तों से क@भी ताजमहल नहीं बनता;
नदी को रोकने से समंदर नहीं बनता;
लड़ते रहो ज़िंदगी से हर दिन हर पल क्योंकि;
सिर्फ एक बार जीतने से कोई सिकंदर नहीं बनता।
~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~    
ज़िन्दगी में मुश्किलें तमाम हैं;
फिर भी लबों पे ए@क मुस्कान है;
क्योंकि जब जीना हर हाल में है;
तो मुस्कुरा कर जीने में क्या नुक्सान है।
~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~  
क्यों डरना कि ज़िंदगी में क्या होगा;
हर वक़्त क्यों सोच@ना कि बुरा होगा;
बढ़ते रहो मंज़िल की तरफ हर दम;
कुछ ना मिला तो क्या हुआ, तज़ुर्बा तो नया होगा।
~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~      
बेहतर से बेहतर की तलाश करो;
मिल जाए नदी तो@ समंदर की तलाश करो;
टूट जाते हैं शीशे पत्थरों की चोट से;
टूट जाये पत्थर ऐसे शीशे की तलाश करो।
~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~    
हर मुश्किल के दो हल हैं;
1. भाग लो (उस@से भाग जाओ)
2. भाग लो (उसका सामना करो)
फैसला आपका है।
~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~    
जब टूटने लगे हौंसला तो बस यही याद रखना;
बिना मेहनत के कभी @तख्तो-ताज हासिल नहीं होते;
ढूंढ लेना अंधेरों में भी तुम मंज़िल अपनी;
क्योंकि जुगनू कभी रौशनी के मोहताज़ नहीं होते।
~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~    
तजुर्बे ने शेरों को खामोश रहना सिखाया;
क्योंकि दहाड़ कर शि@कार नहीं किया जाता;
कुत्ते भौंकते हैं अपने जिंदा होने का एहसास दिलाने के लिए;
मगऱ जंगल का सन्नाटा शेर की मौजूदगी बयाँ करता है।
~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~    
जीवन के हर पल को ख़ुशी से बिताओ;
आँसुओं को @कर जीवन से बाहर हर पल मुस्कुराओ;
लाख करे यह दुनिया तुम पर सितम;
छोड़ कर पीछे सभी मुश्किलें बस आगे ही बढ़ते जाओ

~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~  

जीवन में असली उड़ान अभी बाकी है;
हमारे इरादों का @इम्तिहान अभी बाकी है;
अभी तो नापी है सिर्फ मुट्ठी भर ज़मीन;
अभी तो सारा आसमान बाकी है।
~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~  
यह माना कि ज़िंदगी काँटों भरा सफर है;
इससे गुज़र जा@ना ही असली पहचान है;
बने बनाये रास्तों पर तो सब चलते हैं;
खुद रास्ते जो बनाये वही तो इंसान है।
~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~    
जियो इतना कि ज़िंदगी कम@ पड़ जाये;
हँसों इतना कि रोना मुश्किल हो जाये;
मंज़िल पर पहुँचना तो किस्मत की बात है;
मगर मंज़िल को चाहो इतना कि खुदा देने पर मज़बूर हो जाये।
~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~    
ज़िंदगी से ना रखो कभी कोई शिकायत तुम;
यह हँसने के देगी मौ@के हज़ारों तुम्हें;
मुक़ाबला करो हँसते हुए परेशानियों का;
अगर मुसीबत आये कोई ज़िंदगी में तुम्हें।
~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~      
सामने हो मंज़िल तो रास्ते ना मोड़ना;
जो भी मन में हो वो स~@पना ना तोडना;
कदम कदम पे मिलेगी मुश्किल सामने;
बस देख कर उन्हें तुम हौंसला मत छोड़ना।
~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~    
बढ़ते कदमो को ना रुकने दे ऐ मुसाफिर;
चाहे रास्ता हो क~ठिन और@ मंज़िल हो दूर;
चाहे ना मिले रास्ते में कोई हमसफ़र;
फिर भी झुकना नहीं और पा लेना लक्ष्य को करके बाधाएं सारी दूर।
~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~    
मुश्किल नहीं इस दुनिया में कुछ भी;
फिर भी ना जाने क्यों लोग अ@पनी डगर छोड़ देते हैं;
हो अगर हौंसला कुछ कर गुज़रने का ज़िंदगी में;
तो यह ज़मीन के पत्थर क्या आसमान के सितारे भी रास्ते से हट जाते हैं।
~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~    
जब भी कोई विपत्ति आती है@, कायर को ही दहलाती है;
सूरमा कभी नहीं विचलित होते, एक क्षण नहीं धीरज खोते;
विघ्नों को वो हैं गले लगाते, काँटों में भी अपनी राह हैं बनाते।
~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~  
वो खुद ही तय करते है मंज़िल आसमानों की;
परिंदों को नहीं दी जाती तालीम उड़ानों की;
रखते हैं जो हौंसला आ@समान छूने का;
उनको नहीं होती परवाह गिर जाने की।
~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~  
संघर्ष में आदमी अकेला होता है;
सफलता में दुनिया @उसके साथ होती है;
जब-जब जग उस पर हँसा है;
तब-तब उसी ने इतिहास रचा है
~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~

ऐ आसमान बता दे अपनी हदें;
मैं उनके पर जाना चाहता हूँ;
फांसले हों चाहे कितने भी बड़े;
हौंसलों से मैं उन्हें अपने मिटाना चाहता हूँ।
=======================================
वक़्त से लड़कर जो नसीब बदल दे;
इंसान वही जो अपनी तक़दीर बदल दे;
कल होगा क्या, ~कभी ना यह सोचो;
क्या पता कल खुद वक़्त अपनी तस्वीर बदल दे।
=======================================
जीत की चाहत का जुनून चाहिए;
उबाल हो जिसमे ऐसा खून चाहिए;
आ जायेगा यह आसमान भी जमीन पर;
बस इरादों में जीत की गूँज चाहिए।
=======================================
जो सफर की शुरुआत करते हैं;
वो ही मंज़िल को पार करते हैं;
एक बार चलने का हौंसला रखो;
मुसाफिरों का तो रास्ते भी इंतज़ार करते हैं।
=======================================
ज़िंदगी की हर उड़ान बाकी है;
हर मोड़ पर एक इम्तिहान बाकी है;
अभी तो तय किया है आधा सफर ज़िंदगी का;
बढ़ते ही रहना है हौंसले से मंज़िल की तरफ;
क्योंकि अभी तो मंज़िलों से आगे निकल जाना बाकी है।
=======================================
मंज़िल मिल ही जाएगी एक दिन भटकते भटकते ही सही;
गुमराह तो वो हैं जो डर के घर से निकलते ही नहीं;
खुशियां मिल जायेंगी एक दिन रोते रोते ही सही;
कमज़ोर दिल तो वो हैं जो हँसने की कभी सोचते ही नहीं।
=======================================
कोई साथ दे ना दे, चलना तू सीख ले;
हर आग से हो जा वाकिफ जलना तू सीख ले;
कोई रोक नहीं पायेगा बढ़ने से तुझे मंज़िल की तरफ;
हर मुश्किल का सामना करना तू बस सीख ले।
=======================================
पहाड़ चढ़ने का एक असूल है, झुक कर चढ़ो,
ज़िंदगी भी बस इत~ना ही मांगती है, अगर झुक कर चलोगे तो ऊंचाई तक पहुँच जाओगे।
=======================================
शाम सूरज को ढलना सिखाती है;
शमा परवाने को ज~लना सिखाती है;
गिरने वालो को तकलीफ़ तो होती है;
पर ठोकर ही इंसान को चलना सिखाती है।
=======================================
मुश्किलें ही हमारे इरादे आज़माती हैं;
ख्वाबों के परदे निगाहों से हटाती हैं;
हौंसला मत हार गिर कर ओ मुसाफिर;
ठोकरें ही तो इंसान को चलना सिखाती हैं
=======================================


