Good Night Shayari शुभ रात्रि Hindi SMS 2017


तेरे पैगाम के इंतज़ा@र में दिन गुज़ार दिया,
अब रहने देना, ख्वाबों में मिल लूँगा रात में।
शुभरात्रि!
===================================
शुभ रात्रि
सितारों को भेजा है आपको सुलाने के लिए;
चाँद आया है आपको लोरी सुनाने के लिए;
सो जाओ मीठे ख़्वाबों में आप;
सुबह सूर@ज को भेजेंगे आपको जगाने के लिए।
शुभरात्रि!

===================================
हमने ज़िन्दगी बितायी आँख सिरहाने लेकर;
रात दुल्हन सी आयी ख़्वाब सुहाने लेकर।
शुभरात्रि!

===================================
रातों में करवटें ब@दलना, यूँ ही थोड़ा थोड़ा मुस्कुराना अच्छे सपनों का संकेत होता है।
इसलिए ऐसे ही हर रात मुस्कुराते रहिये।
शुभ रात्रि!

===================================

सोती हुई आँखों को सलाम हमारा;
मीठे सुनहरे सपनो को आदाब हमारा;
दिल में रहे प्यार का एहसास सदा ज़िंदा;
आज की रात का यही है पैगाम हमारा।
शुभ रात्रि!

===================================
तेरे बिना कैसे गुज़रेंगी ये रातें,
तन्हाई का गम कैसे सहेंगी ये रातें,
बहुत लम्बी हैं घड़ियाँ इंतज़ार की,
करवट बदल-बदल कर कटेंगी ये रातें।
शुभरात्रि!

===================================
ज़िन्दगी की हर सुबह कुछ शर्ते लेकर आती है और ज़िन्दगी की हर शाम कुछ तजुर्बे देकर जाती है।
शुभरात्रि!

===================================
हो मुबारक सुहानी रात,
ख्वाबों में भी मिले रब का साथ;
खुलें जब पलकें तो तमाम खुशियाँ हो आपके साथ।

===================================
शुभ रात्रि
पलकों में ख्वाबों की पालकी ले आई नींद सुहानी,
सो जाओ अब मिलते हैं कल ले कर नई कहानी।

===================================
शुभ रात्रि
झील सी गहरी नींद आपको आये,
चाँद सा मुखड़ा गुरु @जी का सपनो में आये,
जब नींद से उठ के सुबह आप मुस्कुराये,
तो सारी खुशियाँ आपकी झोली में समां जायें।
शुभरात्रि!


===================================

हर पल कैद कर इन आँखों में रात की ख़ामोशी का इंतज़ार था हमें;
जैसे ही जाये ये दिन का उजाला, रात की गहराई में इस सुकून का इंतज़ार था हमें।

===================================
शुभ रात्रि
हो चुकी रात बहुत अब सो भी जाइये,
जो है दिल के करीब उसके ख्यालों में खो भी जाइये,
कर रहा होगा कोई इंतज़ार आपका,
ख्वाबों में ही सही मिल तो आइये।

===================================
शुभ रात्रि
चाँद को बिठाकर पहरे पर;
तारों को दिया निगरानी का काम;
आई है यह रात सुहानी@ लेकर आपके लिए;
एक सुनहरा सपना आपकी आँखों के नाम।

===================================
शुभ रात्रि
फिर से चमका है एक टुकड़ा चॉद का;
अपने अधूरे ख्वाब सजाने को;
रात के अंधेरे को राह दिखाने को।

===================================
शुभ रात्रि
रात कितनी बोरिंग@ और वीरान सी हो जाती है;
जब कुछ अपने याद किये बिना ही सो जाते हैं।

===================================
शुभ रात्रि
आप सभी को प्यार भरी मीठी मीठी शुभ रात्रि!

===================================
चाँद से कहो चमकना छोङ दे; सितारोँ से कहो टिमटिमाना छोङ दे; तुम मुझसे मिलने नहीँ आती तो; अपनी यादोँ से कहो मुझे सताना छोङ दे। शुभ रात्रि!

===================================
ख़ुशी से दिल को आबाद करना;
ग़म को दिल से आज़ाद करना;
बस इतनी गुज़ारिश है आपसे कि;
हो सके तो दुआ में एक बार याद जरुर करना।

===================================
शुभ रात्रि
साथ ना छूटे आप से कभी यह दुआ करता हूँ;
हाथों में सदा आपका हाथ रहे बस यही फरियाद करता हूँ;
हो भी जाये अगर कभी दूरी हमारे दरमियान;
दिल से ना हों जुदा, रब्ब से यही इल्तिजा करता हूँ।

===================================
शुभ रात्रि
चाँद ने अपनी चांदनी बिखेरी है;
और तारों ने आसमान को सजाया है;
कहने को आपको शुभ रात्रि;
देखो रात का फरिश्ता आया है।
शुभ रात्रि!


===================================

तनहा जब दिल होगा, आपको आवाज़ दिया करेंगे;
रात में सितारों से आपका जिक्र किया करेंगे;
आप आये या ना आये हमारे ख्वाबों में;
हम बस आपका इंतज़ार किया करेंगे।

===================================
शुभ रात्रि
चाँद तारों से रात जगमगाने लगी है;
फूलों की खुशबू भी दुनिया को महकाने लगी है; हो चुकी है अब यह रात गहरी;
है खामोश अब चारों दिशाएं;
लगता है इनको भी निंदिया रानी आने लगी है।
शुभ रात्रि!
===================================शुभ रात्रि
जैसे चाँद का काम है रात में रौशनी देना;
तारों का काम है सारी रात चमकते रहना;
दिल का काम है अपनों की याद में धड़कते रहना;
वैसे हमारा है काम अपनों की सलामती की दुआ करते रहना।

===================================
शुभ रात्रि
चाँदनी जैसे बिखर गई है सारी;
रब से है ये दुआ हमारी;
जितनी प्यारी है तारों की यारी;
आपकी नींद भी हो उतनी ही प्यारी।

===================================
शुभ रात्रि
जब आ जाते हैं @आँसू तो रो जाते हैं;
जब आते हैं ख्वाब तो खो जाते हैं;
नींद आंखो में आती नहीं;
बस आप ख्वाबो में आओगें;
यही सोचकर हम सो जाते हैं।

===================================
शुभ रात्रि
ज़िन्दगी में किसी का साथ काफी है;
हाथों में @किसी का हाथ काफी है;
दूर हो या पास फर्क नहीं पड़ता;
प्यार का तो बस अहसास ही काफी है।

===================================
चाँद ने अपनी चांदनी बिखेरी है;
और तारों ने आसमान को सजाया है;
कहने को शुभ रात्रि आपको;
देखो हमारा यह पैगाम आया है।

===================================
शुभ रात्रि
आसमान के तारों में खो गया है जहान सारा;
लगता है हमको प्या@रा ये एक-एक तारा;
इन तारों में सबसे प्यारा है वो सितारा;
जो पढ़ रहा है इस वक़्त यह पैगाम हमारा।

===================================
शुभ रात्रि
आसमान के तारों में खो गया है जहान सारा;
लगता है हमको प्यारा ये एक-एक तारा;
इन तारों में @सबसे प्यारा है वो सितारा;
जो पढ़ रहा है इस वक़्त यह पैगाम हमारा।

===================================
शुभ रात्रि
साथ ना छूटे आप से कभी बस यह दुआ करता हूँ;
हाथों में सदा आपका हाथ रहे बस यही फरियाद करता हूँ;
हो भी जाये अगर कभी दूरी हमारे तुम्हारे दरमियान;
दिल से ना हों जुदा, रब से यही अरदास करता हूँ।
शुभ रात्रि!


===================================

मिलने आयेंगे हम आपसे ख्वाबों में;
ज़रा रौशनी के दिये बुझा दीजिए;
अब और नहीं होता इंतज़ार आपसे मुलाकात का;
ज़रा अपनी आँखों के परदे तो गिरा दीजिए।

===================================
शुभ रात्रि   @
हर सपना कुछ पाने से पूरा नहीं होता;
कोई किसी के बिन अधूरा नहीं होता;
जो चाँद रौशन करता है रात भर सब को;
हर रात वो भी तो पूरा नहीं होता।

===================================!
शुभ रात्रि
तन्हा जब दिल होगा, आपको आवाज़ दिया करेंगे;
रात में सितारों से आपका जिक्र किया करेंगे;
आप आओ या ना आ@ओ हमारे ख़्वाबों में;
हम बस आपका इंतज़ार किया करेंगे।

===================================
शुभ रात्रि
सितारों को भेजा है आपको सुलाने के लिए;
चाँद आया है आपको लोरी सुनाने के लिए;
सो जाओ मीठे ख़्वाबों में आप;
सुबह सूरज को भेजेंगे आपको जगाने के लिए।

===================================
शुभ रात्रि
होंठ कह नहीं सकते जो फ़साना दिल का;
शायद नज़र से वो बात हो जाये;
इस उम्मीद में करते हैं इंतज़ार हम रात का;
कि शायद सपनों में @कभी आपसे मुलाक़ात हो जाये।

===================================
शुभ रात्रि   @
तू जहाँ भी रहे वहाँ मेरी दुआओं की छाँव हो;
वो शहर हो फिर चाहे गाँव हो;
तेरी आँखों में कभी कोई गम ना हो;
बस यही दुआ है हमारी कि तेरी खुशियां कभी कम ना हों।

===================================
शुभ रात्रि
आपसे कभी हम खफ़ा हो नहीं सकते;
वादा किया है तो बेवफा हो नहीं सकते;
आप भले ही हमें भुलाकर सो जाओ;
मगर हम आपको याद किये बिना सो नहीं सकते।

===================================
शुभ रात्रि
सूरज ने झपकी पलक और ढल गयी शाम;
रात ने बिखेरा है आँच@ल मिलकर तारों के साथ; देख कर रात का यह नज़ारा कहने को शुभ रात्रि हम भी आ गए हैं साथ।

===================================
शुभ रात्रि
ख़ुशी से बीते हर शाम आपकी;
हर सुहानी हो रात आपकी;
यही आरज़ू है हमारी कि;
जिस किसी चीज़ पर भी पड़े नज़र आपकी;
अगले ही पल वो हो जाये आपकी।

===================================
शुभ रात्रि
चाँद ने चाँदनी बिखेरी है;
तारों ने आसमां को सजाया है;
खो जाओ आप भी ख्वाबों की हसीन दुनिया में। शुभ रात्रि!


===================================
जब रात को नींद ना आये और दिल की धड़कन भी बढ़ जाये,
तब दूसरों की नींद खराब करो, शायद उनकी दुआ से आपको नींद आ जाये।

===================================
शुभ रात्रि
जीवन के हर मोड़ पर सुनहरी यादों को रहने दो;
ज़ुबान पर हर वक्त मिठास को रहने दो;
यही अंदाज है जीने का कि ना रहो उदास और ना किसी को रहनो दो।

===================================
शुभ रात्रि
चाँदनी लेकर ये रात आपके आँगन में आये;
आसमान के सारे ता@ लोरी गा कर आपको सुलायें;
आपके इतने प्यारे और मीठे हों सपने आपके;
कि आप सोते हुए भी सदा मुस्कुराएं।

===================================
शुभ रात्रि
सारा दिन लग जाता@ है खुद को समेटने में;
फिर रात को यादों की हवा चलती है और हम फिर से बिखर जाते हैं।

===================================
शुभ रात्रि
पलकों में कैद कुछ सपने हैं;
कुछ बैगाने और कुछ अपने हैं;
ना जाने क्या कशिश है इन ख्यालों में;
कुछ लोग हमसे दूर होकर भी कितने अपने हैं।

===================================
शुभ रात्रि
सोती हुई आँखों को सलाम हमारा;
मीठे सुनहरे सपनो को आदाब हमारा;
दिल में रहे प्यार का एहसास सदा ज़िंदा;
आज की रात का यही है पैगाम हमारा।

===================================
शुभ रात्रि
तेरी आरज़ू में हमने बहारों को देखा;
तेरी जुस्तजू में हमने सि@तारों को देखा;
नहीं मिला इससे बढ़कर इन निगाहों को कोई;
हमने जिसके लिए सारे जहान को देखा।
शु
===================================शुभ रात्रि
नहीं पता कौन सी बात आखिरी हो;
ना जाने कौन सी मु@लाक़ात आखिरी हो;
याद करके इसलिए सोते हैं सब को;
ना जाने ज़िन्दगी में कौन सी रात आखिरी हो।

===================================
शुभ रात्रि
जन्नत के महलों में हो महल आपका;
ख्वाबों की हसीन वादी में हो शहर आपका;
सितारों के आँगन में हो घर आपका;
दुआ है ऐसा खूबसूरत हो हर पल आपका।
शुभ रात्रि!

===================================
सो गए जो आप तो ख्वाब हमारा आएगा;
प्यारी सी एक मुस्कान आप@के चेहरे पे लाएगा;
खोल कर सोना खिड़की और दरवाज़े;
वरना आप ही बताओ हमारा ख्वाब कहाँ से आएगा।
शुभ रात्रि!


===================================

खुदा हर बुरी@ नज़र से बचाये आपको;
दुनिया की तमाम खुशियों से सजाये आपको;
दुःख क्या होता है यह कभी पता न चले;
खुदा ज़िंदगी में इतना हंसाये आपको।

===================================
शुभ रात्रि
दूर रहते हैं म@गर दिल से दुआ करते हैं हम;
प्यार का फ़र्ज़ दिल से अदा करते हैं हम;
आपकी याद सदा साथ रखते हैं हम;
दिन हो या रात आपको ही याद करते हैं हम।
शु
===================================शुभ रात्रि
चाँद ने चाँदनी बिखेरी है;
तारों ने आसमान को सजाया है;
कहने को तुम्हें शुभ रात्रि;
देखो स्वर्ग से कोई फरिश्ता आया है।
@
===================================
शुभ रात्रि
दूर रहते हैं मगर हम दिल से दुआ करते हैं;
प्यार का फ़@र्ज़ हम घर बैठे अदा करते हैं;
आपकी याद को हम सदा साथ रखते हैं;
दिन हो या रात बस आपको ही याद करते हैं।

===================================
शुभ रात्रि
जब रात में आपको किसी की याद सताए;
सुहानी हवा जब आपके बालों को सहलाये;
तो कर लो आँखें बंद और सो जाओ;
कहीं वो आपके ख्वाबों में ना आ जाये।

===================================
शुभ रात्रि
चाँद को बिठाकर पहरे पर;
तारों को दिया @गरानी का काम;
आई है यह रात सुहानी लेकर आपके लिए;
एक सुनहरा सपना आपकी आँखों के नाम।
@
===================================
शुभ रात्रि
दुखों को कह दो अलविदा;
खुशियों का तुम कर लो साथ;
चाँद की यह चांदनी और तारों की बारात;
लेकर मीठे सपने संग आ गयी है यह रात।

===================================
शुभ रात्रि
रात को रात का तोहफा नहीं देते;
फूल को फूल का तोहफा नहीं देते;
देने को तो हम चाँद भी आपको दे सकते थे लेकिन;
चाँद को चाँद का तोहफा नहीं देते।

===================================
शुभ रात्रि
हो गयी है रात निकल आये हैं सितारे भी;
सो गए हैं पंछी सारे शांत हो गए हैं नज़ारे भी;
सो जाओ आप भी इस हसीन रात में;
इंतज़ार में खड़े हैं यह@ सपने सिर्फ तुम्हारे ही।

===================================
शुभ रात्रि
रात की चांदनी आपको सदा सलामत रखे;
परियों की आवाज़ आपको सदा आबाद रखे;
पूरी कायनात को खुश रखने@ वाला वो रब;
आपकी हर एक ख़ुशी का ख्याल रखे।
शुभ रात्रि!


