Sad Shayari on Jubaan free 2018


  1. Teri Zuban Ne K!uchh Kaha Toh Nahi Tha,
  2. Fir Na Jane Kyun Meri Aankh Nam Ho Gayi.
  3. तेरी ज़ुबान ने कुछ कहा !तो नहीं था,
  4. फिर ना जाने क्यों मेरी आँख नम हो गयी।

  5. Naam Uska Zubaan Par! Aate Aate Ruk Jata Hai,
  6. Jab Koyi Mujhse Meri Akhiri Khwahish Puchhta Hai.
  7. नाम उसका ज़ुबान पर! आते आते रुक जाता है,
  8. जब कोई मुझसे मेरी आखिरी ख्वाहिश पूछता है।
  9.  
  10. Tha Jahan Kehna Wahan Keh Na Paye Umr Bhar,
  11. Kagzo Par Yun Sher Likhna Bejubani Hi Toh Hai.
  12. था जहाँ कहना !वहां कह न पाये उम्र भर,
  13. कागज़ों पर यूँ शेर लिखना बेज़ुबानी ही तो है।

  14. Aansoo Mere Dekh Kar Kyun Pareshan Hai Aye Dost,
  15. Yeh Woh Alfaz Hain Jo Jubaan Tak Na Aa Sake.
  16. आंसू मेरे देखकर तू परेशान क्यों है ऐ दोस्त,
  17. ये वो अल्फाज हैं !जो जुबान तक आ न सके।

  18. Bahut Khoob Hai Yun Shabdon Mein Mujhe Likhna,
  19. Varna Toh Sab!ne Mujhe Sada Bejuban Hi Mana Hai.
  20. बहुत खूब है यूँ आपका शब्दों में मुझे लिखना,
  21. वरना तो सबने मुझे सदा बेजुबां ही माना है।

No comments:

Post a Comment