मुश्किलों से भाग जाना आसान होता है;
ज़िंदगी में हर मो~ड़ पर एक इम्तिहान होता है;
डरने वालों को मिलता नहीं ज़िंदगी में कुछ भी;
लड़ने वालों के क़दमों में सारा जहान होता है।
=======================================  
ऐसा नहीं होगा कि रास्तों में रहमत नहीं होगी;
पैरों के तेरे चलने की आदत नहीं होगी;
अगर है कश्ती तो ना होगा किनारा कभी दूर;
तेरे इरादों में अगर जीतने की चाहत बची होगी।
=======================================
जो देख कर मुश्किलों को सामने घबराते नहीं;
रखते हैं भरोसा खुद पर हर काम के लिए रब के पास जाते नहीं;
होते हैं वही कामयाब ज़िंदगी के इस इम्तिहान में;
जो करते हैं हर मुश्किल का सामना और थक कर बैठ जाते नहीं।
=======================================  
कोशिशों के बाद भी अगर कभी हो जाये हार;
होकर निराश ना बैठना मन को अपने मार;
बढ़ते रहना आगे सदा जैसा भी आ जाये समय;
क्योंकि पा लेती हैं मंज़िल चींटी भी गिर कर बार-बार।
=======================================
ताश के पत्तों से कभी महल नहीं बनता;
नदी को रोक लेने से कभी समंदर नहीं बनता;
बढ़ते रहो ज़िंदगी में हर पल किसी नयी दिशा की ओर;
क्योंकि सिर्फ एक जंग जीतने से कोई सिकंदर नहीं बनता।
=======================================
मायूस मत होना यह एक गुनाह होता है;
मिलता वही है जो किस्मत में लिखा होता है;
हर चीज़ मिले आसानी से यह ज़रूरी तो नहीं;
मुश्किलों के दौर में ही तो हिम्मत का पता चलता है।
=======================================
ना कर आसमान की हसरत, ज़मीन की तलाश कर;
सब है यहीं कहीं और ना तू कुछ तलाश कर;
पूरी हो हर आरज़ू तो क्या मज़ा है जीने का;
अगर जीना है तो किसी हसीन वजह की तलाश कर।
=======================================
बुझने लगी हों आँखें तेरी, चाहे थमने लगे रफ़्तार;
उखड़ने लगी हों साँसे तेरी, दिल करता हो चित्कार;
दोष विधाता को ना देना,~ बस मन में रखना तुम अपने आस;
विजयी बनता है वही, जिसके पास हो आत्मविश्वास।
=======================================
तेरा सपना क्यों पूरा नहीं होता;
हिम्मत वालों ~का इरादा अधूरा नहीं होता;
जिस इंसान के होते हैं कर्म अच्छे;
उस के जीवन में कभी अँधेरा नहीं होता।
=======================================
करे कोशिश अगर इंसान तो क्या-क्या नहीं मिलता;
वो सिर उठा के~ तो देखे जिसे रास्ता नहीं मिलता;
भले ही धूप हो, काँटे हों राहों में मगर चलना तो पड़ता है;
क्योंकि किसी प्यासे को घर बैठे कभी दरिया नहीं मिलता

=======================================

हर कामयाबी पे तुम्हारा नाम होगा;
तुम्हारे हर कदम पे दुनिया का सलाम होगा;
डट कर करना सामना तुम मुश्किलों का;
एक दिन वक़्त भी तुम्हारा गुलाम होगा।
=======================================
हो कर मायूस न यूँ शाम से ढलते रहिए;
ज़िंदगी भोर है सूरज से निकलते रहिए;
एक ही पाँव पर ठहरोगे तो थक जाओगे;
धीरे-धीरे ही सही राह पर सदा चलते रहिए।
=======================================
जीत और हार आपकी सोच पर ही निर्भर करती है;
मान लो तो हार होगी और ठान लो जीत होगी।
=======================================
हौंसले बुलंद कर रास्तों पर चल दे;
तुझे तेरा मुक़ाम मिल जायेगा;
बढ़ कर आगे अके~ला तू पहल कर;
देख कर तुझको काफिला खुद बन जायेगा।
=======================================
दर्द में भी जो हँसना~ चाहो, तो हँस पाओगे;
टूटे फूलों को भी पानी में डालो, तो उनमें भी महक पाओगे;
ज़िंदगी किसी ठहराव में, कहीं रुकती नहीं;
हिम्मत जो करोगे तो मंज़िल खुद-ब-खुद पा जाओगे।
=======================================  
क्यों डरें कि ज़िंदगी में क्या होगा;
हर वक़्त क्यों सोचें कि बुरा होगा;
बढ़ते रहें मंज़िलों की ओर हम;
कुछ ना मिला तो क्या हुआ, तज़ुर्बा तो नया होगा।
=======================================
मुश्किल इस दुनिया में कुछ भी नहीं;
फिर भी लोग अपने इरादे तोड़ देते हैं;
अगर सच्चे दिल से हो ~चाहत कुछ पाने की;
तो रास्ते के पत्थर भी अपनी जगह छोड़ देते हैं।
=======================================  
खुशियां मिल ही जाएँगी एक दिन रोते-रोते ही सही;
कमज़ोर दिल~ के हैं वो लोग जो हँसने की सोचते ही नहीं;
पूरे होंगे हर वो ख्वाब जो देखे हैं अँधेरी रातों में;
ना समझ हैं वो जो डर से पूरी रात सोते ही नहीं।
=======================================
ये राहें ले ही जाएँगी मंज़िल तक बस हौंसला रख;
क्या कभी अँधेरे भी रोक पाये हैं कभी रास्ता उजाले का।
=======================================  
नदी की धार के विपरीत जा कर देखिये;
ज़िंदगी को कभी आज़मा कर तो देखिये;
आँधियाँ खुद ब खुद मोड़ लेंगी अपना रास्ता;
आँधियों में कभी दीपक जलाकर तो देखिये

=======================================
असफलता एक चुनौती है इसे स्वीकार करो;
क्या कमी रह गयी है, उसे देखो और सुधार करो;
जब तक न हो सफल, नींद-चैन को तुम त्याग दो;
संघर्ष करो आखिरी दम तक यूँ न मैदान छोड़ कर तुम भाग जाओ।
=======================================  
जीवन मैं एक बार जो फैसला कर लो,
तो बस आगे ही बढ़ते रहना;
कभी फिर पीछे मुड़कर मत देखना;
क्योंकि पलट कर देखने वाले इतिहास नहीं बनाते।
=======================================
इंसान ने वक़्त से पूछा, "मै हार क्यों जाता हूँ?"
वक़्त ने कहा, "धूप हो या छाँव हो, काली रात हो या बरसात हो;
चाहे कितने भी बु~रे हालात हो, मै हर वक़्त चलता रहता हूँ,
इसीलिये मैं जीत जाता हूँ, तू भी मेरे साथ चल तो कभी नहीं हारेगा।
=======================================
आज बादलों ने फिर साज़िश की;
जहाँ मेरा था घर वहीँ बारिश की;
अगर फलक को ज़िद्द है बिजलियाँ गिराने की;
तो हमें भी ज़िद्द है वहीं आशियाना बनाने की।
=======================================
जब टूटने लगे हौंसले तो बस यही याद रखना;
बिना मेहनत के कोई तख्तो-ताज हासिल नहीं होते;
ढूंढ लेना अंधेरों में मंज़िल अपनी;
क्योंकि जुगनू कभी रौशनी के मोहताज़ नहीं होते।
प्रे=======================================  
जीवन सौंदर्य से भरपूर है, इसे देखें,
महसूस करें, इसे पूरी तरह से जियें
और अपने सपनों की पूर्ति के लिए पूरी तरह से कोशिश करें।
=======================================
उमीदों को तू न तोडना, न हौंसले तू अब छोड़ना;
जब हो राह ~कठिन और रात घनी;
चाहे जो हो तो न रुकना, मंज़िल से तुम मुंह न मोड़ना।
=======================================
बेहतर से बेहतर की तलाश करो;
मिल जाये नदी तो समंदर की तलाश करो;
टूट जाते हैं शी~शे पत्थरों की चोट से;
टूट जाये पत्थर ऐसे शीशे की तलाश करो।
=======================================  
भूल होना 'प्रकृति' है;
उसे मान लेना 'संस्कृति' है;
और भूल को सुधार लेना 'प्रगति' है।
=======================================
मंजिल उन्ही को मिलती है जिनके सपनो में जान होती है;
पंखो से कुछ नहीं होता हौसलों से ही उड़ान होती है