===================================

या रब तू अपना जलवा दिखा दे;
उनकी ज़िंदगी @को भी अपने नूर से सज़ा दे;
बस इस दिल की यही दुआ है ऐ मालिक;
उनके सपनो को तू हक़ीक़त बना दे।

===================================
शुभ रात्रि
तेरी चाहत तेरी उल्फत की अदा काफी है;
ज़िंदा रहने के लिए तेरी वजह काफी है;
बे-वजह हाथ उठाने की ज़रूरत है;
दिल से मांगो तो बस एक दुआ ही काफी है।

===================================
शुभ रात्रि
आपके इंतज़ार का दर्द तो हम चुपचाप सहते हैं;
क्योंकि आप ही हो जो हर पल हमारे दिल में रहते हो;
ना जाने हमें नींद आएगी भी या नहीं;
मगर आप ठीक से सो सको इसलिए आपको शुभ रात्रि कहते हैं।

===================================
शुभ रात्रि
चाँद तारों से रात जगमगाने लगी है;
फूलों की खुशबू भी दुनिया को महकाने लगी है;
हो चुकी है अब यह रात गहरी;
है खामोश अब चारों दिशाएं;
लगता है इनको भी निंदिया रानी आने लगी है।

===================================
शुभ रात्रि
साथ ना छूटे आप से कभी यह दुआ करता हूँ;
हाथों में सदा आपका हाथ रहे बस यही फरियाद करता हूँ;
हो भी जाये अगर कभी दूरी हमारे दरमियान;
दिल से ना हों जुदा, रब्ब से यही इल्तिजा करता हूँ।

===================================
शुभ रात्रि
जैसे चाँद का काम है @रात में रौशनी देना;
तारों का काम है बस चमकते रहना;
दिल का काम है अपनों की याद में धड़कते रहना;
वैसे हमारा है काम अपनों की सलामती की दुआ करते रहना।

===================================
शुभ रात्रि
तू जहाँ रहे वहाँ मेरी दुआओं की छाँव हो;
वो शहर हो फिर चाहे गाँव हो;
तेरी आँखों में कभी कोई गम ना हो;
बस यही दुआ है हमारी कि तेरी खुशियां कभी कम ना हों।

===================================
शुभ रात्रि
फूलों की तरह महकते रहो;
सितारों की तरह चमकते रहो;
किस्मत से मिली है ये ज़िंदगी;
खुद भी हँसो और औरों को भी हँसाते रहो।

===================================
शुभ रात्रि
कुदरत के करिश्मों में अगर रात ना होती;
ख्वाबों में भी उनसे मुलाक़ात ना होती;
सो जाते हैं हम इसी@ आस में;
कि आज नहीं तो कल कभी तो उनसे बात होगी।

===================================
शुभ रात्रि
आसमान के तारों में खो गया है जहान सारा;
लगता है हम@को प्यारा ये एक-एक तारा;
इन तारों में सबसे प्यारा है वो सितारा;
जो पढ़ रहा है इस वक़्त यह पैगाम हमारा।
शुभ रात्रि!


===================================

रात के अँधेरे में @ चाहने वाला हो;
वक़्त गुजर जाये उनकी यादों के सहारे;
ऐसा कोई आप के सपनो को सजाने वाला हो।

===================================
शुभ रात्रि
दुखों को कह दो अलविदा,
खुशियों का तुम कर लो साथ;
चाँद की यह चांदनी और तारों की बारात;
लेकर मीठे सपने संग अपने आ गयी है यह रात।

===================================
शुभ रात्रि
इस कदर हम आपकी मोहब्बत में खो गए;
कि एक नज़र देखा और बस उन्हीं के हो गए;
आँख खुली तो अँधेरा था, देखा एक सपना था;
आँख बंद कर हम फिर आपके सपनों में खो गए।

===================================
शुभ रात्रि
ये आरज़ू नहीं कि किसी को भुलाएं हम;
ना तमन्ना है किसी को रुलाएं हम;
पर दुआ है उस रब @से बस एक यही;
जिसको जितना याद करते हैं उसको उतना याद आये हम।

===================================
शुभ रात्रि
जब भी चाँद पर काली घटा छा जाती है;
चाँदनी भी यह देख फिर शर्मा जाती है;
लाख छिपाएं हम दुनिया से यह मगर;
जब भी होते हैं अकेले तेरी@ याद आ जाती है।

===================================
शुभ रात्रि
रात का चाँद तुम्हें सलाम करे;
परियों की आवाज़ तुम्हें आदाब करे;
सारी दुनिया को खुश@ रखने वाला वो रब्ब;
हर पल तुम्हारी खुशियों का ख्याल करे।
शुभ रात्रि!

===================================
होंठ कह नहीं सकते जो फ़साना दिल का;
शायद नज़र से वो बात हो जाये;
इस उम्मीद में करते हैं इंतज़ार रात का;
कि शायद सपनों में आपसे@ मुलाक़ात हो जाये।
शुभ
===================================शुभ रात्रि
हर सपना ख़ुशी पाने के लिए पूरा नहीं होता;
कोई किसी के बिना अधूरा नहीं होता;
जो चाँद रौशन करता@ है रात भर को;
हर रात वो भी पूरा नहीं होता।

===================================

शुभ रात्रि
जैसे कुछ पाने के लिए कुछ खोना पड़ता है;
मुस्कुराने के लिए@ भी रोना पड़ता है;
यूं ही नहीं आते ख्वाब हसीं रातों को;
देखने के लिए ख्वाब सोना भी पड़ता है।

===================================
शुभ रात्रि
लगता है ऐसा कि कुछ होने जा रहा है;
कोई मीठे सपनो में खोने जा रहा है;
धीमी कर दे अपनी रौशनी ऐ चाँद;
यार मेरा अब सोने जा रहा है।
शुभ रात्रि!


===================================

सूरज ने झपकी पलक और ढल गयी शाम;
रात ने है आँचल बिखेरा मिलकर तारों के साथ;
देख कर रात का यह नज़ारा कहने को शुभ रात्रि हम भी आ गए हैं साथ।
शुभ
===================================शुभ रात्रि
शाम के बाद जब आती है रात;
हर बात में समा @जाती है तेरी याद;
होती बहुत ही तनहा ये जिंदगी;
अगर न मिलता कभी जो आपका साथ।

===================================
शुभ रात्रि
दिल में, होंठों पे बस एक ही दुआ रहती है;
हर घडी मुझे आप की ही परवाह रहती है;
खुदा हर ख़ुशी बख्शे आपको;
हर दुआ में यही गुज़ा@रिश रहती है।

===================================
शुभ रात्रि
ख्वाहिशों के समंदर के सब मोती तेरे नसीब हो;
तेरे चाहने वाले हमसफ़र ते@रे हरदम करीब हों;
कुछ यूँ उतरे तेरे लिए रहमतों का मौसम;
कि तेरी हर दुआ, हर ख्वाहिश कबूल हो।

===================================
शुभ रात्रि
ज़िन्दगी में ना ज़ाने कौनसी बात आखिरी होगी;
ना ज़ाने कौन सी रात @आखिरी होगी;
मिलते, जुलते, बातें करते रहो एक दूसरे से;
ना जाने कौन सी मुलाक़ात आखिरी होगी।

===================================
शुभ रात्रि
सपनो की दुनिया में हम खोते चले गए;
होश में थे मगर @मदहोश होते चले गए;
जाने क्या बात थी उनकी आवाज़ में;
न चाहते हुए भी उनके होते चले गए।

===================================
शुभ रात्रि
जीवन के हर मोड़ पर खुशियों को आने दो;
जुबां पर हर वक्त मिठास को रहने दो;
ना रहो उदास और ना किसी को रहनो दो।

===================================
शुभ रात्रि   @
जो ख़ुशी करीब हो वो सदा तुम्हें नसीब हो;
ज़िंदगी का हर लम्हा सदा तेरे लिए हसीन हो;
जो तुझ को पसंद हो तुम्हारे दिल की उमंग हो;
चाहे जिस हमसफ़र को तेरी ज़िंदगी वो सदा तेरे संग हो।

===================================
शुभ रात्रि
फूल खिलते रहे ज़िंदगी की राह में;
हँसी चमकती र@हे आपकी निगाह में;
कदम-कदम पे मिले ख़ुशी की बहार आपको;
यही दिल देता है दुआ बार-बार आपको।

===================================
शुभ रात्रि
हो गयी है रात निकल आये हैं सितारे;
सो गए हैं पंछी, @शांत हैं सब नज़ारे;
सो जाइए आप भी इस महकती रात में;
देख रहें हैं राह आपकी सपने प्यारे-प्यारे।
शुभ रात्रि!


===================================

तमन्नाओ से भरी हो आपकी ज़िंदगी;
ख्वाहिशों से भरा हो आपका हर पल;
दामन भी लगने लगे छोटा आपको;
इतनी खुशियां@ लेकर आये आने वाला कल।

===================================
शुभ रात्रि
ये रात चाँदनी @लेकर आपके आँगन में आये;
ये आसमान के सारे तारे लोरी गा कर आपको सुलायें;
हों आपके इतने प्यारे और मीठे सपने;
कि आप सोते हुए भी सदा मुस्कुराएं।

===================================
शुभ रात्रि
चाँद तारों से रात जगमगाने लगी;
फूलों की खुशबू दुनिया को है महकाने लगी;
अब सो जाइए रात हो गयी है काफी;
निंदिया रानी भी आपको देखने है आने लगी।

===================================
शुभ रात्रि
हर रिश्ते में विश्वास रहने दो;
जुबान पर हर वक़्त मिठास रहने दो;
यही तो अंदाज़ है जिंदगी जीने का;
न खुद रहो उदास, न दूसरों को रहने दो।
शु
===================================शुभ रात्रि
हर रास्ता एक सफर चाहता है;
हर मुसाफिर एक हमसफ़र चाहता है;
जैसे चाहती है चांदनी चाँद को;
कोई है जो आपको इस कदर चाहता है।

===================================
शुभ रात्रि
दूर रहते हैं मगर दिल से दुआ करते हैं हम;
प्यार का फ़र्ज़ घर बैठे अदा करते हैं हम;
आपकी याद सदा साथ रखते हैं हम;
दिन हो या रात आपको ही याद करते हैं हम।
शुभ रात्रि!
शु
===================================
दोस्ती के वादों को यूँ ही निभाते रहेंगे;
हम हर वक़्त आपको यूँ ही सताते रहेंगे;
मर भी जायेंगे तो @क्या ग़म है;
हम आंसू बन कर आपकी आँखों में आते रहेंगे।

===================================
शुभ रात्रि
हो चुकी है रात बहुत अब सो जाइए;
जो है दिल के करीब उसके ख्यालों में खो जाइए;
कर रहा होगा कोई इंतज़ा@र आपका;
हकीकत में ना सही ख्वाबों में तो मिल आईये।

===================================
शुभ रात्रि
रात आती है सितारे लेकर;
नींद आती है सपने लेकर;
दुआ है आप @के लिए आये ये रात;
ज़िंदगी की सारी खुशियां लेकर।

===================================
शुभ रात्रि
पास आपके दुनिया का हर सितारा हो;
दूर आपसे गम का हर किनारा हो;
आँखे बंद कर जब सोने लगो आप;
तो बंद आँखों में भी सामने आपके हसीन नज़ारा हो।
शुभ रात्रि!

===================================


ये दुआ है तेरी ज़िं@दगी संवर जाये;
हर नज़र में बस प्यार नज़र आये;
तू जिस ख़ुशी की तलाश में है;
खुदा करे वो खुद तेरी तलाश में चली आये।

===================================
शुभ रात्रि
जब शाम के @बाद आ जाती है रात;
हर बात में फिर समा जाती है तेरी याद;
बहुत तनहा हो जाती ये जिंदगी मेरी;
अगर नहीं मिलता कभी जो आपका साथ।

===================================
शुभ रात्रि
लगता है ऐसा कि कुछ होने वाला है;
कोई मीठे सपनो@ में खोने वाला है;
धीमी कर दे अपनी रौशनी ऐ चाँद;
मेरा दोस्त अब सोने वाला है।

===================================
शुभ रात्रि
खुद में हम कुछ इस तरह खो जाते हैं;
बीती हुई यादों को लेकर रोये जाते हैं;
नींद तो आती नहीं है अ@ब रातों में;
मगर देख सकें तुमको ख्वाबों में इसलिए सो जाते हैं।

===================================
शुभ रात्रि
ये दुआ है तेरी ज़िंदगी संवर जाये;
हर नज़र मैं बस@ प्यार नज़र आये;
तुझे जिस ख़ुशी की तलाश है;
खुदा करे वो ख़ुशी खुद तेरी तलाश में चली आये।

===================================
शुभ रात्रि
खुशियां करीब हों, जन्नत नसीब हो;
आप चाहें जिसे वो सदा आपके करीब हो;
कुछ इस तरह हो कर्म @खुदा का आप पर;
कि ये चाँद तारे भी आपको नसीब हों।

===================================
शुभ रात्रि
आसमान का चाँद तेरी बाहों में हो;
तू जो चाहे तेरी आँ@खों में हो;
हर वो ख्वाब हो पूरा जो तेरी आँखों में हो;
खुश किस्मती की हर लकीर तेरे हाथों में हो।
शु
===================================शुभ रात्रि
चाँद को बिठा कर पहरे पर तारों को दिया निगरानी का काम;
एक रात सुहानी आपके लि@ए, एक प्यारा सा सपना आपकी आँखों के नाम।

===================================
शुभ रात्रि
तनहा जब दिल होगा आपको आवाज़ दिया करेंगे;
रात में सितारों से आ@पका ज़िक्र किया करेंगे;
आप आये ना आये हमारे ख्वाबों में;
हम बस आपका इंतज़ार किया करेंगे।

