poems होली है


  1. जीवन  के  हर  रंग  को हसकर जीने का उत्साह  है होली ,

  2. उमंग और अपनेपन का  पावन उत्सव है  यह होली ,

  3. हर बुराई  और  गमो  को भूल कर  खेलो  होली ,

  4. रंगो की मस्ती  में झूम  जाओ इस  होली। ।

  5. मुबारक  हो सबको होली ..

No comments:

Post a Comment