=======================================

उमीदों की कश्ती को डुबोया नहीं करते;
मंज़िल दूर हो तो थक कर रोया नहीं करते;
रखते हैं जो दिल में उमीद कुछ पाने की;
वो लोग ज़िंदगी में कुछ खोया नहीं करते।
=======================================
ज़िंदगी जीना आसान नहीं होता;
बिना संघर्ष के ~कोई महान नहीं होता;
जब तक न पड़े हथौड़े की चोट;
पत्थर भी भगवान नहीं होता।
=======================================  
मुश्किल इस दुनिया में कुछ भी नहीं;
फिर भी लोग अ~पने इरादे तोड़ देते हैं;
अगर सच्चे दिल से हो चाहत कुछ पाने की;
तो सितारे भी अपनी जगह छोड़ देते हैं।
=======================================
दुनिया का हर शौंक पाला नहीं जाता;
कांच के खिलौनों को उछाला नहीं जाता;
मेहनत करने से हो जाती हैं मुश्किलें आसान;
क्योंकि हर काम तक़दीर पर टाला नहीं जाता।
=======================================  
सपने और ~लक्ष्य में एक होता है;
सपने के लिए बिना मेहनत नींद चाहिए और लक्ष्य के लिए बिना नींद की मेहनत।
=======================================
जियो इतना कि ज़िंदगी कम पड़ जाये;
हँसों इतना कि~ रोना मुश्किल हो जाये;
ज़िन्दगी में कुछ पाना तो किस्मत की बात है;
मगर उसे चाहो इतना कि भगवान देने को मज़बूर हो जाये।
=======================================
सपने वो सच नही होते जो सोते हुए देखे जाते हैं;
सपने तो वो सच होते हैं जिनके लिए आप सोना छोड़ देते हैं।
=======================================
पलकों पे आँसुओं को कभी सजाना नहीं चाहिए;
हर ज़ख़्म भरने के लिए दवा नहीं चाहिए;
राहों को मंज़िलों से कभी दूर नहीं कर पाओगे;
मुश्किलों को देख कभी हार मान बैठ जाना नहीं चाहिए।
=======================================
नींद नहीं बदलती बस सपने बस सपने बदल जाते हैं;
मंज़िलें नहीं बदलती बस रास्ते बदल जाते हैं;
जगा लो जज़्बा जीतने का दिल में;
क्योंकि कोशिश करने से तो वक़्त बदल जाते हैं।
=======================================
कल का दिन किसने देखा है;
आज की दिन भी खोयें क्यों;
जिन घड़ियों में हँ~स सकते हैं;
उन घड़ियों में फिर रोये क्यों।

=======================================

दीपक तो अँधेरे में ही जला करते हैं;
फूल तो काँटो में ही खिला करते हैं;
थक कर ना बैठ ऐ मंज़िल के मुसाफिर;
हीरे तो अक्सर~ कोयले में ही मिला करते हैं।
=======================================
नदी जब किनारा छोड़ देती है;
राह की चट्टानों को भी तोड़ देती है;
बात छोटी सी भी अगर चुभ जाये दिल में;
तो ज़िंदगी के रास्ते और दिशा बदल देती है।
=======================================
हर जलते दीपक तले अँधेरा होता है;
हर रात के बाद सवेरा होता है;
लोग डर जाते हैं मुसीबतों को देखकर;
पर मुसीबतों के बाद ही तो कामयाबी का सवेरा होता है।
=======================================  
मांगो तो अपने रब से मांगो;
जो दे तो रहमत और न दे तो किस्मत;
लेकिन दुनिया से हरगिज़ मत माँगना;
क्योंकि दे तो एहसान और न दे तो शर्मिंदगी।
=======================================
मेरी मंज़िल मेरे करीब है;
इसका मुझे ए~हसास है;
गुमान नहीं मुझे इरादों प अपने;
ये मेरी सोच और हौंसलों का विश्वास है।
प्रे=======================================
तजुर्बे ने शेरों को खामोश रहना सिखाया;
क्योंकि दहाड़ क~र शिकार नहीं किया जाता;
कुत्ते भोंकते हैं अपने जिंदा होने का एहसास दिलाने के लिए;
मगऱ जंगल का सन्नाटा शेर की मौजूदगी बंयाँ करता है।
=======================================  
खुद पर विश्वास और कर्म पर हो आस्था;
फिर कितनी ही आ जायें मुश्किलें मिल ही जाता है रास्ता।
=======================================  
ख़्वाहिशों से नहीं गिरते महज़ फूल झोली में;
कर्म की शाख को हिलाना पड़ता है;
न होगा कुछ कोसने से अंधेरें को;
अपने हिस्से का 'दिया' खुद ही जलाना होगा।
=======================================  
हर कामयाबी पे आपका नाम होगा;
आपके हर कदम पे दुनिया का सलाम होगा;
मुश्किलों का सामना ~हिम्मत से करना;
तो देखना एक दिन वक़्त भी आपका ग़ुलाम होगा।
=======================================  
क्यों डरें कि ज़िंदगी में क्या होगा;
हर वक़्त क्यों सोचें कि बुरा होगा;
बढ़ते रहें मंज़ि~लों की ओर हम;
कुछ ना भी मिला तो क्या तज़ुर्बा तो नया होगा

=======================================

नदी की धार के विपरीत जाकर देखिये;
हिम्मत को हर मुश्किल में आज़मा कर देखिये;
आँधियाँ खुद मोड़ लेंगी अपना रास्ता;
एक बार कोशिश करके दीपक जला कर तो देखिये।
=======================================  
यह ज़माना क्या सता सकेगा हमको;
इसको हम सताकर दिखलायेंगे;
यह ज़माना क्या ~झुका सकेगा हमको;
इसको हम झुका कर दिखलायेंगे।
=======================================
खुशियां बटोरते बटोरते उमर गुजर गई पर खुश ना हो सके;
एक दिन एहसास हुआ खुश तो वो लोग थे जो खुशियां बांट रहे थे।
=======================================  
गुज़री हुई ज़िंदगी को कभी याद ना कर;
तक़दीर में जो लि~खा है उस की फरियाद ना कर;
जो होना है वो हो कर ही रहेगा;
फ़िक्र में तू अपनी हँसी बर्बाद ना कर
=======================================
कामयाबी के भी कुछ असूल होते हैं;
बुझदिलों के नखरे तो फ़िज़ूल होते हैं;
रखते नहीं जो पाबंध खुद को वक़्त के साथ;
वो ज़िन्दगी की दौड़ में राख और धूल होते हैं।
=======================================  
खुशियां मिलती नहीं मांगने से;
मंज़िल मिलती नहीं राह पर रुक जाने से;
भरोसा रखना खुद प~र और उस खुदा पर;
सब कुछ देता है वो सही समय आने पर।
=======================================
अपने हौंसले को यह मत बताओ कि तुम्हारी तकलीफ कितनी बड़ी है;
अपनी तकलीफ को~ यह बताओ कि तुम्हारा हौंसला कितना बड़ा है।
=======================================
ज़िंदगी हसीन है इससे प्यार करो;
हर रात की नयी सुब~ह का इंतज़ार करो;
वो पल भी आयेगा जिसका है इंतज़ार तुम्हें;
बस अपने रब पर भरोसा और वक़्त पर ऐतबार करो।
प्रे=======================================  
ज़िंदगी जब भी रुलाये तो;
इतना मुस्कुराओ कि दर्द भी शर्माने लगे;
निकले ना आंसू आँखों से कभी;
किस्मत भी मज़बूर होकर आपको हँसाने लगे।
=======================================
हालात के कदमों पर सिकंदर नहीं झुकता;
टूटे भी तर तो ज़मीन पर नहीं गिरता;
गिरती है बड़े शौंक से समंदर में नदियां;
कभी किसी नदी में समंदर नहीं गिरता