===================================
शुभ रात्रि
खुद में हम कुछ इस तरह खो जाते हैं;
सोचते हैं आपको तो आपके ही हो जाते हैं;
नींद नहीं आती @है रातों में पर;
आपको ख्वाबों में देखने के लिए सो जाते हैं।
शुभ रात्रि!
==================================

रात की चांदनी आपको सदा सलामत रखे;
परियों की आवाज़ आपको सदा आबाद रखे;
पूरी कायनात को~ खुश रखने वाला वो रब;
आपकी हर एक ख़ुशी का ख्याल रखे।
शुभ रात्रि!
==================================
आप हमारे सबसे अच्छे दोस्त हैं;
यह दिल से कहते हैं हम;
इसलिए आपको रोज़ याद करते हैं हम;
बाकी कुछ कहें या ना कहें रात को शुभ रात्रि आपको कहते हैं हम।
शुभ रात्रि!
==================================
देखो खिड़की से चाँद भी तुम्हें देख रहा हैं;
सितारे भी रुके हुए इंतज़ार में;
चलो अब मुस्कुरा दो हम सब के लिए;
क्योंकि हम सभी तो खड़े हैं इसी इंतज़ार में।
शुभ रात्रि!
==================================
देखा फिर रात आ गयी;
शुभ रात्रि कहने की बात याद आ गयी;
हम बैठे थे सितारों की पनाह में;
चाँद को देखा तो आपकी याद आ गयी।
शुभ रात्रि!
==================================
जब शाम ढलने के बाद आती है रात;
हर साँस में समा जाती है तेरी याद;
बदलते हैं करवटें हम सारी रात;
सोचते हैं कि आप~को भी आती होगी हमारी याद।
शुभ रात्रि!
==================================
चाँद को भेजा है पहरेदार;
तारों को सौंपा ~है निगरानी का काम;
रात ने जारी किया है ये फुरमान;
कि सारे मीठे सपने हों आपके नाम।
शुभ रात्रि!
==================================
चाँद में चाँदनी को याद किया;
रात ने सितारों को याद किया;
हमारे पास न चाँद है न चाँदनी;
इसलिए हमने अपने प्यारे से दोस्त को याद किया।
शुभ रात्रि!
==================================
देखो फिर ये हसीं रात आ गयी;
कहनी थी आपसे जो बात वो याद आ गयी;
हम बैठे थे इन सितारों की पनाह में;
जब चाँद को देखा तो आपकी याद आ गयी।
शुभ रात्रि!
शु==================================
इस कदर हम उनकी मोहब्बत में खो गए;
कि एक नज़र देखा और बस उन्हीं के हो गए;
आँख खुली अँधेरा था, देखा एक सपना था;
आँख बंद की और उन्हीं सपनों में फिर खो गए।
शुभ रात्रि!
==================================
ये रात चाँदनी बनकर आप के आँगन में आये;
ये तारे सारे लोरी गा कर आप को सुलायें;
हो इतने प्यारे सपने आपके;
कि नींद में भी आ~प मुस्कुराएं।
शुभ रात्रि!

==================================

इस प्यारी सी रात में;
प्यारी सी नींद ~से पहले;
प्यारे से सपनों की आशा में;
प्यारे से अपनों को, मेरी तरफ से शुभ रात्रि।
शुभ रात्रि!
==================================
ख़ुशी से दिल को आबाद करना;
ग़म से ज़िन्दगी को आज़ाद करना;
बस इतनी सी है गुज़ारिश हमारी;
सोने से पहले हम को भी याद करना।
शुभ रात्रि!
==================================
चाँद तारे सब तुम्हारे लिए हैं;
सपने मीठे-मीठे सब तुम्हारे लिए हैं;
भूल न जाना तुम हमको कभी भी;
हमारी तरफ से शुभ रात्रि तुम्हारे लिए है।
शुभ रात्रि!
==================================
रात आती है सितारे लेकर;
नींद आती है सपने लेकर;
हमारी दुआ है ~कि सुबह आये;
आपके लिए खुशियां लेकर।
शुभ रात्रि!
==================================
दूर आसमान में चाँद शर्माया है;
फ़िज़ाओं में भी ~का रंग छाया है;
खामोश न रहो अब तो मुस्कुरा दो;
आपकी मुस्कान देखने ये रात का समय आया है।
शुभ रात्रि!
==================================
बड़े अरमानो से इसे बनवाया है;
रौशनी से इसे सजाया है;
ज़रा बाहर आ कर तो देखो;
खुद चाँद तुम्हें शुभ रात्रि कहने आया है।
शुभ रात्रि!
==================================
आप जो हँसो तो दुनिया हँस जाये;
आपकी हँसी इस दिल में बस जाये;
होगी मुलाक़ात ~कल फिर आपसे;
यही सोच कर दिल में मेरे खुशियों का रस घुल जाये।
शुभ रात्रि!
==================================
हमें नहीं पता कौन सी आखिरी हो;
ना जाने कौन सी मुला~क़ात आखिरी हो;
इसलिए सबको याद करके सोते हैं हम;
क्योंकि पता नहीं ज़िंदगी की कौन सी रात आखिरी हो।
शुभ रात्रि!
==================================
दुआ है कि आप की रात की अच्छी शुरुआत हो;
प्यार भरे मीठे सपनो की बरसात हो;
जिनको ढूंढ़ती रहीं दिन-भर आपकी आँखें;
रब्ब कर सपनों में उनसे मुलाक़ात हो।
शुभ रात्रि!
==================================
चाँद-सितारे सब तुम्हारे लिए;
सपने मीठे-मीठे तुम्हारे लिए;
भूल न जाना तुम हमको;
इसलिए हमारी तरफ से शुभ रात्रि का पैगाम तुम्हारे लिए।
शुभ रात्रि!
==================================

हो गयी है रात, आसमान में निकल आये सितारे;
सो गए सारे पंछी, क्या खूब हैं ये नज़ारे;
आप भी अब सो जाइए इस हसीन रात में;
देखिये सपने प्यारे-प्यारे।
शुभ रात्रि!
==================================
आप जो सो गए तो ख़्वाब हमारा आएगा;
एक प्यारी सी मुस्कान आपके चेहरे पर लाएगा;
खिड़की दरवाज़े दिल के खोल कर सोना;
वरना आप ही बताओ हमारा ख़्वाब कहाँ से आएगा।
शुभ रात्रि!
==================================
चाँद ने चाँदनी को याद किया;
प्यार ने अपने प्या~र को याद किया;
हमारे पास न चाँद है न चाँदनी;
इसलिए हमने अपने प्यारे दोस्त को याद किया।
शुभ रात्रि!
शुभ रात्रि  ==================================तेरी आरज़ू में हमने बहारों को देखा;
तेरी जुस्तजू में हमने सितारों को देखा;
नहीं मिला इस से~ बढ़कर इन निगाहों को कोई;
हमने जिसके लिए हज़ारों को देखा।
शुभ रात्रि!
==================================
चाँद तारों से रात जगमगाने लगी है;
फूलों की खुशबू दुनिया को महकाने लगी है;
सो जाओ, हो गयी है रात काफी;
सपनों की महफ़िल भी आपकी तरफ बढ़ने लगी है।
शुभ रात्रि!
==================================
चाँदनी बिखर गयी है सारी;
रब्ब से है ये दुआ हमारी;
जितनी प्यारी है तारों की रौशनी;
आपकी नींद भी हो इतनी ही प्यारी।
शुभ रात्रि!
==================================
इन अंधेरों के लिए कुछ आफ़ताब माँगे हैं;
दुआ में हम ने दो~ कुछ ख़ास माँगे हैं;
जब भी माँगा कुछ ख़ुदा से तो;
आपके लिए खुशियों के पल बे-हिसाब माँगे हैं।
शुभ रात्रि!
==================================
कोई दौलत पर ना~ज़ करता है;
कोई शोहरत पर नाज़ करता है;
जिसे मिलती हैं आपकी दुआएं;
वो किस्मत पर नाज़ करता है।
शुभ रात्रि!
शुभ रात्रि   ==================================जीवन की इस रात में तू चाँद और मैं सितारा होता;
आसमान में एक आशियाना हमारा होता;
लोग तुम्हें दूर से देखते;
नज़दीक़ से देखने का हक़ बस हमारा होता।
शुभ रात्रि!
==================================
अगर मंज़िल पानी है तो हौंसला साथ रखना;
अगर प्यार पाना है तो ऐतबार साथ रखना;
और अगर हमेशा मु~स्कुराना है तो सोने से पहले हमें याद रखना।
शुभ रात्रि!

==================================

सपनों की दुनिया में हम खोते चले गए;
मदहोश न थे मद~होश होते चले गए;
न जाने क्या बात थी आपके चेहरे में;
न चाहते हुए भी आपके होते चले गए।
==================================
शुभ रात्रि
दिल के सागर मे लहरें उठाया ना करो;
ख्वाब बनकर नींद चुराया ना करो;
बहुत चोट लगती है मेरे दिल को;
तुम ख़्वाबों में आ कर यूँ तडपाया ना करो।
==================================
शुभ रात्रि
वो दिन दिन नही, वो रात रात नही;
वो पल पल नही, जिस पल आपकी बात नही;
आपकी यादों से मौत हमे अलग कर सके;
मौत की भी इतनी औकात नही।
==================================
शुभ रात्रि
जब आपका नाम ज़ुबान पर आता है;
पता नही दिल क्यों मुस्कुराता है;
होती है तसल्ली यह सोच कर हमारे दिल को;
कि चलो कोई तो है अपना जो हर वक़्त याद आता है।
==================================
शुभ रात्रि
दिल में, होंठों पे एक दुआ रहती है;
हर घडी मुझे आप की परवाह रहती है;
खुदा हर ख़ुशी बख्शे~ आपको;
हर दुआ में एहि गुज़ारिश रहती है।
==================================
शुभ रात्रि
हम कभी अपनों से ख़फ़ा हो नहीं सकते;
दोस्ती के रिश्ते बेवफ़ा हो नहीं सकते;
आप भले हमें भुला के सो जाओ;
हम आपको याद~ किये बिना सो नहीं सकते।
==================================
शुभ रात्रि
जब भी इस दिल को आपकी याद आती है;
इस दिल ने सच्ची ख़ुशी मिल जाती है;
डर लगता है कि कहीं छूट न जाये आपका ये साथ;
इस लिए रब से आपको पाने की दुआ मांगी है।
==================================
शुभ रात्रि
कितनी जल्दी ज़िंदगी गुज़र जाती है;
प्यास बुझती नहीं बरसात चली जाती है;
आप की यादें कुछ इस तरह आती हैं;
नींद आती नहीं और रात गुज़र जाती है।
शुभ रात्रि!
==================================
दिल से निकली है दुआ हमारी;
जिन्दगी में मिले आपको खुशियां;
गम न दे खुदा आपको कभी;
चाहे तो एक ख़ुशी कम कर ले हमारी।
शुभ रात्रि!
==================================
वो दिल ही क्या जो तेरे मिलने की दुआ न करे;
मैं तुझ को भूल कर ~ज़िंदा रहूँ, ऐसा ख़ुदा न करे;
रहे तेरा साथ ज़िन्दगी भर के लिए;
बस इसी दुआ के साथ ये ज़िन्दगी कटती रहे
शुभ रात्रि!
==================================

ज़िंदगी में हम आपसे कभी जुदा नहीं होंगे;
जुदा होना भी~ चाहो तो हम होने नहीं देंगे;
सुनहरी रातों में जब सताएगी हमारी याद;
तब हमारी यादों के वो पल आपको सोने नहीं देंगे।
शुभ रात्रि!
शुभ रात्रि   ==================================इस तरह से आप हमें सताते हो;
भुलाने पर भी याद आ जाते हो;
रात के अंधेरे में ख़ुदा से मांगते हैं;
तब जाकर हमारे सपनों में आते हो।
शुभ रात्रि!
==================================
सितारे चाहते हैं कि रात आये;
हम क्या लिखें कि आपका जवाब आये;
सितारों सी चमक तो नहीं हम में;
हम क्या करें कि आपको हमारी याद आये।
शुभ रात्रि!
==================================
रब करे आज की रात की अच्छी शुरुआत हो;
प्यार भरे सपनो की बरसात हो;
जिनको पाने के लिए दिन भर ढूंढ़ती रही आपकी आँखे;
रब करे सपनो में आज उनसे मुलाक़ात हो।
शुभ रात्रि!
==================================
हर रात में भी आपके पास उजाला हो;
हर कोई आपका चाहने वाला हो;
वक़्त गुजर जाये उनकी यादो के सहारे;
ऐसा कोई आप के सपनो को सजाने वाला हो।
शुभ रात्रि!
==================================
ए पलक तू बंद हो जा, ख्‍बाबों में उनकी सूरत नजर आयेगी;
मुलाक़ात तो सुबह दोबारा होगी, कम से कम रात तो खुशी से कट जायेगी।
शुभ रात्रि!
==================================
मीठी मीठी याद पलकों में सजा लेना;
साथ गुज़रे पल को दिल में बसा लेना;
चाहे ना आ~ओ दिल में;
मगर मुस्कुरा कर मुझे सपनो में बुला लेना।
शुभ रात्रि!
==================================
रब तू अपना जलवा दिखा दे;
उनकी ज़िन्दगी ~को भी अपने नूर से सजा दे;
रब मेरे दिल की ये दुआ है;
मालिक मेरे दोस्त के सपने हकीक़त बना दे।
शुभ रात्रि!
==================================
मीठी रातों में धीरे से आ जाती है एक परी;
ख़ुशी के सपने ~साथ लाती है एक परी;
कहती है सपनों के सागर में डूब जाओ;
भूल के सारे दर्द, जल्दी से सो जाओ।
शुभरात्रि!
==================================
दुनिया जिसे नींद कहती है;
जाने वो क्या चीज़ होती है;
आँखें ~तो हम भी बंद करते हैं सोने के लिए;
पर यह सब तो उनसे मिलने की तरकीब होती है।
शुभरात्रि!
==================================