=======================================

बुझी शमा भी जल सकती है;
तूफानों से कश्ती भी~ निकल सकती है;
होकर मायूस ना यूँ अपने इरादे बदल;
तेरी किस्मत कभी भी खुल सकती है।
=======================================
गुज़री हुई ज़िंदगी को कभी याद ना कर;
तक़दीर में जो लिखा है~ उसकी फरियाद ना कर;
जो होना है वो होकर ही रहेगा;
तू कल की फ़िक्र में अपनी आज की ख़ुशी बर्बाद ना कर।
=======================================
कोशिशों के बाद भी अगर हो जाती है कभी हार;
होकर निराश मत बैठना, मन को अपने मार;
बढ़ते रहना आगे सदा हो जैसा भी ये मौसम;
पा लेती है मंज़िल~ चींटी भी गिर-गिर कर हर बार।
=======================================
रेहमत खुदा की तेरी चौखट पे बरसती नज़र आये;
हर लम्हा तेरी तक़दीर संवरती नज़र आये;
बिन मांगे तुझे मि~ले तू जो चाहे;
कर कुछ ऐसा काम कि दुआ खुद तेरे हाथों को तरसती नज़र आये।
=======================================
कह दो मुश्किलों से थोड़ा और कठिन हो जायें;
कह दो चुनौतियों से थोड़ा और कठिन हो जायें;
नापना चाहते हो अगर हमारी हिम्मत को तो;
कह दो आसमान से थोड़ा और ऊपर हो जाये।
=======================================
ज़िंदगी बड़ी अजीब होती है;
कभी हार तो कभी जीत होती है;
तमन्ना रखो समंदर की गहराई को छूने की;
किनारों पर तो सिर्फ शुरुआत होती है।
=======================================
हर पल पे तेरा ही नाम होगा:
तेरे हर कदम पे दुनिया का सलाम होगा;
मुश्किलों का सामना हिम्मत से करना;
देखना एक दिन वक़्त भी तेरा ग़ुलाम होगा।
=======================================
मुश्किलें दिल के इरादे आजमाती हैं;
ख्वाबों के परदे निगाहों से हटाती हैं;
हौंसला मत हार गिर कर ओ मुसाफिर;
ठोकरें ही तो इंसान को चलना सिखाती हैं।
=======================================  
जमीं से जुड़कर आसमां की बात करो;
ख्वाब नहीं हक़ीक़त से मुलाक़ात करो;
तूफ़ान से डरते हैं बुझदिल यारो;
शेर-दिल बन कर मुसीबत से दो-दो हाथ करो।
=======================================
तनहा बैठ न देख हाथों की लकीरें अपनी;
उठ बाँध कमर और लिख दे खुद तक़दीर अपनी

=======================================

छाता बारिश को तो नहीं रोक ~सकता पर बारिश में खड़े रहने का हौंसला ज़रूर देता है;
इसी तरह आत्मविश्वास सफलता की गारंटी तो नहीं देता पर सफलता के लिए संघर्ष करने के लिए प्रेरणा अवश्य देता है।
=======================================
खोकर पाने का मज़ा ही कुछ और है;
रोकर मुस्कुराने का म~ ही कुछ और है;
हार तो ज़िंदगी का हिस्सा है मेरे दोस्त;
हारने के बाद जीतने का मज़ा ही कुछ और है।
=======================================  
साहिल जो समझ ले मौजों को;
फिर क्या ख़ौफ़ उसे तूफानों से;
मर कर ही तो जीना है;
यह सीख लिया परवानो से।
=======================================
हर जलते दीपक तले अँधेरा होता है;
हर रात के पीछे एक सवेरा होता है;
लोग डर जाते हैं मुश्किलों को देख कर;
पर हर मुश्किल के पीछे सफलता का सवेरा होता है।
=======================================  
हो कर मायूस न यूँ शाम से ढलते रहिये;
ज़िन्दगी भोर है सूरज से निकलते रहिये;
एक ही पाँव पर ठहरोगे तो थक जाओगे;
धीरे-धीरे ही सही राह पर चलते रहिये।
=======================================  
ऐ आसमां अपनी हदें बता~ मैं सके पार जाना चाहता हूँ;
फांसले कितने भी बड़े हों मैं उन्हें मिटाना चाहता हूँ।
=======================================
अगर सीखना है दिये से तो जलना नहीं मुस्कुराना सीखो;
अगर सीखना है सू~रज से तो डूबना नहीं रौशनी फैलाना सीखो;
अगर पहुँचना हो शिखर पर तो;
रास्ते पर चलना नहीं, रास्ते बनाना सीखो।
=======================================
ना कर आसमान की हसरत ज़मीन की तालाश कर;
सब है यहीं कहीं और ना इसकी आस कर;
पूरी हो अगर हर आरज़ू तो क्या मज़ा है;
अगर जीना है तो एक हसीन वजह की तालाश कर।
=======================================  
ख्वाहिश ऐसी करो कि आसमान तक जा सको;
दुआ ऐसी करो कि ख़ुदा को पा सको;
यूँ तो जीने के लिए पल बहुत कम हैं;
जियो ऐसे कि हर पल में ज़िंदगी पा सको।
=======================================
जो हो गया उसे सोचा नहीं करते;
जो मिल गया उसे खोया नहीं करते;
हासिल उन्हे होती~ है मंज़िल;
जो वक़्त और हालात पर रोया नहीं करते
=======================================

निगाहों में मंज़िल थी;
गिरे और गिर ~कर संभलते रहे;
हवाओं ने बहुत कोशिश की;
मगर चिराग आंधियों में भी जलते रहे।
=======================================
दुनिया का हर शौंक पाला नहीं जाता;
कांच के खिलौनों को उछाला नहीं जाता;
मेहनत करने~ से हो जाती है हर मुश्किल आसान;
क्योंकि हर काम तक़दीर पर टाला नहीं जाता।
=======================================  
मंज़िले इंसान के हौंसले आज़माती हैं;
सपनों के परदे आँखों से हटाती हैं;
तू हिम्मत मत हारना ऐ दोस्त;
क्योंकि ठोकरें ही तू इंसान को चलना सिखाती हैं।
=======================================
जो सफर की शुरुआत करते हैं;
वो मंज़िल को ~पार करते हैं;
एक बार चलने का हौंसला रखो;
मुसाफिरों का तो रास्ते भी इंतज़ार करते हैं।
=======================================
तूफ़ान में कभी ताश का घर बनता;
रोने से कभी बिगड़ा मुक़द्दर नहीं संवरता;
दुनिया को जीतने का हौंसला रखो;
एक बार हारने से ~कोई फ़क़ीर नहीं बनता;
एक बार जीतने से कोई सिकंदर नहीं बनता।
=======================================
तारों में अकेला चाँद जगमगाता है;
मुश्किलों में अकेला इंसान डगमगाता है;
काँटों से मत घबराना मेरे दोस्त;
=======================================
हर दर्द की पहचान होती है;
ख़ुशी चंद लम्हों की मेहमान होती है;
वही बदलते हैं रुख हवाओं का;
जिनके इरादों में जान होती हैं।
=======================================  
आ छू ले आसमान को, ज़मीन की तू आस न कर;
हँसते हुए जी ले ये ज़िन्दगी, खुशियों की तू तलाश न कर;
ग़मों को कर दे दूर तेरी किस्मत भी बदलेगी;
सीख ले तू मुस्कुराना, हारने की तू परवाह न कर।
=======================================  
हर दर्द की एक पह~चान होती है;
ख़ुशी चंद लम्हों की मेहमान होती है;
वही बदलते हैं रुख हवाओं का;
जिनके इरादों में जान होती है।
=======================================  
अपने ग़मों की तू नुमाईश न कर;
अपने नसीब की यूँ आज़माईश न कर;
जो तेरा है वो खुद ते~रे दर पर चल कर आएगा;
रोज़ उसे पाने की ख्वाहिश न कर।

=======================================

काम करो ऐसा कि पहचान बन जाये;
हर कदम चलो ऐसे कि निशान बन जायें;
यह जिंदगी तो सब काट लेते हैं;
जिंदगी ऐसे जियो कि मिसाल बन जाये।
=======================================
आँधियों को ज़िद्द है जहाँ बिजलियाँ गिराने की;
मुझे भी ज़िद्द है वही आशियाँ बसाने की;
हिम्मत और हौंसले बुलंद हैं, खड़ा हूँ अभी गिरा नहीं हूँ;
अभी जंग बाकी है और मैं भी अभी हारा नहीं हूँ।
=======================================  
निगाहों में मंज़िल थी, गिरे और गिर कर संभलते रहे;
कोशिश की हवाओं ने बहुत, मगर चिराग़ हिम्मत के आंधियों में भी जलते रहे।
=======================================
सामने हो मंज़िल तो रास्ते न मोड़ना;
जो भी मन में हों वो सपने न तोडना;
क़दम -क़दम पे मिलेगी मुश्किल आपको ;
बस सितारे चुनने के लिए कभी ज़मीन मत छोड़ना।
=======================================  
रख हौंसला वो मंज़र भी आएगा;
प्यासे के पास चल के समंदर भी आएगा;
थक कर न बैठ मंज़िल के मुसाफिर;
मंज़िल भी मिलेगी और मिलने का मज़ा भी आएगा।
=======================================  
दो अक्षर का शब्द है 'लक';
ढाई अक्षर का शब्द है 'भाग्य';
तीन अक्षर का शब्द~ है 'नसीब';
साढ़े तीन अक्षर का शब्द है 'किस्मत';
मगर ये चारों के चारों चार अक्षर के शब्द 'मेहनत' के सामने छोटे होते हैं।
=======================================  
परिंदों को नहीं दी जाती तालीम उड़ानों की;
वो खुद ही तय करते ~हैं मंजिल आसमानों की;
रखते हैं जो हौसला आसमानों को छूने का;
उनको नहीं होती परवाह गिर जाने की।
=======================================
ख़्वाहिशों से नहीं गिरते महज़ फूल झोली में, कर्म की शाख को हिलाना होगा;
न होगा कुछ कोसने से अंधेरें को, अपने हिस्से का दिया खुद ही जलाना होगा।
=======================================  
ग़म न कर ज़िंदगी बहुत बड़ी है;
चाहत की महफ़िल तेरे ~लिए सजी है;
बस एक बार मुस्कुरा कर तो देख;
तक़दीर खुद तुझसे मिलने बाहर खड़ी है।
=======================================
रख हौंसला मंज़र भी ~आएगा;
प्यासे के पास चल के समंदर भी आएगा;
थक कर न बैठ ए मंज़िल के मुसाफिर;
मंज़िल भी मिलेगी और मिलने का मज़ा भी आएगा
=======================================

एक सफल व्यक्ति बनने की ~कोशिश मत करो, बल्कि मूल्यों पर चलने वाले व्यक्ति बनो।
=======================================
जो हो गया उसे सोचा नहीं करते;
जो मिल गया उसे खोया नहीं करते;
होती है हासिल मंज़िल उन्हें;
जो वक़्त और हाला~त पर रोया नहीं करते।
=======================================
ख़्वाहिशों से नहीं गिरते महज़ फूल झोली मे;
कर्म की शाख को हिलाना होगा;
न होगा कुछ कोसने से~ अंधेरे को;
अपने हिस्से का दिया खुद ही जलाना होगा।
=======================================  
न संघर्ष न तकलीफ, तो क्या मज़ा है जीने में;
बड़े-बड़े तूफ़ान थम जाते हैं जब आग लगी हो सीने में।
=======================================  
किस्मत में लिखी हर मुश्किल टल जाती है;
यदि हो बुलंद हौसले~ तो मंज़िल मिल ही जाती है;
सिर उठा कर यदि आसमान को देखोगे बार-बार;
तो गगन को छूने की प्रेरणा मिल ही जाती है।
=======================================  
आसानी से कुछ न मिले तो उदास मत होना;
मिल जायेगा सब तो फिर कोशिश क्या करोगे;
सपने सब हकीकत नहीं होते;
अगर होंगे सब हक़ीक़त तो फिर कहाँ देखोगे।
=======================================  
जीत की खातिर बस जूनून चाहिए;
जिसमे उबाल हो ऐसा खून चाहिए;
ये आसमां भी आयेगा ज़मीं पर;
बस इरादों में जीत की गूंज चाहिए।
=======================================  
वक़्त से लड़ कर अपना नसीब बदल दे;
इंसान वही जो अपनी तक़दीर बदल दे;
कल क्या होगा उसकी ~कभी ना सोचो;
क्या पता कल वक़्त खुद अपनी लकीर बदल दे।
=======================================  
परेशानियों से भागना आसान होता है;
मुश्किलें ज़िन्दगी में ~एक इम्तिहान होता है;
हिम्मत हारने वाले को कुछ नहीं मिलता ज़िन्दगी में;
लड़ने वालों के क़दमों में ही तो सारा जहान होता है।
=======================================
कोई इतना अमीर नहीं होता कि वो अपना गुज़ारा हुआ कल खरीद सके,
और कोई इतना भी गरीब नही होता कि~ वो अपना आने वाला कल न बदल सके

=======================================

मैं शुक्रगुज़ार हूँ उन तमा~म लोगों का जिन्होंने बुरे वक़्त में मेरा साथ छोड़ दिया था;
क्योंकि उन्हें भरोसा था कि मैं मुसीबतों से अकेले ही निपट लूंगा।
=======================================
तन्हा बैठकर ना देख हाथों की लकीरें अपनी;
उठ बाँध कमर और लिख दे खुद तक़दीर अपनी।
=======================================
कड़ी से कड़ी जोड़ते जाओ तो जंजीर बन जाती है;
मेहनत पे मेहनत करते~ रहो तो तक़दीर बन जाती है।
=======================================
जीत और हार आपकी सोच पर ही निर्भर करती है।
मान लो तो हार होगी, ठान लो तो जीत होगी।
=======================================  
ज़िंदगी हर पल ढलती है;
जैसे रेत मुट्ठी से फिसलती है;
कितने भी गम हो हर ~ल में हँसते रहना;
क्योंकि ये ज़िंदगी ठोकरों से ही संभलती है।
=======================================  
कभी उसको नज़र अंदाज़ ना करो जो ~तुम्हारी बहुत परवाह करता हो;
वरना किसी दिन तुम्हें एहसास होगा कि पत्थर जमा करते-करते तुमने हीरा गवा दिया।
=======================================  
एक प्यारी सोच:
किसी से उम्मीद किए बिना उसका अच्छा ~करो, क्योंकि किसी ने कहा है, "कि जो लोग फूल बेचते हैं उनके हाथ में खुश्बू अक्सर रह जाती है।"
=======================================
दुनियां का हर शौंक पाला नहीं जाता;
कांच के खिलौनों को~ उछाला नहीं जाता;
मेहनत करने से मुश्किलें हो जाती हैं आसान;
क्योंकि हर काम तक्दीरों पर टाला नहीं जाता।
=======================================
जीवन में सबसे बड़ी ख़ुशी उस काम को करने में है, जिसे लोग कहते हैं कि तुम नहीं कर सकते हो।
प्रेरणादायक  
पूरे विश्वास से अपने सपनों की ओर बढ़ो, वही ज़िंदगी जियो जिसकी आप कल्पना करते हो।