दोस्त हो आप मेरे ये बात बताना चाहता हूँ;
दोस्ती का एहसास आपको दिलाना चाहता हूँ;
आप तो हमारे लिए हो एक चाँद जैसे;
जिसे हर रात सोने से पहले देखना चाहता हूँ।
शुभ रात्रि!
==================================
ए खूबसूरत चाँद मेरे दोस्त को प्यारा सा यह तोहफा देना;
हज़ारों सितारों की महफ़िल के संग उनको खुशियों की रौशनी देना;
छुपा लेना हर ग़म का अँधेरा अपने अंदर;
मेरे दोस्त को मीठे सपनों का ये नज़राना देना।
शुभ रात्रि!
==================================
मुस्कान आपके होंठों से जाये कभी न;
आँसू आँखों में आयें कभी न;
दिल से दुआ हो कि हर सपना हो पूरा आपका;
जो पूरा न हो वो सपना आये कभी न।
शुभ रात्रि!
==================================
निकल गया है चाँद और निखर गए हैं सितारे;
सो गए हैं पंछी और सुं@दर हैं नज़ारे;
सो जाओ आप भी और देखो सपने नए-निराले।
शुभ रात्रि!
==================================
हमें नहीं पता कि कौन सी बात आखिरी हो;
ना जाने कि कौन सी मुलाक़ात आखिरी हो;
इसलिए सबको याद करके सोते हैं हम;
पता नहीं कि ज़िंदगी की कौन सी रात आखिरी हो।
शुभ रात्रि!
==================================
दिल चाहता है तुमसे प्यारी सी बात हो;
खामोश तराने हों, लंबी सी रात हो;
फिर उनसे रात भर यही मेरी बात हो;
तुम मेरी ज़िंदगी हो, तुम ही मेरी कायनात हो।
==================================
शुभ रात्रि
इन अंधेरों के लिए कुछ आफताब मांगे हैं;
दुआ में हमने दोस्त कुछ ख़ास मांगे हैं;
जब भी मांगा कुछ रब्ब से;
तो आपके लिए खुशियों के पल हज़ार मांगे हैं।
==================================
शुभ रात्रि
अपना हमसफ़र तू बना ले मुझे;
तेरा ही साया हूँ बस अ@पना ले मुझे;
ये रात का सफर और भी हसीन हो जायेगा;
तू आ जा मेरे सपनों में या बुला ले मुझे।
==================================
शुभ रात्रि
खुद में हम कुछ इस तरह खो जाते हैं;
सोचते हैं आप@को तो आपके ही हो जाते हैं;
नींद नहीं आती रातों में पर;
आपको ख्वाबों में देखने के लिए सो जाते हैं।
==================================
शुभ रात्रि
रह-रह कर तेरी याद आये तो क्या करें;
तुम्हारी याद दिल से न जाये तो क्या करें;
सोचा था ख्वा@ब में मुलाक़ात होगी;
इस ख़ुशी में नींद न आये तो क्या करें।
शुभ रात्रि!

==================================

आप हमारे सबसे अच्छे दोस्त हैं;
यह दिल से कहते हैं हम;
इसलिए आपको रोज़ याद करते हैं हम;
बाकी कुछ कहें न कहें रोज़ रात को आप को शुभ रात्रि कहते हैं हम।
==================================
मुझे नींद की इजाज़त भी उसकी यादों से लेनी पड़ती है;
जो खुद तो सो जाता है, मुझे करवटों में छोड़ कर!
शुभ रात्रि!
==================================
हर पल हर रात आपके साथ उजाला हो;
हर कोई सदा आपका चाहने वाला हो;
वक़्त बीत जाये उन@की याद के सहारे;
ऐसा कोई आपके सपने सजाने वाला हो।
==================================
शुभ रात्रि
चलो सो जाते हैं अब @फिर किसी सच की तालाश में;
कल फिर सुबह उठ कर फिर से झूठी दुनिया का दीदार करना है।
==================================
शुभ रात्रि
मीठी रातों @में धीरे से आ जाती है एक परी;
कुछ ख़ुशी के सपने साथ लाती है एक परी;
कहती है कि सपनों के सागर में डूब जाओ;
भूल के सारे दर्द जल्दी से सो जाओ।
==================================
शुभ रात्रि
ये रात चांदनी बन कर आपके आँगन में आये;
ये तारे सारे लो@री गाकर आपको सुलायें;
हों इतने प्यारे सपने आपके;
कि नींद में भी आप मुस्कराएं।
==================================
शुभ रात्रि
हो मुबारक आपको यह सुहानी रात;
मिले ख्वाबों में @भी खुदा का साथ;
खुले जब आपकी मदहोश आँखें;
तो ढेरों खुशियाँ हो आपके साथ।
==================================
शुभ रात्रि
रात हो चुकी है, ठंडी हवा चल रही है;
याद में आपको किसी की मुस्कान खिल रही है;
उनके सपनों की दुनिया में आप खो जाओ;
आँखें करो बंद और आराम से सो जाओ।
==================================
शुभ रात्रि
गहरी थी रात लेकिन हम खोए नहीं;
दर्द बहुत था दिल में, पर हम रोए नहीं;
कोई नहीं हमारा जो पूछे हमसे;
जाग रहे हो किसी के लिए, या किसी के लिए सोए नहीं।
==================================
शुभ रात्रि
रुक कर हवा ने हमसे तेरे घर का पता पूछा;
हमने पूछा क्यों उस घर में ऐसा क्या है;
उसने कहा चाँद है जो जुल्फों में घिरा है;
देखने को उसका चेहरा सारा जहां खड़ा है।
शुभ रात्रि!


==================================
चाँद जब निकलता है तो तेरा गुमां होता है;
इस कदर दिल फरेब समय होता है;
हम तेरी याद में खोए रहते हैं;
नींद में जब सारा जहां होता है।
==================================
शुभ रात्रि
सोती हुई आँखों को सलाम हमारा;
मीठे सुनहरे सपनों को आदाब हमारा;
दिल में रहे प्यार का एहसास सदा ज़िंदा;
आज की रात का य@ही पैग़ाम हमारा।
शुभ==================================!
शुभ रात्रि
कभी सोचते हैं एक गुलाब भेज दें;
कभी चाहते हैं पूरा बाग़ भेज दें;
जा रहे हो अगर @आप सोने को तो दिल करता है;
आपकी पलकों में प्यारा सा ख्वाब भेज दें।
==================================
शुभ रात्रि
आँखें भी मेरी पलकों से सवाल करती हैं;
हर वक़्त आपको ही याद करती हैं;
जब तक ना कह दें शुभ रात्रि आपको जालिम;
सोने से भी इंकार करती हैं।
==================================
शुभ रात्रि
याद आती है तो ज़रा खो जाते हैं;
आंसू आँखों में उतर आएं तो ज़रा रो लेते हैं;
नींद तो नहीं आती आँखों में लेकिन;
वो ख़्वाबों में आएंगे यही सोच कर सो लेते हैं।
==================================
शुभ रात्रि
मुझे भूल कर सोना, तेरी आदत ही बन गई है; ऐ दोस्त;
किसी दिन हम छोड़ कर चले गए तो सारी ज़िंदगी नींद नहीं आएगी।
==================================
शुभ रात्रि
काश कि तू चाँद और मैं सितारा होता;
आसमान में एक आशियाना हमारा होता;
लोग तुम्हे दूर से दे@खते;
नज़दीक़ से देखने का हक़ बस हमारा होता।
==================================
शुभ रात्रि
ऐसी हसीं आज बहारों की रात हैं;
एक चाँद आसमा पर है एक मेरे पास है;
देने वाले ने कोई क@मी ना की;
किसको क्या मिला ये मुकद्दर की बात है।
==================================
शुभ रात्रि
ज़िंदगी एक रात है, जि@स में ना जाने कितने ख्वाब हैं;
जो मिल गया वो अपना है, जो टुट गया वो सपना है।
==================================
शुभ रात्रि / जिंदगी  
चाँद भी तो देखो तुम्हें तांक रहा हैं;
सितारे भी थमे थमे से लग रहे हैं;
जरा मुस्कु@रा दो हम सब के लिए;
हम भी तो तुम्हें शुभ रात्रि कह रहें हैं।
शुभ रात्रि!
==================================

सितारे चाहते हैं कि रात आए;
हम क्या लिखें कि आ@पका जवाब आए;
सितारों की चमक तो नहीं मुझ में;
हम क्या करें कि हमारी याद आए।
==================================
शुभ रात्रि
दिन पे अँधेरा छा गया;
चाँद तारों के@ साथ आ गया;
रात का वक़्त सभी को सुला गया;
और मेरा SMS शुभ रात्रि कहने आ गया।
==================================
शुभ रात्रि
छोड़ देंगे एक दिन तुमसे मोहब्बत करना, ये वादा है मेरा;
बस ज़रा ज़िंदगी में सांसों से रिश्ता तो टूटने दे।
==================================
शुभ रात्रि
चाँद के पलंग पर, तारों की रजाई होगी;
अब सो जा मेरे दोस्त, वर्ना मम्मी से पिटाई होगी;
दुआ है कि सुबह की अंगड़ाई में ख़ुशी समाई होगी;
और जिंदगी की खुशियों ने बाहें फैलाई होगी।
==================================
शुभ रात्रि
जीवन के हर मोड़ पर सुनहरी यादों को रहने दो;
जुबां पर हर वक्त मिठास रहने दो;
ये अंदाज है जीने का;
ना रहो उदास और ना किसी को रहने दो।
==================================
शुभ रात्रि
लोग कहते हैं, अगर अच्छे लोगों को याद किया जाए तो वक़्त और रात दोनों बहुत अच्छे गुज़रते हैं;
इसीलिए मैंने सोचा आप को मेरी याद दिला दूँ।
==================================
शुभ रात्रि
कुछ पाने के लिए कुछ खोना पड़ता है;
मुस्कुराने के लिए भी रोना पड़ता है;
यूं ही नहीं होता है@ सवेरा;
सुबह होने के लिए रात भर सोना पड़ता है!
==================================
शुभ रात्रि
हम वक़्त नहीं जो गुज़र जाएंगे;
हम मौसम नहीं जो बदल जाएंगे;
हम तो वो आंसू है;
जो ख़ुशी और @ग़म दोनों में नज़र आएंगे।
==================================
शुभ रात्रि
सो जाइए पलकों में लेकर सपने ढेर सारे;
आपको करें सलाम ये चाँद और तारे;
खुदा से दुआ @करेंगे आज की रात;
पूरे हों आपके जो हैं ख्वाब वो सारे।
==================================
शुभ रात्रि
वो सो जाते हैं अक्सर हमें याद किए बगैर;
हमें नींद नहीं आती उनसे बात किए बगैर;
कसूर उनका नहीं, कसूर तो हमारा है;
उन्हें चाहा भी तो उनकी इजाज़त लिए बगैर।
शुभ रात्रि!

==================================


दुनियां जिसे नींद कहती है;
जाने वो क्या चीज़ होती है;
आँखें तो हम भी बंद करते हैं;
==================================
शुभ रात्रि
कब उनकी पलकों से इज़हार होगा;
दिल के किसी कोने@ में हमारे लिए प्यार होगा;
गुज़र रही है रात उनकी यादो में;
कभी उनको भी हमारा इंतज़ार होगा।
==================================
शुभ रात्रि
चाँद का रंग है White;
रात को चमक@ता है Bright;
हमको देता है मस्त Light;
मैं कैसे सो जाऊं, आपको बिना कहे Good Night।
==================================
शुभ रात्रि
चाँद ने कर दिया है तारों को Invite;
सूरज ने पकड़ ली है सुबह की Flight;
भगवान को याद कर लो और बंद कर दो Light;
मेरी तरफ से आपको एक प्यारा सा Good Night!
==================================
शुभ रात्रि
लोग कहते हैं रातों@ को सोकर सुकून मिलता है;
हम वो वक़्त भी किसी की यादों में बिता देते हैं।
==================================
शुभ रात्रि
आज फिर @सोने लगे तो तुम याद आ गए;
ना जाने तुम मेरी नींद हो या दिल की धड़कन।
==================================
शुभ रात्रि
छोड़ देंगे एक दिन तुमसे मोहब्बत करना, यह वादा है मेरा;
ज़रा ज़िंदगी का सांसों से रिश्ता तो टूटने दे।
==================================
शुभ रात्रि
हम ने एक असूल पे सारी उम्र गुज़ारी है;
जिस को अपना जान लिया फिर उस को परखा नहीं।
==================================
शुभ रात्रि
चाँद की चांदनी ने एक पालकी बनाई है;
और ये पालकी हमने बड़े प्यार से सजाई है;
दुआ है ये हवा तु@झसे, जरा धीरे चलना;
मेरे यारों को बड़ी प्यारी नींद आई है।
==================================
शुभ रात्रि
अभी तो रात बाकी है, मेरे दिल की बात बाकी है;
जो मेरे दिल में @पा है, वो जज़्बात बाकी है;
जल्दी से सो जाना दोस्त, आप की नींद बाकी है;
सुबह मिलते हैं, कल की शुरुआत बाकी है।
शुभ रात्रि!

==================================

चांदनी बिखर गई है सारी;
रब से है ये दु2@आ हमारी;
जितनी प्यारी है तारों की यारी;
आपकी नींद भी हो उतनी ही प्यारी।
==================================
शुभ रात्रि
जब भी तेरी दीद का इम्कान रहेगा;
दिल और परेशान रहेगा;
चलो दूर रह कर ख़्वाबों में मिलते हैं;
मिलने का यही रास्ता आसान रहेगा।
==================================
शुभ रात्रि
अपनों के प्यार में, दोस्तों की याद में;
सलामत रहे ये ज़िंदगी हमारी;
क़यामत हो ना हो;
याद रहे सदा आप को हमारी।
==================================
शुभ रात्रि
दुनियां की भीड़ में मेले ही मेले हैं, दिखते साथ है, पर सब अकेले हैं।
==================================
शुभ रात्रि
ज़िंदगी के तीन खूबसूरत लम्हे:
सुबह की नींद, दोपहर की नींद, और रात की नींद।
==================================
शुभ रात्रि
चाँद तारों से रात जगमगाने लगी;
फूलों की खुश्बू से दुनियां महकाने लगी;
सो जाइए रात हो गई है काफी;
निंदिया रानी भी आपको देखने आने लगी।
==================================
शुभ रात्रि
ऐ रब तू अपना जलवा दिखा दे;
उनकी ज़िंदगी को भी @अपने नूर से सजा दे;
बस मेरे दिल की यह दुआ है मालिक, इस मैसेज को पढ़ने वाले के सपने को हक़ीक़त बना दे।
==================================
शुभ रात्रि
एक बार जान माँग के तो देखो@, एक बार याद कर के तो देखो;
अगर हम ना आए तो समझ लेना, शहज़ादे सो रहे हैं।
==================================
शुभ रात्रि
निकलता नहीं है कोई दिल में बस जाने के बाद;
दिल दुखता है बिछड़ जा@ने के बाद;
पास जो होता है तो क़दर नहीं होती उसकी;
महसूस होती है कमी उनके दूर जाने के बाद।
==================================
शुभ रात्रि
तन्हा जब दिल होगा, आपको आवाज़ दिया करेंगे;
रात में सितारों से आप@का जिक्र किया करेंगे;
आप आए या ना आए हमारे ख़्वाबों में;
हम बस आपका इंतज़ार किया करेंगे।
शुभ रात्रि!
==================================