=======================================

अपनी उम्र और पैसों पर कभी घमंड म~त करना क्योंकि जो चीज़ें गिनी जा सकें वो यक़ीनन ख़त्म हो जाती हैं।
=======================================  
उम्मीदों की कश्ती को डुबोया नहीं करते;
मंज़िल दूर हो तो रोया नहीं करते;
रखते हैं जो दिल में उम्मी~द कुछ पाने की;
वो लोग जीवन में कुछ खोया नहीं करते।
=======================================  
उठो, जागो और उस समय तक ना रुको, जब तक लक्षय प्राप्त ना हो जाए।
=======================================  
अगर कोई आपको नज़रअंदाज़ करता है तो बुरा महसूस मत करो, क्योंकि लोग अक्सर मूल्यवान चीज़ों को ही नज़रअंदाज़ करते हैं।
=======================================
मौत सिर्फ नाम से बदनाम है, वरना तकलीफ़ तो जिंदगी ही ज्यादा देती है;
और बीवी भी सिर्फ नाम से बदनाम है, वरना तकलीफ़ में सिर्फ वही साथ देती है।
=======================================
दर्द कैसा भी हो आंख नम न करो,~ रात काली सही कोई गम न करो, एक सितारा बनो जगमगाते रहो, जिंदगी में सदा मुस्कुराते रहो।
=======================================
जिन्हें सपने देखना ~अच्छा लगता है;
उनको रात छोटी लगती है;
और
जिनको सपने पूरे करना अच्छा लगता है;
उनको ज़िंदगी छोटी लगती है।
=======================================  
कभी ना गिरना कमाल नहीं, बल्कि गि~र कर संभल जाना कमाल है;
किसी को पा लेना मोहब्बत नहीं, बल्कि किसी के दिल में जगह बनाना कमाल है।
=======================================
कभी उसको नज़र अंदाज़ ना करो जो तुम्हारी~ बहुत परवाह करता हो;
वरना किसी दिन तुम्हें एहसास होगा कि पत्थर जमा करते-करते तुम ने हीरा गवा दिया।
=======================================
जिस को तुम चाहो;
उसको कभी ~अज़माना मत;
क्योंकि अगर वो बेवफा भी निकला;
तो दिल तुम्हारा ही टूटेगा।
=======================================

अगर कोई आप पर आँख बंद ~करके भरोसा करे;
तो आप उसे एहसास मत दिलाओ कि वह सचमुच अँधा है।
=======================================  
रोये हैं बहुत तब ज़रा करार मिला है;
इस जहां में कि~से भला सच्चा प्यार मिला है;
गुज़र रही है ज़िंदगी इम्तिहान के दौर से;
एक ख़त्म हुआ तो दूसरा तैयार मिला हैं।
=======================================
काम करो ऐसा कि पहचान बन जाए;
हर कदम ऐसा चलो कि निशान बन जाए;
यहाँ ज़िंदगी तो~ सभी काट लेते हैं;
ज़िंदगी जियो ऐसी कि मिसाल बन जाए।
=======================================
नदी जब किनारा छोड़ देती हैं;
राह की चट्टान तक तोड़ देती हैं;
बात छोटी सी अगर चुभ जाती है दिल में;
ज़िंदगी के रास्तों को मोड़ देती हैं!
=======================================  
गुज़री हुई ज़िंदगी को कभी याद ना कर;
तक़दीर में जो लिखा है उस की फ़रियाद ना कर;
जो होगा वो हो कर रहेगा;
तू फ़िक्र में अपनी हँसी बर्बाद ना कर
=======================================  
अपनी ज़िंदगी खुद बनाई जाती है;
दूसरों को ये काम ना~ दो;
प्यार निभाने में कमी रह जाती है;
लकीरों को इलज़ाम ना दो।
=======================================
डाली पर बैठे हुए~ परिंदे को पता है कि डाली कमज़ोर है;
फ़िर भी वह उस डाली पर है;
क्यों?
क्योंकि उसको डाली से ज्यादा अपने पँख पर भरोसा है।
=======================================  
इंसान कहता है अगर पै~सा हो तो मैं कुछ कर के दिखाऊं;
और पैसा कहता है कि तू कुछ कर के दिखा तो मैं आऊं।
=======================================  
पानी से तस्वीर कहाँ बनती है;
ख़्वाबों से तक़दीर कहाँ बनती है;
किसी को चाहो तो सच्चे दिल से;
क्योंकि ये ज़िंदगी~ फिर कहाँ मिलती है।
=======================================
मेरी मंज़िल मेरे करीब है;
इसका मुझे एहसास है;
गुमां नहीं मुझे इरादों पे अपने;
ये मेरी सोच और हौंसलों का विश्वास है
=======================================

भूख रिश्तों को भी लगती है;
प्यार कभी~ परोस कर तो देखिए।
=======================================  
भगवान कहते हैं, उदास मत होना;
क्योंकि मैं तेरे साथ हूँ;
सामने नहीं~ पर आसपास हूँ;
पलकों को बंद कर दिल से याद करना;
मैं और कोई नहीं तेरा आत्मविश्वास हूँ।
=======================================
अपनी ज़ुबान से इतने मीठे शब्द बोलो कि अगर कभी वापिस लेने पड़े तो खुद को कड़वे ना लगें।
प्रेरणादायक  
प्रार्थना ऐसे करनी चाहिए जैसे की सब कुछ ईश्वर पर ही निर्भर है;
और काम ऐसे करना चाहिए जैसे की सब कुछ हम पर ही निर्भर है।
प्रे======================================= 
फूल बनकर मुस्कुराना ज़िंदगी है;
मुस्कुरा के ग़म भुलाना ज़िंदगी है;
मिल कर खुश हुए तो क्या हुआ;
बिना मिले रिश्ते निभाना ज़िंदगी है।
=======================================  
सोच को बदलो, सितारे बदल जायेंगे;
नज़र को बदलो, नज़ारे बदल जायेंगे;
कश्तियाँ बदलने की जरुरत नहीं;
दिशाओं को बदलो, किनारे बदल जायेंगे।
=======================================  
डर मुझे भी लगा फांसला देख कर;
पर मैं बढ़ता गया रास्ता देख कर;
खुद ब खुद मेरे नज़दीक आती गई;
मेरी मंज़िल मेरा हौंसला देख कर।
=======================================  
सोच को अपनी ले जाओ शिखर तक कि उसके आगे सारे सितारे झुक जायें;
ना बनाओ अपने सफ़र को किसी कश्ती का मोहताज़;
चलो इस शान से कि तूफ़ान भी झुक जायें।
=======================================  
एक बेहतरीन इंसान अपनी जुबान से ही पहचाना जाता है;
वरना अच्छी बातें तो दीवारों पर भी लिखी होती हैं।
=======================================
एक बहुत अच्छी बात जो जिंदगी भर याद रखना;
"आपका खुश" रहना ही;
'आपका' बुरा चाहने वालों के लिए सबसे बड़ी सज़ा है।
इसलिए हमेशा मुस्कुराते रहो

=======================================

जो इंसान अपनी गलती न होने पर भी माफ़ी मांगकर आपको मनाने का हूनर रखता है;
समझ लेना कि वो आपको कभी खोना नहीं चाहता है।
प्रे======================================= 
हम वो हैं जो हार कर भी यह कहते हैं;
वो मंज़िल ही बदनसीब थी, जो हमें ना पा सकी;
वर्ना जीत की क्या औकात;
जो हमें ठुकरा दे।
=======================================
मेहनत एक ऐसा सुनहरी सिक्का है;
जिससे हर चीज़ ख़रीदी जा सकती है।
=======================================  
जिंदगी उसी को आज़माती है;
जो हर मोड़ पर चलना जानते हैं;
कुछ पाकर तो हर कोई मुस्कुराता है;
पर जिंदगी उसी की है जो सब कुछ खोकर मुस्कुराता है।
=======================================  
ग़म की अँधेरी रात में;
खुद को न यूं बेकरार कर;
सुबह जरुर आयेगी;
तू बस थोड़ा इंतज़ार कर।
=======================================  
कार्य ही पूजा है:
महात्मा गाँधी के कपड़ों में एक भी 'जेब' नहीं थी;
लेकिन अच्छे कर्मों की वजह से, "आज वो हम सबकी जेब में रहते हैं।"
=======================================
इस दुनिया से उम्मीद-ए-वफ़ा मत रखना;
लुट जाओगे दरवाज़ा खुला मत रखना;
ख्वाहिश है अगर जन्नत में जाने की तो;
अपने माँ-बाप को अपने से कभी जुदा मत रखना।
=======================================  
शौंक को कभी पाला नही जाता;
काँच के खिलौनों को कभी उछाला नहीं जाता;
मिल जाती है मंज़िल कोशिश करने पर;
हर बात को किस्मत पर टाला नहीं जाता।
=======================================  
रिश्ते चाहे जितने भी बुरे हों लेकिन कभी भी उन्हें मत तोड़ना;
क्योंकि
पानी चाहे कितना भी गन्दा हो प्यास नहीं तो आग तो बुझाता ही है।
=======================================  
हमेशा अपनी छोटी-छोटी गलतियों से बचने की कोशिश करो;
क्योंकि;
इंसान पहाड़ों से नहीं छोटे पत्थरों से ठोकर खाता है

=======================================

कितनों की तक़दीर बदलनी है तुम्हें;
कितनों को रास्तों पे लाना है तुम्हें;
अपने हाथ की लकीरों को मत देखो;
इन लकीरों से बहुत आगे जाना है तुम्हें।
=======================================
हर दर्द की एक पहचान होती है;
ख़ुशी चंद लम्हों की मेहमान होती है;
वही बदलते हैं रूख हवाओं का;
जिनके इरादो में जान होती है।
=======================================  
मुश्किलें दिल के इरादे आज़माएंगी;
ख़्वाबों की मुश्किलें निगाहों से हटाएंगी;
गिरकर हौंसला मत हारना ओ यार;
ये ठोकरें ही तुझे चलना सिखाएंगी।
=======================================  
बुझी हुई शमां फिर से जल सकती है;
तूफानों में घिरी कश्ती किनारे लग सकती है;
मायूस न होना कभी जिंदगी में;
ये किस्मत है कभी भी बदल सकती है।
=======================================
बहुत कुछ सिखा जाती है जिंदगी;
हंसा के रुला जाती है जिंदगी;
जी सको जितना उतना जी लो दोस्तों;
क्योंकि बहुर कुछ बाकी रहता है, और ख़त्म हो जाती है जिंदगी।
=======================================
फिर न सिमटेगी जिंदगी तो बिखर जायेगी;
जिंदगी जुल्फ नहीं तो फिर से संवर जायेगी;
जो दे ख़ुशी तो दामन थाम लो;
जिंदगी रो के नहीं हंस के गुजर जायेगी।
=======================================  
वक्त कहता है की फिर नहीं आऊंगा;
तेरी आँखों को अब न रुलाऊंगा;
जीना है तो इस पल को @जी ले;
शायद मैं कल तक न रुक पाऊंगा।
=======================================
एक बात हमेशा याद रखना;
खुशनसीब वो न@हीं जिनका नसीब अच्छा है;
बल्कि खुशनसीब तो वो हैं जो अपने नसीब पे खुश हैं।
=======================================  
हर सपने को अपनी आँखों में रखो;
हर मंजिल को अपनी बाहों में रखो;
हर जीत है आपकी;
बस अपने लक्ष्य को अ@पनी निगाहों में रखो।
=======================================
जिंदगी में कुछ ऐसा मुकाम हा@ल करने की कोशिश करो कि लोग आपका नाम 'फेसबुक' पे नहीं, गूगल पर ढूढें


=======================================

पेड़ की शाखा पर पंछी कभी भी इस@लिए नहीं डरता कि डाल हिल रही है;
क्योंकि;
पंछी डाल पर नहीं अपने पंखों पर भरोसा करता है।
=======================================  
आत्मविश्वास हमारे उत्साह को@ जगाकर;
हमें जीवन में महान उपलब्धियों के मार्ग पर ले जाता है।
=======================================  
बुढ़ापा बाकि सभी चीजों की तरह ही है;
इसे सफल बनाने के लिए जवानी में ही शुरुआत करनी पड़ती है।
=======================================  
ज्यादातर लोग ज्ञान और और @प्रतिभा की कमी से नहीं हारते;
बल्कि इसलिए हार जाते हैं क्योंकि वे जीत से पहले ही मैदान छोड़ देते हैं।
=======================================  
वो सबसे धनवान है जो कम से कम संतुष्ट है;
क्योंकि;
संतुष्टि प्रकृति की दौलत है।
=======================================  
सिर्फ आसमान छू लेना ही कामयाबी नहीं होती;
असली कामयाबी तो@ वो होती है कि आसमान भी छू लो और पाँव भी जमीन पर रहें।
=======================================
खुशियाँ मिलती नहीं मांगने से;
मंजिल मिलती न@हीं राह पर रूक जाने से;
भरोसा रखना खुद पर और उस रब पर;
सब कुछ देता है वो सही वक्त आने पर।
=======================================  
स्वयं को कभी कमजोर साबित मत होने दें क्योंकि;
डूबते सूरज को देखकर लोग;
घरों के दरवाजे बंद करने लगते हैं।
=======================================
दिल में हमारी याद रखना;
चेहरे पर मुस्कुराहट रखना;
कभी कोई तुम्हें हरा न सके;
ऐसा अपना तुम मुकाम रखना।
=======================================  
रख हौंसला वो मंज़र भी आयेगा;
प्यासे के पास चलकर समंदर भी आयेगा;
थक कर ना बैठ अए मंजिल के मुसाफ़िर;
मंजिल भी मिलेगी और जीने का मजा भी आयेगा

=======================================

शिखर तक पहुँचने के लिए ताकत चाहिए होती है;
चाहे वो माउन्ट एवरेस्ट का शिखर हो या आपका पेशा।
=======================================  
जिंदगी में कुछ खोना पड़े तो ये दो पंक्तियाँ जरूर याद रखना:
जो खोया है उसका गम नहीं और जो पाया है वो भी किसी से कम नहीं।
=======================================
जिंदगी उसी को अजमाती है;
जो हर मोड़ पर चलना जानते हैं;
कुछ पाकर तो हर कोई खुश रहता है;
पर जिंदगी उसी की है जो सबकुछ खोकर भी मुस्कुराना जानता है।
=======================================  
एक बहुत गहरी बात!
वक़्त से सीखो बदलते रहने का सबक;
क्योंकि;
वक़्त कभी खुद को बदलते नहीं थकता।
=======================================
कोई व्यक्ति कितना ही महान क्यों न हो, आंखे मूंदकर उसके पीछे न चलिए।
यदि ईश्वर की ऐसी ही मंशा होती तो वह हर प्राणी को आंख, नाक, कान, मुंह, मस्तिष्क आदि क्यों देता?
=======================================  
केवल कर्महीन ही ऐसे होते हैं जो भाग्य को कोसते हैं;
और जिनके पास शिकायतों का बाहुल्य होता है।
=======================================
जब किसी महापुरुष से पूछा गया कि गुस्सा क्या चीज़ है?
तो महापुरुष ने बहुत खूबसूरत जवाब दिया, "किसी की गलती की सज़ा खुद को देना।"
=======================================
एक बहुत गहरी बात है:
वक़्त से सीखो बदलते रहने का सबक;
वक्त कभी खुद को बदलते नहीं थकता।
=======================================  
जिंदगी कांटो का सफ़र है;
हौंसला इसकी पहचान है;
रास्ते पर तो सभी चलते हैं;
जो रास्ते बनाये वही इंसान है।
=======================================
तन्हा बैठकर न देख हाथों की लकीरे अपनी;
उठ बाँध कमर और लिख दे खुद तकदीर अपनी