क्यों इंसान हँसता है रोने के बाद;
जीना फिर भी पड़ता है सब कुछ खोने के बाद;
सोचा आज सबको याद कर लूँ;
क्या पता आँख ही ना खुले आज सोने के बाद।
==================================
शुभ रात्रि
वो तेरा नहीं, वो किसी और का है;
ऐ दोस्त चुप @करके सो जा;
रात रोने के लिए नहीं, सोने के लिए है।
शुभ रात्रि!
==================================
आज की रात आपके लिए खास हो;
हर वक़्त मच्छर आप@के आस-पास हो;
काट-काट कर आपकी जान खाए;
भगवान करे सारी रात आपको नींद ना आए।
==================================
शुभ रात्रि
चुपके से सुनो, धीरे से गिनो;
एक छोटी सी बात, हो गई है रात;
सो जाओ प्यार से, @सपनों के साथ;
बंद करो लाइट, मुझे आपसे कहना है "गुड नाईट"!
==================================
शुभ रात्रि
रात है काफी ठंडी हवा चल रही है;
याद में आपकी किसी की मुस्कान खिल रही है;
उनके सपनों की दुनियां में आप खो जाओ;
आँख बंद करो और आराम से सो जाओ।
==================================
शुभ रात्रि
रात भर नींद ही @ना आए तो;
अश्क़ आँखों में छल छलाए तो;
क्या हुआ है बताएं कैसे;
याद कोई बहुत ही आए तो;
तो क्या?
.==================================
..
गुड नाईट और क्या!
शुभ रात्रि
चाँद का@ हो बिस्तर, तारों की हो रज़ाई;
और फूलों का तकिया;
अच्छा है ना, मज़ा आया ना!
चलो अब धरती पे वापिस आ जाओ;
और स्लीप ऑन यूअर(sleep@ on your) चारपाई!
==================================
शुभ रात्रि
जब रात को @नींद ना आए;
दिल की धड़कन भी बढ़ जाए;
तब दूसरों की नींद खराब करो;
शायद उनकी दुआ से आपको नींद आ जाए!
==================================
शुभ रात्रि
चाँद के लिए सितारे अनेक हैं;
लेकिन सितारों के लिए चाँद एक है;
आपके लिए तो @हज़ारों होंगे;
लेकिन हमारे लिए आप ही एक हैं!
==================================
शुभ रात्रि
चाँदनी रात में बरसात बुरी लगती है;
घर में हो लाश तो बारात बुरी लगती है;
ख़ुशी में मेरे @दोस्त कुछ भी कह दो;
लेकिन ग़म में तो हर बात बुरी लगती है।
शुभ रात्रि!
================================

चाँदनी रात में जब सारा जहान सोता है;
किसी की याद में कोई बदनसीब रोता है;
ख़ुदा किसी को प्यार पे फ़िदा ना करे;
और करे तो जुदा ना करे।
शुभ रात्रि!
================================
जहाँ दोस्ती वहाँ प्यार, जहाँ प्यार वहाँ इश्क़;
जहाँ इश्क़ वहाँ जुदाई, जहाँ जुदाई वहाँ दर्द;
जहाँ दर्द वहाँ झंडू बाम;
झंडू बाम ल!गाओ और चुप कर के सो जाओ।
शुभ रात्रि!
================================
पहुँच है हमारी चाँद तक;
यह तारे भी सलाम किया करते हैं;
यह आसमान भी झु!क जाता है;
जब हम आपको याद किया करते हैं।
शुभ रात्रि!
================================
बिंदास सोने का, रपचिक सपने देखने का;
भूत को नहीं देखने का, बोले! तो आईना नहीं देखने का;
और चादर ओढ़ के फुलटॉस सो जाने का, बोले तो गुड नाईट!
शुभ रात्रि!
================================
काजल सी खामोश रातों में भी दिल में रौ!शनी जगमगाने लगती है;
जब आप जैसे दोस्त का ख्याल आता है तो, हौले से यह दिल कहता है शुभ रात्रि!
शुभ रात्रि!
================================
वो फूलों वाला तकिया मोड़ के सोना;
सपनों की रजाई ओढ़ के सोना;
रात को ख्वाबों में हम भी आएंगे;
इसीलिए थोड़ी जगह छोड़ के सोना।
शुभ रात्रि!
================================
ओ जाओ, सो जाओ, मुझे गुड नाईट कहे बिना सो जाओ;
रात की रानी आएगी, धक्का दे कर जाएगी;
बिस्तर से आपको !गिराएगी;
फिर सारी नींद उड़ जाएगी!
शुभ रात्रि!
================================
दोस्ती अगर बुरी हो तो उसे होने मत दो;
अगर हो गई हो तो उसे खोने मत दो;
और अगर दोस्त हो! सबसे प्यारा;
तो उसे सोने मत दो, जागते रहो!
शुभ रात्रि!
================================
फिर उम्मीदों भरी रात आई है;
चाँद तारों को भी साथ लाई है;
हमारे एक संदेश का असर तो देखिए;
कि ठंडी हवा भी आपको शुभ रात्रि कहने आई है!
शुभ रात्रि!
================================
चमकते चाँद को नींद लगी;
आपकी ख़ुशी से दुनियां जगमगाने लगी;
देख के आपको हर कली गुनगुनाने लगी;
अब तो फैंकते-फैंकते मुझे भी नींद आने लगी!
शुभ रात्रि!

================================



अँधेरी सड़क सुनसान कब्रिस्तान;
सूनी हवेली काला आसमान, बिजली कड़की आया तुफान;
रात हो गई सो जा शैतान!
शुभ रात्रि!
================================
प्यारी सी रात में, प्यारे से अँधेरे में;
प्यारी सी नींद में, प्यारे से सपनों में;
प्यारे से दोस्त को, प्या!री सी शुभ रात्रि!
शुभ रात्रि!
शु================================  
चाँद ने चाँदनी को याद किया;
रात ने सितारों को याद किया;
हमारे पास ना तो चाँद है ना चाँदनी;
इसीलिए हमने अपने चाँद से भी प्यारे दोस्त को याद किया!
शुभ रात्रि!
================================
मुझे सुलाने की ख़ातिर जब रात आती है;
हम सो नहीं पाते रात खुद सो जाती है;
पूछने पर दिल से यह आवाज़ आती है;
आज दोस्त को याद कर ले, रात तो रोज आती है।
शुभ रात्रि!
================================
कुदरत के करिश्मों में अगर रात ना होती;
तो ख्वाब में उनसे मुला!कात ना होती;
वो वादा तो कर गए कि आएंगे ख्वाब में;
मारे ख़ुशी के नींद ना आए तो क्या करें!
शुभ रात्रि!
================================
ऐ चाँद सितारो इन को ज़रा एक हाथ मारो;
बिस्तर से इनको नीचे उतारो;
करो इनके साथ अब !तुम फाइट;
क्योंकि यह सब सो रहे हैं बिना कहे गुड नाईट!
================================
शुभ रात्रि  
रात का चाँद आसमां में निकल आया है;
साथ में अपने तारों की बारात लाया है;
ज़रा आसमां की ओर तो देखो;
वो आपको मेरी ओर से शुभ रात्रि कहने आया है!
================================
शुभ रात्रि  
किसी के दिल को ठेस पहुँचा कर माफ़ी माँगना बहुत ही आसान है,
लेकिन चोट खाकर किसी को माफ़ करना बहुत ही मुश्किल है।
================================
शुभ रात्रि  
सोने वाले सो जाते हैं;
और किस्मत के मारे सोने की आस में;
बस तड़पते ही रह !जाते हैं;
कारण पूछो तो सब दिल की बीमारी ही बताते हैं।
================================
शुभ रात्रि  
सितारों को भेजा है आपको सुलाने के लिए;
चाँद आया है लोरी गाने के लिए;
सो जाओ मीठे !ख्वाबों में;
सुबह सूरज को भेजूंगा आपको जगाने के लिए।
शुभरात्रि!

================================


रात को चुपके से आती है एक परी;
कुछ ख़ुशियों के सपने लाती है एक परी;
कहती है सपनों के आ!गोश में खो जाओ;
भूल के सारे गम चुपके से सो जाओ!
================================
शुभ रात्रि  
तेरी पलकों में रहना है;
रात भर के !लिए जानेमन;
मैं तो एक ख्वाब हूँ;
सुबह होते ही चला जाऊँगा!
================================
शुभ रात्रि  
नींद का साथ हो, सपनों की बारात हो;
चाँद सितारे भी साथ हो;
और कुछ रहे ना रहे;
पर हमारी यादें आपके साथ हो।
================================
शुभ रात्रि  
हो मुबारक आपको यह सुहानी रात;
मिले ख़्वाबों में भी ख़ुदा का साथ;
खुले जब आपकी आँखें तो;
ढेरों ख़ुशियाँ हो आपके साथ।
===========!=====================
शुभ रात्रि  
तभी सुबह सुहानी होगी;
जब रात आपकी दीवानी होगी;
खूब मिलेंगे दु!नियाँ की राहों में;
जो हमसे आपकी कहानी होगी।
================================
शुभ रात्रि  
देखा फिर रात आ गई;
शुभरात्रि कहने की बात याद आ गई;
हम बैठे !थे सितारों की पनाह में;
चाँद को देखा तो आपकी याद आ गई।
================================
शुभ रात्रि  
ज़िंदगी में कामयाबी की मंज़िल के लिए ख़्वाब ज़रूरी है;
और ख़्वाब देखने के लिए नींद;
तो अपनी मंज़िल की पहली सीढ़ी चढ़ो;
और सो जाओ!
================================
शुभ रात्रि  
यह कोई सोने का वक़्त है?
जब देखो सोते रहते हो?
क्या सारी ज़िंद!गी सो-सो के बितानी है?
और हां जाग जाओ तो शोर मत करना, हम सो रहे हैं!
================================
शुभ रात्रि  
नींद तो आने को थी;
पर दिल पिछले क़िस्से ले बैठा;
वही तन्हाई! वही आवारगी;
वही उसकी यादें और वही सुबह।
शुभरात्रि!
================================
खूबसूरत आँखें तेरी;
रात को !जागना छोड़ दे;
खुद बा खुद नींद आ जायेगी;
तुम मुझे सोचना छोड़ दे।
शुभरात्रि!
================================

लफ़्ज़ों की तरह दिल की किताबों में मिलेंगे;
या बनकर महक गुलाबों में मिलेंगे;
मिलने के लिए ए दोस्त ठीक से सोना;
आज रात हम आप को ख़्वाबों में मिलेंगे।
================================
पलकों पर दस्तक देने कोई ख़्वाब आने वाला है;
ख़बर मिली है कि वो ख़्वाब सच होने वाला है;
हमने कहा उसकी पलकों पर जा;
जो प्यारा सा दोस्त सोने वाला है।
================================
शुभ रात्रि  
आकाश के तारों में खोया है जहां सारा;
लगता है प्यारा एक-एक तारा;
उन तारों में सबसे प्यारा है एक सितारा;
जो इस वक़्त पढ़! रहा है संदेश हमारा।
================================
शुभ रात्रि  
रात काफी हो चुकी है;
अब चिराग़ बुझा !दीजिए;
एक हसीं ख़्वाब राह देख रहा है आपका;
बस पलकों के पर्दे गिरा दीजिए।
================================
शुभ रात्रि  
चाँद को बिठा के पहरे पे;
तारों को दिया !निगरानी का काम;
एक रात सुहानी आपके लिए;
एक मीठा सा सपना आपकी आँखों के नाम।
================================
शुभ रात्रि  
ऐसा लगता है कुछ जा रहा है;
कोई मीठे सपनों में खोने जा रहा है;
धीमी कर दे अपनी रौशनी ऐ चाँद;
मेरा दोस्त अब सोने जा रहा है।
शुभरात्रि!
================================
कपड़ों को समेटे हुए उठी है मगर;
डरती है कहीं उन को ना हो जाए खबर;
थक कर अभी सो!ए हैं, कहीं जाग ना जाएँ;
धीरे से ओड़ा रही है उनको चादर।
शुभरात्रि!
================================
मुझे नींद की इजाज़त भी;
उसकी यादों से! लेनी पड़ती है;
जो खुद आराम से सोता है;
मुझे करवटों में छोड़कर।
शुभरात्रि!
================================
आप जो सो गये तो ख़्वाब हमारा आएगा;
एक प्यारी सी मुस्का!न आपके चेहरे पर लाएगा;
खिड़की दरवाज़े दिल के खोल कर सोना;
वर्ना आप ही बताओ हमारा ख़्वाब कहाँ से आएगा!
शुभरात्रि!
================================
चांदनी रात में मदहोश होने से पहले;
ख्वाबों की दुनियाँ में! खोने से पहले;
आपको याद दिला दूँ;
कलमा पढ़ लेना सोने से पहले।
शुभरात्रि!

================================

दीपक में अगर नूर ना होता;
तन्हा दिल यह मज!बूर ना होता;
हम आपको शुभरात्रि कहने आते;
अगर आपका घर इतनी दूर ना होता।
शुभरात्रि!
================================
कितनी हसीं यह रात आई है;
चाँद तारों की सौगात साथ लाई है;
हमारी चाहत का ही तो असर है ये;
यूँ ही नहीं यह बरसात आई है।
शुभरात्रि!
================================
ना जाने क्यों इतनी जल्दी यह रात आ जाती है;
बातों ही बातों में आपकी याद आ जाती है;
हम तो आपको शुभरात्रि कहना चाहते हैं;
लेकिन ना जाने क्यों आपकी याद आ जाती है।
शुभरात्रि!
================================
मिलने आएँगे आपसे ख्वाबों में;
ज़रा रौशनी के दीये बु!झा दीजिए;
अब और नहीं होता इंतज़ार आपसे मुलाकात का;
अपनी आँखों के परदे गिरा दीजिए।
शुभरात्रि!
================================
बहुत सताती है यह रात;
दिल बेबस है कि!सी की यादों में;
अब तो निकल आ ऐ दिन;
फिर ज़िंदगी की शाम भी होनी है।
शुभरात्रि!
================================
रात जब किसी की याद सताए;
हवा जब बालों को सहलाये;
कर लो आँखे बंद और सो जाओ;
क्या पता जिस का है ख्याल वो आँखों में आ जाये।
शुभरात्रि!
================================
निकल आया चाँद बिखर गए सितारे;
सो गए पंछी सो ग!ए नज़ारे;
खो जाओ तुम भी मीठे ख़्वाबों में;
और देखो रात में सपने प्यारे-प्यारे।
शुभ रात्रि!
================================
रात है काफी ठंडी हवा चल रही है;
याद में आपकी किसी की मुस्कान खिल रही है;
उनके सपनों की दुनिया में आप खो जाओ;
आँख करो बंद !और आराम से सो जाओ।
शुभ रात्रि!
================================
आकाश के तारों में खोया है जहां सारा;
लगता है प्यारा एक एक तारा;
उन तारों में सबसे !प्यारा है एक सितारा;
जो इस वक़्त पढ़ रहा है संदेश हमारा।
शुभ रात्रि!
================================
चाँद तारों से रात जगमगाने लगी;
फूलों की खुश्बू दुनिया महकाने लगी;
सो जाईये रात हो गई है काफी;
निंदिया रानी भी आपको देखने है आने लगी।
शुभरात्रि!


================================

हम कभी अपनों से ख़फ़ा हो नहीं सकते;
दोस्ती के रिश्ते बेवफा हो नहीं सकते;
आप भले हमें भुला के !सो जाओ;
हम आपको याद किये बिना सो नहीं सकते।
शुभरात्रि!
================================
सपनों में मेरे हो तुम ही तुम;
तुम्हारा नूर ही है जो पड़ रहा है चेहरे पे;
दिन रात आती हो मेरे !ख्यालों में;
वरना कौन देखता तुम्हें अँधेरे में|
शुभरात्रि!
================================
आज आप की रात की अच्छी शुरुआत हो;
प्यार भरे सपनों की बरसात हो;
जिनको दिन भर ढूंढती रही आपकी पलकें;
रब करे सपनों में उनसे ही मुलाकात हो| शुभरात्रि
================================
रात खामोश है,चाँद भी खामोश है;
पर दिल में शोर हो रहा है;
कहीं ऐसा तो नहीं कोई प्यारा सा दोस्त;
बिना गुड नाईट के सो रहा है।
गुड नाईट!
================================
ए चाँद मेरे दोस्त को एक तोहफा देना;
तारों की महफ़ि!ल संग रौशनी करना;
छुपा लेना अंधेरे को;
हर रात के बाद एक खूबसूरत सवेरा देना।
शुभरात्रि
================================
चाँद तारों से रात जगमगाने लगी;
फूलों की खुश्बू दुनिया को महकाने लगी;
सो जाओ रात हो ग!यी काफ़ी;
निंदिया रानी भी आपको देखने आने लगी।
गुड नाईट!
================================
चाँद की चाँदनी ने एक पालकी बनाई है;
और ये पालकी हमने बड़े प्यार से सजाई है;
दुआ है ऐ हवा ज़रा धीऱे से चल;
मेरे यार को बड़ी प्यारी सी नींद आयी है।
गुड नाईट!!
================================
हो मुबारक़ आपको यह सुहानी रात;
मिले ख्वाबों में !भी! ख़ुदा का साथ;
खुलें जब आँखें आपकी;
तो ढेरों खुशियाँ हों आपके साथ।
गुड नाईट!
================================
दर्द आपके इंतज़ार का हम चुप चाप सहते हैं;
क्योंकि आप हर पल !हमारे दिल में रहते हैं;
ना जाने हमें नींद आएगी भी कि नही लेकिन;
आप ठीक से सो सको इसलिए आपको गुड नाईट कहते हैं।
गुड नाईट!
================================
रात का चाँद आपको सलाम करे;
परियों की आवाज़ आपको आदाब करे;
सारी दुनिया को! ख़ुश रखने वाला वो रब;
हर पल आपकी खुशियों का ख्याल करे।
गुड नाईट!
================================


आँखों में आंसू !की जगह न हो;
मेरे पास आपको भुलाने की वजह न हो;
अगर भूल जाऊं किसी तरह;
तो खुदा करे जिंदगी की अगली सुबह न हो।
================================
शुभ रात्रि  
दिन भर की थकान अब मिटा लीजिये;
हो चुकी है रात, रोशनी बुझा लीजिये;
एक खूबसूरत !ख्वाब राह देख रहा है आपकी;
बस पलकों का पर्दा गिरा लीजिये।
गुड नाईट!
================================
पलकों पर दस्तक देने कोई ख्वाब आने वाला है;
ख़बर मिली है कि वो ख्वाब सच होने वाला है;
हमने कहा उ!सकी पलकों पर जा;
मेरा प्यारा दोस्त अभी सोने वाला है।
गुड नाईट!
================================
वो फूलों वाला तकिया मोड़ के 'सोना';
सपनों की रजाई ओढ़ के 'सोना';
रात को ख्वाबों में हम भी आयेंगे;
इसलिए थोड़ी जगह छोड़कर 'सोना'।
गुड नाईट
================================
सितारों से भरी रा!त में जन्नत से भी खूबसूरत ख्वाब आपको आयें;
इतनी हसीन हो आपकी आने वाली सुबह कि;
मांगने से पहले आपकी हर मुराद पूरी हो जाए।
शुभ रात्रि!
शु================================  
मिलने आयेंगे आपसे ख़्वाबों में;
जरा रोशनी के दिए भुजा दीजिये;
अब और नहीं हो!ता इंतज़ार आपसे मुलाक़ात का;
अपनी आँखों के पलके गिरा दीजिये।
गुड नाईट!
शु================================
वो सो !जाता है अक्सर हमें याद किये बगैर;
हमें नींद नहीं आती उनसे बात किये बगैर;
कसूर उनका नहीं कसूर तो हमारा है;
उन्हें चाहा भी तो उनकी इज़ाज़त लिए बगैर।
गुड नाईट!
================================
देखो रात आ गई फिर सुहानी;
आ रही है मीठी-मीठी नींदिया रानी;
हमने सोचा हम सो रहे हैं;
आपको भी अच्छा SMS करके सुलाते हैं।
गुड नाईट|
================================
गीत की ज़रूरत महफ़िल में होती है;
प्यार की ज़रूरत दिल में होती है;
बिन दोस्ती के! अधूरी है ये ज़िन्दगी;
क्योंकि दोस्त की ज़रूरत हर पल महसूस होती है।
गुड नाईट!
================================
तनहा जब !दिल होगा, आपको आवाज़ दिया करेंगे;
रात में सितारों से आपका जिक्र किया करेंगे;
आप आयें या न आयें हमारे ख्वाबों में;
हम बस आपका इंतज़ार किया करेंगे।
गुड नाईट!
================================


आकाश के तारों में खोया है जहाँ सारा;
लगता है प्यारा एक-एक तारा;
उन तारों में !सबसे प्यारा है एक सितारा;
जो इस वक्त पढ़ रहा है sms हमारा।
गुड नाईट!
================================
क्यों किसी के ख्यालों में खोया जाए;
क्यों किसी की या!दों में रोया जाए;
इस दुनिया के झमेले में पड़ना है बेकार यारों;
चलो जी भर के सोया जाए।
गुड नाईट!
================================
वो तेरा नहीं वो किसी और का है;
अए दोस्त चुप करके सो जाओ;
रात रोने के लि!ए नहीं;
सोने के लिए है।
गुड नाईट!
================================
आज की रात आपके लिए ख़ास हो;
हर वक्त मच्छर आपके! आस पास हों;
काट काटकर आपकी जान खाएं;
भगवान करे आपको सारी रात नींद न आए।
गुड नाईट!
================================
चुपके से सुनो, धीरे से गिनो;
एक छोटी सी बात, हो गई है रात;
सो जाओ प्यार से!, सपनो के साथ;
बंद करो लाइट, मुझे आपसे कहना है "गुड नाईट।"
गुड नाईट!
================================
न दिन को लाइट;
न रात को लाइट;
वाह वाह वा!ह;
न दिन को लाइट;
न रात को लाइट;
गुड नाईट, गुड नाईट।
================================
कामयाब होने के लिए मंजिल जरूरी है;
और उसे पाने के लिए ख्वाब;
और ख्वाब देखने के लिए नींद;
तो अपनी मंजिल की तरफ कदम बढ़ाओ;
और सो जाओ।
शुभ रात्रि!
================================
सितारों को भेजा है आपको सुलाने के लिए;
चाँद आया है लोरी !गाने के लिए;
सो जाएं मीठे ख़्वाबों में आप;
सुबह सूरज को भेजेंगे आपको जगाने के लिए।
गुड नाईट!
================================  
सोती हुई आँखों को सलाम हमारा;
मीठे सुनहरे सपनों को आदर्श हमारा;
दिल में रहा प्या!र का एहसास जिंदा;
आज की रात का यही पैगाम हमारा।
शुभ रात्रि!
================================
रात होगी तो !चाँद दिखाई देगा;
ख़्वाबों में वो चेहरा दिखाई देगा;
ये किसी का प्यार भरा "गुड नाईट" sms है;
जवाब नहीं दिया तो सपने में 'भूत' दिखाई देगा।
शुभ रात्रि!


================================

रात है काफी ठंडी हवा चल रही है;
याद में आपकी किसी की मुस्कान खिल रही है;
उनके सपनों की दुनिया में आप खो जाओ;
आँख करो बंद और आ!राम से सो जाओ।
गुड नाईट!
================================  
आपसे दूर रहकर भी आपको याद किया हमने;
रिश्तों का हर फ़र्ज़ अदा! किया हमने;
मत सोचना की आपको भुला दिया हमने;
आज फिर सोने से पहले याद किया हमने।
शुभ रात्रि!
================================
जगमगाने लगी रात चाँद तारों से;
महक रही है दुनि!या फूलों की खुशबु से;
सो जाओ अब रात हो गई है काफी;
आँख बंद करो और कहो निंदिया रानी से।
गुड नाईट!
================================  
ठंडी हवा चल रही है;
आपकी याद में किसी कि मुस्कान खिल रही है;
दुनिया में उनके सपनों में खो जाओ;
आँख बंद करो और आराम से सो जाओ।
शुभ रात्रि!
================================
पत्थर से दोस्ती जान को खतरा;
पठान से दोस्ती दिमाग को खतरा;
दारु से दोस्ती लीवर को खतरा;
हमसे दोस्ती रात में SMS का खतरा।
गुड नाईट!
================================  
होंठो पे कभी न कोई सवाल रखियेगा;
जिंदगी को हर पल खुशहाल रखियेगा;
जिंदगी का तो नाम ही! है परेशानियां;
इन्हें भुलाकर बस अपना ख्याल रखियेगा।
गुड नाईट!
================================  
सितारों से जगमगाया आसमान;
हमारे तो हलक में अटकी है जान;
क्या करें आपको सुलाने के लिए;
सोजा वर्ना नि!कल जायेगी जान।
गुड नाईट!
================================  
हम आपको खोने नहीं देंगे;
अपने से जुदा कभी होने नहीं देंगे;
आज ही भिज!वा रहें हैं दस हज़ार मच्छर;
जो रात भर आपको सोने नहीं देंगे।
गुड नाईट!
================================  
हो चुकी रात बहुत अब सो भी जाइये;
जो है दिल के करीब उसके ख्यालों में खो भी जाइये;
कर रहा होगा कोई इंतज़ार आपका;
ख्वाबों में ही सही मिल तो आइये।
गुड नाईट!
================================
रोशनी हो चाँद जितनी;
ख़ुशी हो गुलाब जितनी;
दूरी हो रुमाल जितनी;
दोस्ती हो आप जितनी;
प्यार हो गॉ!ड जितना;
नाईट हो आल आउट जितना।
गुड नाईट!

================================


हवा चल रही है राईट;
तारे चमक रहें हैं ब्राइट;
मून तारों के बीच में है वाइट;
ज्यादा मत! सोचो बंद करो लाइट;
और सो जाओ "गुड नाईट।"
================================
ऐसा लगता है कुछ होने जा रहा है;
कोई मीठे सपनों में खोने जा रहा है;
धीमीं कर दो अपनी रोशनी ए चाँद;
मेरा कोई अपना अब सोने जा रहा है।
गुड नाईट!
================================
चाँद की चांदनी ने एक पालकी बनाई है;
और ये पालकी हमने ब!ड़े प्यार से सजाई है;
दुआ है ये हवा तुझसे जरा धीरे चलना;
मेरी यार को बड़ी ही प्यारी नींद आई है।
================================
प्यार करने वालों को सलाम हमारा;
आप कैसे हो सवा!ल हमारा;
याद करते रहेंगे वादा है हमारा;
फिलहाल कबूल कीजिये "गुड नाईट" का तोहफ़ा हमारा।
गुड नाईट!
शुभ रात्रि  
आज फिर सोने लगे तो तुम याद आ गए;
ना जाने
.
. .
. . .
"तुम मेरी नींद हो, या दिल की धड़कन।"
गुड नाईट!
================================
पत्थर की दुनिया जज्बात नहीं समझती;
दिल में क्या! है वो बात नहीं समझती;
तन्हा तो चाँद भी सितारों के बीच में है;
पर चाँद का दर्द वो रात नहीं समझती।
================================
शुभ रात्रि  
चाँद को भेजा है बनाकर पहरेदार;
तारों को सौंपा है !निगरानी का काम;
रात ने जारी किया है फरमान;
सारे स्वीट ड्रीम सिर्फ आपके नाम।
================================
शुभ रात्रि  
दर्द आपके इंतज़ार का !हम चुपचाप सहते हैं;
क्योंकि आप हर पल हमारे दिल में रहते हैं;
ना जाने हमें नींद आयेगी भी कि नहीं;
लेकिन;
आप ठीक से सो सकें इसलिए आपको "गुड नाईट" कहते हैं।
================================
शुभ रात्रि  
सोते हुए को जगायेंगे हम;
आपकी नींद को चुरायेंगे हम;
हर वक्त SMS कर सतायेंगे हम;
आपको आ!येगा गुस्सा लेकिन;
उस गुस्से में ही याद तो आयेंगे हम।
शुभ रात्रि!
================================
कुछ पाने के लिए कुछ खोना पड़ता है;
मुस्कुराने के लिए रोना भी पड़ता है;
यूं ही नहीं हो जा!ता है सवेरा;
सुबह देखने के लिए रात भर सोना पड़ता है।
शुभ रात्रि!
================================