=======================================

सोच को अपनी ले जाओ शिखर तक;
कि उसके आगे सारे सितारे झुक जाएं;
न बनाओ अपने सफ़र को किसी कश्ती का मोहताज़;
चलो इस शान से कि तूफ़ान भी झुक जाए।
=======================================
तकदीर का इम्तिहान है जरा इंतजार करना;
कुछ रब पे कुछ खुद पे ऐतबार करना;
मंजिल जरूर मिलेगी आपको;
बस अपनी इबादत बरकरार रखना।
=======================================  
स्वयं को कभी कमजोर साबित मत होने दें;
क्योंकि;
डूबते सूरज को देखकर लोग घरों के दरवाजे बंद करने लगते हैं।
=======================================  
रात सुबह का इंतज़ार नहीं करती;
खुशबु मौसम का इंतज़ार नहीं करती;
जो भी ख़ुशी मिले उसका आनंद लिया करो;
क्योंकि जिंदगी वक़्त का इंतज़ार नहीं करती।
=======================================
अपनी जिंदगी के किसी भी दिन को मत कोसना;
क्योंकि;
अच्छा दिन खुशियाँ लाता है;
और बुरा दिन अनुभव;
एक सफल जिंदगी के लिए दोनों जरूरी होती हैं।
=======================================
जो सपने देखने की हिम्मत रखते हैं;
वो पूरी दुनिया जीत सकते हैं।
=======================================  
मेरी मंजिल मेरे करीब है इसका मुझे 'एह्सास' है;
गुमान नहीं मुझे इरादों पे अपने;
ये मेरी 'सोच' और हौंसलों का 'विश्वास' है।
=======================================  
अपने मिशन में कामयाब होने के लिए, आपको अपने लक्ष्य के प्रति एकाग्रचित होना पड़ेगा।
=======================================
टेढ़े के साथ टेढ़ा हो जाना तो जगत @में सभी को आता है और यह स्वाभाविक ही है;
लेकिन टेढ़े के साथ सीधा रहने का चमत्कार केवल ज्ञानी व्यक्ति ही कर पाते हैं।
=======================================  
क्या बनाने आये थे @क्या बना बैठे;
कहीं मंदिर बना बैठे कहीं मस्जिद बना बैठे;
हमसे तो जात अच्छी है परिंदों की;
कभी मंदिर पर जा बैठे तो;
कभी मस्जिद पर जा बैठे।

=======================================
व्यक्ति अपने कर्मों से महान होता है, अपने जन्म से नहीं।
=======================================  
कामयाबी चाहते हैं तो सभी के साथ सौम्य और अपने लिए कठोर रहिए।
=======================================
कोई दुनिया को नहीं बदल सक@ता, बस इतना हो सकता है कि इंसान अपने आप को बदले तो दुनिया अपने आप बदल जायेगी।
=======================================  
ईश्वर का दिया कभी अल्प नहीं होता;
जो टूट जाये वो संक@ल्प नहीं होता;
हार को लक्ष्य से दूर ही रखना;
क्योंकि जीत का कोई विकल्प नहीं होता!
=======================================  
ताश के पत्तों से महल नहीं बनता;
नदी को रोकने से समंदर नहीं बनता;
आगे बढ़ते रहो जिंद@गी में हर पल;
क्योंकि एक जीत से कोई सिकंदर नहीं बनता!
=======================================
सोच से संभावनाओं तक का सफ़र हौसलों से होकर गुजरता है।
=======================================
उबाल इतना भी ना हो @कि खून सूख कर उड़ जाए;
धैर्य इतना भी ना हो कि, खून जमें तो खौल ना पाए!
=======================================  
चुनौतियां जीवन को अधिक रुचिकर बनाती है और उन्हें दूर करना जीवन को अर्थपूर्ण बनाता है!
=======================================  
लगातार हो रही असफलताओं से निराश नहीं होना चाहिए;
कभी-कभी गुच्छे की आखरी चाबी ताला खोल देती है।
सदा सकारात्मक रहें!
=======================================  
भय को नजदीक ना आने दो, अगर यह नजदीक आये इस पर हमला कर दो;
यानि भय से भागो मत, इसका सामना करो!

=======================================

चुनौतियां जीवन को अधिक रुचिकर बनाती है;
और उन्हें दूर करना जीवन को अर्थपूर्ण बनाता है!
=======================================
सपने वह नहीं होते जो हम सोते हुए देखते हैं बल्कि सपने वह वह होते हैं जो हमें सोने नहीं देते।
=======================================  
अभी ना पूछो हमसे मंजिल कहाँ है;
अभी तो हमने चलने का इरादा किया है!
ना हारें हैं ना हारेंगे कभी;
ये किसी और से नहीं खुद से वादा किया है!
=======================================  
'सब्र' एक ऐसी 'सवारी' है जो अपने 'सवार' को कभी गिरने नहीं देती;
ना किसी के 'क़दमों' में और ना किसी के नज़रों 'में'।
=======================================
खोजोगे तो हर मंजिल की राह मिल जाती है;
सोचोगे तो हर बात की वजह मिल जाती है;
जिंदगी इतनी भी मजबूर नहीं अए दोस्त;
जिगर से जियो तो मौत भी जीने की अदा बन जाती है।
=======================================  
एक छोटी सी चीटी आपके पैर को काट सकती है;
पर आपके उसके पैर को नहीं काट सकते;
इसलिए जीवन में किसी को छोटा ना समझें;
वह जो कर सकता है शायद आप ना कर पायें!
=======================================  
ऐसा छात्र जो प्रश्न पूछता है, वह पांच मिनट के लिए मूर्ख रहता है। लेकिन जो पूछता ही नहीं, वह जिंदगी भर मूर्ख ही रहता है।
=======================================
खूबसूरत तस्वीरें निगेटिव से तैयार होती हैं और वो भी अँधेरे कमरे में।
इसलिए आपके जीवन में जब भी अंधकार नजर आये -
तो समझ लीजिए कि ईश्वर आपके भविष्य की सुंदर सी तस्वीर का निर्माण कर रहा है।
=======================================
जो सपने देखते हैं और उन्हें पूरा करने की कीमत चुकाने को तैयार रहते हैं।
सफलता उन्ही के कदमों को चूमती है।
=======================================
'अवसरों' की राह देखने वाले व्यक्ति साधारण होते हैं;
जबकि
असाधारण व्यक्ति 'अवसरों' के जन्मदाता होते हैं।

=======================================

खोकर पाने का मज़ा ही कुछ और है;
रोकर मुस्कुराने का मज़ा ही कुछ और है;
हार तो जिंदगी हिस्सा है मेरे दोस्त;
हारने के बाद जीतने का मज़ा ही कुछ और है।
प्रे=======================================  
छाता बारिश को तो नहीं रोक सकता परन्तु बारिश में खड़े रहने का हौसला अवश्य देता है।
इसी प्रकार
आत्म विश्वास सफलता की गारंटी तो नहीं देता परन्तु सफलता के लिए संघर्ष करने की प्रेरणा अवश्य देता है।
=======================================  
सामने हो मंजिल तो रास्ता ना मोड़ना;
जो मन में हो वो ख्वाब ना तोड़ना;
हर कदम पे मिलेगी कामयाबी तुम्हें;
बस सितारे छूने के लिए कभी ज़मीन ना छोड़ना।
=======================================
पहले हर अच्छी बात का मजाक बनता है फिर उसका विरोध होता है और फिर उसे स्वीकार कर लिया जाता है।
प्रेरणादायक  
अब तक की सबसे बड़ी खोज यह हैं कि व्यक्ति महज अपना दृष्टिकोण बदल कर अपना भविष्य बदल सकता हैं।
=======================================  
दूसरों के दुर्भाग्य से या गलतियों से बुद्धिमान व्यक्ति यह शिक्षा ग्रहण करते हैं कि उन्हें किस बात से बचना चाहिए।
=======================================
कर्म को स्वार्थ की ओर से परमार्थ की @ओर ले जाना ही मुक्ति है, कर्म का त्याग मुक्ति नहीं है।
प्रेरणादायक  
महान सपने देखने वालों के महान सपने हमेशा पूरे होते हैं।
=======================================
अच्छी ज़िन्दगी जीने के दो त@रीके हैं;
जो पसंद है उसे हासिल करना सीख लो।
या फिर;
जो हासिल हुआ है उसे पसंद करना सीख लो।
=======================================
जब दुनिया ये कहती है कि "हार मान लो"@ तब आशा धीरे से कान में कहती है कि "एक बार फिर प्रयास करो"।
=======================================

जो हुआ उसे भूल कर, अपनी दुनिया में नया कदम रखना;
ये दुनिया है बड़ी बे-रहम लेकिन तुम अपनी मंजिल पर नज़र रखना!
=======================================  
कुछ कर गुजरने के लिए, मौसम नहीं मन चाहिए;
साधन सभी जुट जायें@गे, संकल्प का धन चाहिए!
=======================================  
मंजिल उन्ही को मिलती है;
जिनके सपनो में जान होती है;
पंख से कुछ@ नहीं होता;
हौसलों से ही उड़ान होती है!

Comments