जीवन के हर मोड़ पर सुनहरी यादों को रहने दो;
जुबां पर हर वक्त मिठास रहने दो;
ये अंदाज है जीने का;
ना रहो उदास और ना किसी को रहने दो।
================================
शुभ रात्रि  
तुमसे दूर जाने का इरादा न था;
साथ रहने का वादा न था;
तुम याद न करोगे ये जानते थे हम;
पर इतनी जल्दी भूल जाओगे, अंदाजा न था।
================================
शुभ रात्रि  
आज आपकी रात की अच्छी शुरुआत हो;
प्यार भरे सपनों की बरसात हो!;
जिनको दिन भर ढूंढती हैं आपकी पलकें;
रब करे सपनो में उनसे मुलाकात हो।
================================
शुभ रात्रि  
कहीं अँधेरा! तो कहीं शाम होगी;
मेरी हर ख़ुशी तेरे नाम होगी;
कुछ मांगकर तो देख हमसे;
सारी जिंदगी तेरे नाम होगी।
शुभ रात्रि
================================
हम तुम्हें पाकर खोना नहीं चाहते;
जुदाई में आपकी रोना नहीं चाहते;
तुम हमारे ही रहना हमेशा;
हम भी किसी और के होना नहीं चाहते।
शुभ रात्रि!
================================
जब दोस्ती तो प्यार;
जब प्यार तब विश्वास;
जब विश्वास तब धोखा;
इसका इलाज़ है मेरे पास;
झंडू बाम लगाओ और जल्द;
आराम पाकर सो! जाओ।
गुड नाईट!
================================
आज अचानक वो बात हो गई;
कभी करनी नहीं थी वो बात हो गई;
मैंने उसे कहा !था तेरे लिए सूरज लाउंगा;
तो उसने कहा जा अबे झूठे अब तो रात हो गई।
शुभ रात्रि!
================================  
दिल पे हमला हुआ और दिल टूट गया;
कोई कहता है मनोबल छूट गया;
सब के सब झूठे हैं साले;
आँख खुली और हसीन सपना टूट गया।
शुभ रात्रि!
================================
सोती हुई आँखों को सलाम हमारा;
मीठे सुनहरे सपनो को आदाब हमारा;
दिल में रहे एहसास प्यार का सदा जिंदा;
आज की रात का यही पैगाम हमारा।
शुभ रात्रि!
================================
दिल में जगह दी तो दिल तोड़ गए;
बेपनाह मोहब्बत की तो बेवफ़ाई कर गए;
तरस ना आया उन्हें! हमारी वफाओं पर;
इसलिए तड़पने के लिए तनहा छोड़ गए।
शुभ रात्रि!
================================


इंग्लिश में बोले तो 'गुड नाईट';
उर्दू में बोले तो 'श!ब्बा खैर';
जर्मन में बोले तो 'गुटें निट';
स्पेनिश में बोले तो 'विल्ली वे डुरे';
और भी समझ न आये तो;
बिलकुल हिंदी में सो जा 'अबे गधे'।
================================
शुभ रात्रि  
सोया था रात को, पर नींद नहीं आयी;
सारी रात हमको सिर्फ उन्हीं की याद सताई;
आँख खुली तो पाया अपने! आप को बिलकुल अकेला;
फिर याद आया, तुझे रहना है और अभी अकेला।
शुभ रात्रि!
================================
आकाश के सितारों में डूबा है सारा जहाँ;
कितने प्यारे लगते हैं! सितारे यहाँ;
उन सभी सितारों में प्यारा है एक सितारा;
जो हर रोज पढ़ता है SMS हमारा।
शुभ रात्रि!
================================
चाँद के पलंग पर, तारों की रजाई होगी;
अब सो जा मेरे दोस्त, वर्ना मम्मी से पिटाई होगी;
दुआ है कि सुबह की अंगड़ाई में ख़ुशी समाई होगी;
और जिंदगी की खुशियों ने बाहें फैलाई होगी।
शुभ रात्रि!
================================
अरे चाँद तारों जरा इनको एक लात मारो;
बिस्तर से इनको नीचे उतारो;
करो इनके साथ फा!इट;
क्योंकि ये जनाब तो सो गए हैं बिना बोले, "गुड नाईट।"
शुभ रात्रि!
================================
अए चाँद मेरे दोस्त !को एक तोहफ़ा देना;
तारों की महफ़िल संग रोशनी देना;
छुपा लेना अंधेरे को और;
हर रात के बाद खूबसूरत सवेरा देना।
शुभ रात्रि!
================================
पुराने लोग कहते थे सोते वक़्त टेंशन में नहीं सोना चाहिए;
आश्चर्य की बात है फिर भी लोग बीवी के साथ सोते हैं।
शुभ रात्रि!
शुभ रात्रि / विवाहित  
शाम के बाद मिलती है रात;
हर बात में समा!ई हुई है तेरी याद;
बहुत तनहा होती ये जिंदगी;
अगर नहीं मिलता जो आपका साथ।
================================
शुभ रात्रि / जिंदगी / रिश्ते  
रब तू अपना जलवा दिखा दे;
उसकी जिंदगी को !अपने नूर से सजा दे;
बस मेरे दिल की इतनी सी दुआ है मालिक;
इस SMS पढ़ने वाले को आज रात बेड से नीचे गिरा दे।
================================
शुभ रात्रि  
हर सपना ख़ुशी पाने से पूरा नहीं होता;
कोई किसी के बिना !अधूरा नहीं होता;
जो चाँद रोशन करता है रात भर सबको;
हर रात वो भी पूरा नहीं होता।
शुभ रात्रि!

================================


इस प्यारी सी 'रात' में;
प्यारी सी 'नींद' से पहले;
प्यारे से 'सपनों' की आशा में;
प्यारे से 'अपनों' को मेरी तरफ से 1 प्यारी सी;
================================
शुभ रात्रि  
प्यारे से दोस्त को सलाम हमारा;
दिन कैसा रहा ये सवाल हमारा;
कल फिर SMS भेजेंगे ये वादा हमारा;
पर अभी "गुड नाईट" का प्यार सा पैगाम हमारा।
================================
शुभ रात्रि  
सपने वह नहीं होते जो हम !सोते वक्त देखते हैं;
बल्कि सपने वो होते हैं जो हमें सोने नहीं देते।
शुभ रात्रि!
================================  
आँखों में आंसू की जगह न हो;
मेरे पास आपको !भुलाने की वजह न हो;
अगर भूल जाऊं किसी तरह से;
तो खुदा करे जिंदगी की अगली सुबह न हो।
शुभ रात्रि!
================================
रात काफी हो चुकी है;
अब चिराग बुझा दीजिये;
एक हसीं ख्वाब राह देखता है आपकी;
बस पलकों के परदे गिरा दीजिये।
शु================================
शुभ रात्रि  
अगर तुम एक पेंसिल ब!नकर किसी की खुशियाँ नहीं लिख सकते हो;
तो कोशिश करो कि एक रबड़ बन के किसी के गम को मिटा दो।
================================
शुभ रात्रि  
ये रात की चांदनी आपके आँगन में आये;
ये तारे सारे लोरी !गा कर सुनायें;
हो आपके इतने प्यारे सपने यार;
कि नींद में भी आप मुस्कुराएं।
शु================================
शुभ रात्रि  
सोती हुई आँखों को सलाम हमारा;
मीठे सुनहरे सपनों को आदाब हमारा;
दिल में रहे प्यार का एहसास सदा जिन्दा;
आज की रात यही पैगाम हमारा।
================================
शुभ रात्रि  
चमकते चाँद को नींद आने लगी;
आपकी मुस्कुराहट से !दुनिया जगमगाने लगी;
आपको देखकर महफ़िल गुनगुनाने लगी;
अब तो सो जा यार, अब मुझे भी नींद आने लगी।
================================
शुभ रात्रि  
तुमसे दूर जाने का इरादा न था;
साथ रहने का !वादा न था;
तुम याद न करोगे ये जानते थे हम;
पर इतनी जल्दी भूल जाओगे ये अंदाजा न था।
शुभ रात्रि!

================================

काश वो फिर मिलने की वजह मिल जाए;
साथ वो बिताया वो पल मिल जाए;
चलो अपनी आँखें बंद !कर लें;
क्या पता ख़्वाबों में गुजरा हुआ कल मिल जाए।
================================
शुभ रात्रि  
दुनिया है पत्थर की ये जज्बात नहीं समझती;
दिल में जो छुपी है! वो बात नहीं समझती;
चाँद तन्हा है तारों की बारात में;
पर ये दर्द ज़ालिम रात नहीं समझती।
================================
शुभ रात्रि  
कोई दौलत पर नाज करता है;
कोई शौहरत पर नाज करता है;
जिसको मिलते हैं हमारे मैसेज;
वो अपनी किस्मत पर नाज करता है।
================================
शुभ रात्रि  
हर सपना ख़ुशी पाने !से पूरा नहीं होता;
कोई किसी के बिना अधूरा नहीं होता;
जो चाँद रोशन करता है रात भर;
हर रात वो भी पूरा नहीं होता।
================================
शुभ रात्रि  
किसी को चाँद से मोहब्बत है;
किसी को! तारों से मोहब्बत है;
हमें तो उनसे मोहब्बत है;
जिनको हमसे मोहब्बत है।
================================
शुभ रात्रि  
आपके बिछड़ने का गम हम चुपचाप सह लेंगे;
आपकी जगह मेरे दिल में नहीं, मेरी सांसो में है;
खुदा जाने हमें नींद! आएगी या नहीं;
पर आप चैन से सो जाएं, इसलिए आपको "शुभ-रात्रि" कहते हैं।
================================
शुभ रात्रि  
किसी को !चाँद से मोहब्बत है;
किसी को तारों से मोहब्बत है;
हमें तो उसने मोहब्बत है;
जिनको हमसे मोहब्बत है।
================================
शुभ रात्रि  
कल की हसीन मुलाक़ात के लिए;
आज रात के लिए;
हम तुम जुदा हो जाते हैं;
अच्छा चलो सो जाते हैं।
================================
शुभ रात्रि  
दीपक में अगर नूर ना होता;
तन्हा दिल ये मजबूर ना होता;
हम आपको "गुड नाईट" कहने जरूर आते;
अगर आपका 'बंगला' इतना दूर ना होता।
================================
शुभ रात्रि  
काश कि तू देख सकता रात के इस पहरे में मुझको;
कितनी बे-दर्दी से तेरी याद मेरी नींद चुरा लेती है।
शुभ रात्रि!

================================


फिर उम्मीदों भरी रात आई है;
चाँद तारों को भी साथ लाई है;
हमारे एक SMS का असर तो देखो;
कि ठंडी हवायें भी आपको "गुड नाईट" कहने आईं हैं।
शु================================
शुभ रात्रि  
गुरु नानक देव जी द्वारा कहे गए सुनहरे शब्द:
तुम सोने से पहले सब! को माफ़ कर दिया करो;
तुम्हारे जागने से पहले मैं तुम्हे माफ़ कर दूंगा।
================================
शुभ रात्रि  
दीपक अगर नूर ना होता;
तन्हा दिल मजबू!र ना होता;
हम आपको "गुड नाईट" कहने आते;
अगर आपका 'आशियाना' इतना दूर ना होता।
================================
शुभ रात्रि  
दिन भर की थकान अब मिटा लीजिये;
हो चुकी है रात रोशनी! !बुझा लीजिये;
एक खूबसूरत ख्वाब राह देख रहा है आपकी;
बस पलकों का पर्दा गिरा लीजिये।
================================
शुभ रात्रि  
रात को चुपके से आती है एक परी;
कुछ खुशियों के सपने लाती है एक परी;
कहती है कि सपनों! की आगोश में खो जाओ;
भूल के सारे गम चुपके से सो जाओ।
================================
शुभ रात्रि  
पलकों पर दस्तक देने कोई ख्वाब आनेवाला है;
खबर मिली है वो !ख्वाब सच होने वाला है;
हमने कहा उसकी पल्कों पर जा;
मेरा प्यारा दोस्त अभी सोनेवाला है।
================================
शुभ रात्रि  
चारो तरफ है फैली मून-लाइट;
मच्छर भी देने को बेताब हैं तुम्हें लव बाईट;
तकिया गले लगा के! सोने का टाईट;
अरे यार बोले तो स्वीट-ड्रीम वाली गुड नाईट।
================================
शुभ रात्रि  
मुझे सुलाने की खातिर जब रात आती है;
हम सो नहीं पाते! रात खुद सो जाती है;
पूछने पे दिल से ये आवाज आती है;
आज दोस्त को याद कर ले, रात तो रोज आती है!
================================
शुभ रात्रि  
रात आती है सितारे लेकर;
नींद आती है सपने लेकर;
हमारी दुआ है कल की सुबह आये;
आपके लिए खुशियाँ लेकर।
================================
शुभ रात्रि  
रिश्ते हमेशा 'तितली' जैसे होते हैं, जोर से पकड़ो तो मर जाते हैं;
छोड़ दो तो उड़ जाते हैं, और अगर प्यार से पकड़ो तो अपना रंग छोड़ जाते हैं।
शुभ रात्रि!
================================

रात का चाँद आसमान में निकल आया है;
साथ में तारों की बारात लाया है;
जरा आसमान की ओर तो देखो;
तारों का खूबसूरत तोहफ़ा मेरी ओर से "गुड नाईट" कहने आया है।
================================
शुभ रात्रि  
पंखें से लटका हुआ सिर;
खिड़की से तुम्हें देखती आत्मा;
बेड के नीचे बैठी चुड़ैल;
पर्दे के पीछे सिर !कटी लाश;
इन सबकी तरफ ध्यान मत देना;
आराम से सोना।
================================
शुभ रात्रि  
अगर रात को कोई तुम्हारे बिस्तर पे आये;
तुम्हारे गालों को चूमे;
तो रोमांटिक मत होना;
आल आउट (All Out) जला देना और सो जाना।
गु================================
शुभ रात्रि  
रात खामोश, चाँद मदहोश हो रहा है;
पर दिल में शोर हो रहा है;
कहीं ऐसा तो नहीं;
एक दोस्त बिना गुड नाईट कहे बिना सो रहा है "गुड नाईट"!
================================
शुभ रात्रि  
प्यारे से दोस्त को सलाम हमारा;
दिन कैसा रहा ये सवाल हमारा;
कल फिर SMS भेजेंगे ये वादा हमारा;
पर अभी गुड नाईट का प्यारा सा पैगाम हमारा।
================================
शुभ रात्रि  
कहीं अँधेरा तो कहीं शाम होगी;
मेरी हर ख़ुशी ते!रे नाम होगी;
कुछ मांगकर तो देखो हमसे;
सारी जिंदगी तेरे नाम होगी।
================================
शुभ रात्रि  
पत्थर की दुनिया !जज़्बात नहीं संभलती;
दिल में क्या है वो बात नहीं संभलती;
तनहा तो चाँद भी सितारों के बीच में है;
पर चाँद का दर्द वो रात नहीं संभलती।
================================
शुभ रात्रि  
दिल में प्यारी सी! मुस्कान बनाए रखना;
कुछ ना हो तो भी यादों को सजाये रखना;
चाहे ना हों मुलाकातों के सिलसिले;
तो भी ये खूबसूरत दोस्ती बनाए रखना।
================================
शुभ रात्रि  
जहाँ दोस्ती वहां प्यार;
जहाँ प्यार वहां इश्क;
जहाँ इश्क वहां जुदाई;
जहाँ जुदाई वहां दर्द;
जहाँ दर्द वहां झंडू बाम;
झंडू बाम लगाओ, चैन की नींद पाओ।
================================
शुभ रात्रि  
ईश्वर का संदेश:
तुम सोने से पहले! सबको माफ़ कर दिया करो;
तुम्हारे जागने से पहले मैं तुम्हें माफ़ कर दूंगा।
शुभ रात्रि।
================================

चलो सो जाते हैं अब कि!सी सच की तलाश में;
रही सांसें तो सुबह फिर इस झूंठी दुनिया का दीदार करना है।
शुभ रात्रि।
================================
सितारों को भेजा है आपको जगाने के लिए;
चाँद आया है !लोरी गाने के लिए;
सो जाओ मीठे ख़्वाबों में;
सुबह सूरज को भेजूंगा आपको जगाने के लिए।
================================
शुभ रात्रि  
दिल के साग!र में लहरे उठाया न करो;
ख्वाब बनकर नींद चुराया न करो;
बहुत चोट लगती है मेरे दिल को;
तुम ख़्वाबों में यूँ आकर तड़पाया न करो।
================================
शुभ रात्रि  
हम आपको कभी खोने नहीं देंगे;
जुदा होना चाहो तो भी होने नहीं देंगे;
चांदनी रातों में जब आएगी मेरी याद;
मेरी याद के वो पल आपको सोने नहीं देंगे।
================================
शुभ रात्रि  
तुम्हारे पास दो ही विकल्प हैं कुंवारे रहें और शादी के बारे में सोचते रहो;
या शादी करलो और मरने के बारे में सोचते रहो।
================================
शुभ रात्रि  
जिंदगी किसी के लिए नहीं रूकती;
बस जीने की वजह बदल जाती है।
आपकी जिंदगी की हर रात सुनहरे ख्वाबों से भरी हो।
================================
चाँद की चांदनी में एक पालकी बनाई है;
और यह पालकी हमने बड़े प्यार से सजाई है;
दुआ है ए हवा तुझसे, जरा धीरे चलना;
मेरे यार को बड़ी प्यारी नींद आई है।
================================
शुभ रात्रि  
निकल आया चाँद, बिखर गए सितारे;
सो गए पंछी छिप गए नज़ारे;
खो जाओ आप भी मीठे ख़्वाबों में;
देखो रात में सपने प्यारे-प्यारे।
================================
शुभ रात्रि  
शुभ रात्रि।
अब सो जाओ, नीचे का मैसेज सुबह पढ़ना।
.
..
...
गुड मोरनिंग।
.
. .
. . .
उठ जाओ अब, ऊपर का मैसेज शाम को पढ़ लेना, रोज़ रोज़ का टेंसन ही खत्म।
================================  
कामयाब होने के लिए मंजिल जरूरी है;
और मंजिल तह करने के लिए ख्वाब;
ख्वाब देखने के लिए नींद लाज़म है;
आप मंजिल की तरफ कदम बढ़ाओ और सो जाओ।
शुभ रात्रि।

================================


बढ़िया सी आपकी रात की शुरुआत हो;
प्यार भरे सपनो की बरसात हो;
जिनकों दिन भर ढूढ़ती रही आपकी पलकें;
रब करे सपनों में उन्हीं से मुलाक़ात हो।
================================
शुभ रात्रि  
चाँद का कलर है वाइट;
रात को चमकता है ब्राइट;
हमको देता है मस्त लाइट;
कैसे मैं सूओं बिना कहे 'गुड नाईट'।
================================
फूल खुशबु के लिए;
प्यार निभाने के लिए;
आँखें दिल चुराने के लिए;
और मेरा मैसेज आपको मेरी याद दिलाने के लिए।
================================
शुभ रात्रि  
सोचा किसी अपने से बात करूँ;
अपने किसी ख़ास को याद करूँ;
किया जो फैसला गुड नाईट कहने का;
दिल ने कहा क्यों ना पहले आपसे ही शुरुआत करूँ।
शु================================
शुभ रात्रि  
ये रात चांदनी आपके आँगन में आये;
ये तारे सारे लोरी गा कर सुनायें;
हो आपके इतने प्यारे सपने यार;
कि नींद में भी आप मुस्कुराएं।
================================
शुभ रात्रि  
रात खामोश है, चाँद भी खामोश है;
पर मेरे दिल में बहुत शोर है;
कहीं ऐसा तो नहीं कि हमारा प्यारा सा दोस्त;
बिना "शुभ रात्रि" कहे बिना सो रहा है।
================================
चमकते चाँद को नींद आने लगी;
आपकी ख़ुशी से दुनिया जगमगाने लगी;
देख के आपको हर कली गुनगुनाने लगी;
अब तो फेकते-फेकते मुझे भी नींद आने लगी।
शुभ रात्रि।
================================
होंठ कह नहीं सकते जो फ़साना दिल का;
शायद नज़र से ही वो बात हो जाए;
इस उम्मीद में करते हैं इंतज़ार हम रात का;
कि शायद सपनों में ही मुलाक़ात हो जाए।
शुभ रात्रि।
================================
सोने वाले यात्री कृपया ध्यान दें:
आपके मोबाइल की बैटरी ख़तम होने वाली है। आप कृपया अपने मोबाइल चार्ज पर लगा के सो जायें। सुबह 'स.म.स.' (SMS) का सिलसिला दोबारा शुरू किया जायेगा।
शुभ रात्रि।
================================
हम कभी तुमसे खफ़ा हो नहीं सकते;
वादा किया है तो बेवफा हो नहीं सकते;
आप भले ही हमें भुलाकर सो जाओ;
मगर हम आपको याद किये बिना सो नहीं सकते।
शुभ रात्रि।


================================
चाँद में अगर नूर न होता;
ये तन्हा दिल मजबूर न होता;
हम आपको 'शुभ रात्रि' कहने जरूर आते;
अगर आपका घर इतना दूर न होता।
शु================================
एक दिन हम सब एक दूसरे को सिर्फ यह सोचकर खो देंगे कि जब वो मुझे याद नहीं करते तो मैं क्यों करूँ?
शुभ रात्रि।
================================  
मेरी हर रात में आपको याद होती है;
चाँद तारों से रोज यही बात होती है;
मेरे ख़्वाबों में बिलकुल न आना आप;
क्योंकि डरावनी सूरत से हमारी नींद ख़राब होती है।
================================
शुभ रात्रि  
इंग्लिश में बोले तो 'गुड नाईट';
उर्दू में बोले तो 'शब्बा खैर';
जर्मन में बोले तो 'गुटें निट';
स्पेनिश में बोले तो 'विल्ली वे डुरे';
और भी समझ न आये तो;
बिलकुल हिंदी @में सो जा 'अबे गधे'।
शु================================  
पत्थर से दोस्ती जान को खतरा;
पठान से दोस्ती@ दिमाग को खतरा;
दारु से दोस्ती लीवर को खतरा;
हमसें दोस्ती रात में SMS का खतरा।
================================
शुभ रात्रि  
हो गई रात नि@कल गये सितारे;
आलने में चले गए सभ पंछी;
क्या खूब खिले नज़ारे;
आप देखें सपने प्यारे-प्यारे।
================================
शुभ रात्रि  
कैसा होता अगर कभी रात न होती;
फिर सपनों में उनसे मुलाकात न होती;
वो वादा करते हमसे मिलने का सपनो में;
न मिलते हम न आँखें चार होती।
================================
शुभ रात्रि  
कितने दिनों बाद हुई आज बरसात है;
याद दिलाती ये आ@पकी हर बात है;
हमारी आँखों से चाहे उड़ गयी नींद है;
लेकिन आप हसीं सपने देखो, हमारी दुआ है।
शुभ================================
शुभ रात्रि  
ना जाने क्यों इतनी जल्दी ये रात आ जाती है;
बातों ही बातों में@ आपकी बात आ जाती है;
हम तो बहुत सोने की कोशिश करते हैं;
लेकिन ना जाने क्यों आपकी याद आ जाती है।
================================
शुभ रात्रि  
कितनी हसीन यह रात आई है;
चाँद तारों की सौग़ात साथ लाई है;
हमारी चाहत का ही तो असर है ये;
यूहीं नहीं ये बर@सात लाई है।
शुभ रात्रि।

================================


चाँद तारो से रात @जगमगाने लगी;
फूलों की खुशबु से दुनिया महकने लगी;
सो जाओ रात हो गई है काफी;
निंदिया रानी भी आपको देखने आने लगी।
================================
शुभ रात्रि  
आप जो सो गए तो ख्वाब हमारा आयेगा;
एक प्यारी सी मुस्कान आपके चेहरे पर लायेगा;
खिड़की दरवाजे दिल के खोल के सोना;
वर्ना बताओ कि आपकी रात कौन सजायेगा।
================================
शुभ रात्रि  
दुनिया में रहकर सपनो में खो जाओ;
किसी को अपना बना@ लो या किसी के हो जाओ;
अगर कुछ भी नहीं होता तो चिंता न करो;
चादर तकिया लो और सो जाओ।
================================
शुभ रात्रि  
रात की प्यारी रोशनी के साथ;
तारों के टिमटिमाने के साथ;
चाँदनी के खि@लने के साथ;
एक प्यारे मैसेज के साथ।
================================
शुभ रात्रि  
ऐसा लगता है कुछ होने जा रहा है;
कोई मीठे सपनो में खोने जा रहा है;
धीमी करदे अपनी रोशनी अय चाँद;
मेरा दोस्त अब सोने जा रहा है।
शु================================
शुभ रात्रि  
अए चाँद मेरे दोस्त को एक तोहफ़ा देना;
तारों की महफ़िल संग रोशनी देना;
छुपा लेना अंधेरे को;
हर रात के बाद खूबसूरत सवेरा देना।
================================
शुभ रात्रि  
चाँदनी रात में सोने से पहले;
ख़्वाबों की दुनिया में खोने से पहले;
मैंने सोचा तुम्हें या@द दिला दूं;
मैंने सोचा तुम्हें एहसास दिला दूं;
सुसु करके सोना ताकी आपकी बेड गीली ना हो जाये।
================================
शुभ रात्रि  
जब दुनिया ये कहती है की हार मान लो तब आशा धीरे से कान में कहती है कि "एक बार फिर से प्रयास करो"।
शुभ रात्रि।
================================
चाँद को बैठाकर पहरों पर;
तारों को दिया निगरानी का काम।
एक रात सुहा@नी आपके लिए;
एक सुनेहरा सपना आपकी आँखों के नाम।
शुभ रात्रि।
================================
चाँद को बैठाकर पहरों पर;
तारों को दिया निगरानी का काम;
एक रात सुहानी आपके लिए;
एक स्वीट सा 'ड्रीम' आपकी आँखों के नाम!

================================


कितनी जल्दी ये शाम आ गई;
गुड नाईट कहने की बात याद आ गई;
हम तो बैठे थे @सितारों की महफ़िल में;
चाँद को देखा तो आपकी याद आ गई।
================================
शुभ रात्रि  
मेरा नाम बोलकर सोया करो;
दरवाज़ा ज़रूर ढोया करो;
तकिया मोड़कर सोया करो;
रात को हम भी आ सकते हैं, मेरी जान;
इसलिए थोड़ी सी जगह छोड़कर सोया करो।
================================
शुभ रात्रि  
अरे चाँद तारों जरा इनको एक लात मारो;
बिस्तर से इनको नीचे उतारो;
करो इनके साथ फाइट;
क्योंकि ये जनाब@ तो सो गए हैं बिना बोले;
.
. .
. . .
गुड नाईट।
================================  
चाँद के पलंग पर, तारों की रजाई होगी;
अब सो जा मेरे दोस्त, वर्ना मम्मी से पिटाई होगी।
दुआ है कि सुबह की अंगड़ाई में ख़ुशी समाई होगी;
और जिंदगी की खुशियों ने बाहें फैलाई होगी।
================================
शुभ रात्रि  
शाम के बाद मिलती है रात;
हर बात में समाई हुई है तेरी याद;
बहुत तनहा होती ये जिंदगी;
अगर नहीं मिलता जो आपका साथ।
================================
शुभ रात्रि  
इस प्यारी सी 'रात' में;
प्यारी सी 'नींद' से पहले;
प्यारे से 'सपनों' की@ आशा में;
प्यारे से 'अपनों' को, मेरी तरफ से 1 प्यारी सी;
.
. .
. . .
"शुभ रात्रि।"
================================  
जब आंसू आए तो रो जाते हैं;
जब ख्वाब आए तो खो जाते हैं;
नींद आंखो@ में आती नहीं;
बस आप ख्वाबो में आओगें;
यही सोचकर हम सो जाते हैं।
================================
शुभ रात्रि  
अंग्रेजी में, "गुड नाईट"।
हिंदी में, "शुभ रात्री"।
उर्दू में, "शब्बा खैर"।
कन्नड़ में, "यारंदी"।
तेलगू में, "पदनकोपो"।
और अपनी स्टाइल में:
.
. .
. . .
"चल लुढ़क ले अब"।
================================
जीवन के हर मोड़ पर सुनहरी यादों को रहने दो;
जुबां पर हर व@क्त मिठास रहने दो;
ये अंदाज है जीने का;
ना रहो उदास और ना किसी को रहनो दो।
================================
शुभ रात्रि  
रात को जब किसी की याद सताये;
हवा जब बालों को सहलाये;
करलो आँखे बंद और सो जाओ;
क्या पता@ जिसका है ख्याल;
वो ख़्वाबों में आ जाये!
शुभ रात्रि।

================================


कुछ पाने के लिए कुछ खोना पड़ता है;
मुस्कुराने के लिए भी @रोना पड़ता है;
यूं ही नहीं होता है सवेरा;
सुबह होने के लिए रात भर सोना पड़ता है!
================================
शुभ रात्रि  
आंसू होते नहीं बहाने के लिए;
गम होते हैं पी जाने के लिए;
कभी दिल से मत सोचना किसी को पाने के लिए;
नहीं तो सारी जिंदगी बीत जाएगी उसको भुलाने के लिए!
================================
शुभ रात्रि  
दुनिया में रहकर सपनों में खो जाओ;
किसी को अपना बना@ता तो घबराओ नहीं;
चादर-तकिया लो और सो जाओ!
शु================================
शुभ रात्रि  
दुनिया में रहकर स@पनों में खो जाओ;
किसी को अपना बनालो या किसी के हो जाओ;
अगर कुछ भी नहीं होता तो घबराओ नहीं;
================================
शुभ रात्रि  
चमकते चाँद को नींद आने लगी;
आपकी ख़ुशी से, दुनिया जगमगाने लगी;
देखकर आपको, हर कली गुनगुनाने लगी;
अब तो फेंकते-फें@कते, मुझे भी नींद आने लगी!
================================



No comments :

Post a Comment