Sad Shayari Apni Jaan


  • Apni Ruswai Tere Naam Ka Charcha Dekhun,
  • Ek Jara Sher Kahun Aur Main Kya Kya Dekhun. 

  • अपनी रुसवाई तेरे नाम का चर्चा देखूं, 
  • एक जरा शेर कहूँ और मैं क्या क्या देखूं। 

  • Zamana Khada Hai Haatho Mein Patthar Lekar, 
  • Kahan Tak Bhaagu Shishe Ka Muqaddar Lekar.

  •  ज़माना खड़ा है हाथों में पत्थर लेकर, 
  • कहाँ तक भागूं शीशे का मुक़द्दर लेकर। 

  • Mat Puchh Sheeshe Se Uske Tootne Ki Wajah, 
  • Usne Bhi Kisi Patthar Ko Apna Samjha Hoga. 

  • मत पूछ शीशे से उसके टूटने की वजह, 
  • उसने भी किसी पत्थर को अपना समझा होगा। 

  • Meri Koshish Kabhi Kamyaab Na Ho Saki, 
  • Na Tujhe Pane Kii Na Tujhe Bhulane Ki. 

  • मेरी कोशिश कभी कामयाब ना हो सकी, 
  • न तुझे पाने की न तुझे भुलाने की।

  •  Chale Jaenge Tujhe Tere Haal Pe Chhorh Kar, 
  • Kadar Kya Hoti Hai Ye Tujhe Waqt Sikha Dega. 

  • चले जायेंगे तुझे तेरे हाल पे छोड़ कर, 
  • कदर क्या होती है तुझे वक़्त सिखा देगा।
  • ====================================

  • Main Tamaam Din Ka Thaka Hua, 
  • Tu Tamaam Shab Ka Jagaa Hua, 
  • Jara Thehar Ja Isi Morh Par, 
  • Tere Saath Shaam Gujaar Lu. 

  • मैं तमाम दिन का थका हुआ, 
  • तू तमाम शब का जगा हुआ, 
  • ज़रा ठहर जा इसी मोड़ पर, 
  • तेरे साथ शाम गुज़ार लूँ। 

  • Gar Meri Chahaton Ke Mutabiq, 
  • Zamaane Ki Har Baat Hoti, 
  • To Bas Main Hota Tum Hoti, 
  • Aur Sari Raat Barsaat Hoti.

  •  गर मेरी चाहतों के मुताबिक ज़माने की हर बात होती, 
  • तो बस मैं होता तुम होती, और सारी रात बरसात होती। 

  • Humdum Toh Sath Sath Chalte Hain, 
  • Raaste Toh Bewafa Badalte Hain, 
  • Tera Chehra Hai Jab Se Aankhon Mein, 
  • Meri Aankhon Se Log Jalte Hain. 

  • हमदम तो साथ साथ चलते हैं, 
  • रस्ते तो बेवफा बदलते हैं, 
  • तेरा चेहरा है जब से आँखों में, 
  • मेरी आँखों से लोग जलते है। 

  • Haqikat Na Sahi Tum Khwab Ki Tarah Mila Karo, 
  • Bhatke Huye Musafir Ko Chaandani Raat Ki Tarah Mila Karo. 

  • हक़ीक़त ना सही तुम ख़्वाब की तरह मिला करो, 
  • भटके हुए मुसाफिर को चांदनी रात की तरह मिला करो@
  • ====================================
  • Palkon Ke Bandh Torh Ke Daaman Pe Gir Gaya, 
  • Ek Ashk Mere Zabt Ki Tauheen Kar Gaya. 

  • पलकों के बंध तोड़ के दामन पे गिर गया, 
  • एक अश्क मेरे ज़ब्त की तौहीन कर गया। 

  • Ittefaq Samjho Ya Mere Dard Ki Hakeeqat, 
  • Aankh Jab Bhi Nam Huyi Wajah Tum Hi Nikle. 

  • इत्तिफ़ाक़ समझो या मेरे दर्द की हकीक़त, 
  • आँख जब भी नम हुई वजह तुम ही निकले। 

  • Rone Wale Toh Dil Mein Hi Ro Lete Hain, 
  • Aankho Mein Aansu Aayein Yeh Zaruri Toh Nahi. 

  • रोने वाले तो दिल में ही रो लेते हैं, 
  • आँखों में आँसू आयें ये ज़रूरी तो नहीं। 

  • Uska Aks Aankhon Mein Iss Kadar Basa Hai, 
  • Barson Bahe Aansu Magar Tasbeer Na Dhuli. 

  • उसका अक्स आँखों में इस कदर बसा है, 
  • बरसों आँसू बहे मगर तसवीर न धुली।
  • ==============================
  • Tumko Paane Ki Tamanna Nahi Phir Bhi Khone Ka Darr Hai. 
  • Kitni Shiddat Se Dekho Maine Tumse Mohabbat Kee Hai. 

  • तुमको पाने की तमन्ना नहीं फिर भी खोने का डर है, 
  • कितनी शिद्दत से देखो मैनें तुमसे मोहब्बत की है। 

  • Riwaaj Toh Yahi Hai Duniya Ka Mil Jana Bichhad Jana, 
  • Tum Se Yeh Kaisa Rishta Hai Na Milte Ho Na Bichadte Ho. 

  • रिवाज तो यही है दुनिया का मिल जाना बिछड़ जाना, 
  • तुम से ये कैसा रिश्ता है न मिलते हो न बिछड़ते हो। 

  • Aukat Nahi Thi Jamaane Ki Jo Meri Keemat Laga Sake, 
  • Kambakht Ishq Mein Kya Gire Muft Mein Neelam Ho Gaye. 

  • औक़ात नहीं थी जमाने की जो मेरी कीमत लगा सके, 
  • कबख़्त इश्क में क्या गिरे मुफ़्त में नीलाम हो गए।
  • ================================
  • Tum Dil Mein Na Samaate Toh Bhula Dete Tumhein, 
  • Tum Itna Pass Na Aate Toh Bhula Dete Tumhein, 
  • Yeh Kehte Huye Mera Talluq Nahi Tum Se Koi, 
  • Aankhon Mein Aansu Na Aate Toh Bhula Dete Tumhein. 

  • तुम दिल में न समाते तो भुला देते तुम्हें, 
  • तुम इतना पास न आते तो भुला देते तुम्हें, 
  • यह कहते हुए मेरा ताल्लुक नहीं तुमसे कोई, 
  • आँखों में आंसू न आते तो भुला देते तुम्हें।
  • ===================================
  • Ghayal Karke Mujhe Usne Puchha, 
  • Karoge Kya Phir Mohabbat Mujhse, 
  • Lahu-Lahu Tha Dil Magar, 
  • Honthon Ne Kaha BeIntehan-BeIntehan. 
  • घायल करके मुझे उसने पूछा, करोगे क्या फिर मोहब्बत मुझसे, 
  • हू-लहू था दिल मगर होंठों ने कहा बेइंतहा-बेइंतहा। 
  • Toota Dil To Gham Kaisa, 
  • Wo Chal Diye To Sitam Kaisa, 
  • Man Bhara Yaar Badle, Bewafa Huye Saaf, 
  • To Fir Ishq Ka Bharam Kaisa? 

  • टूटा दिल तो गम कैसा, 
  • वो चल दिये तो सितम कैसा, 
  • मन भरा यार बदले, बेवफा हुए साफ, 
  • तो फिर इश्क का भ्रम कैसा? 

  • Mujhse Wasta Nahi Rakhna Toh, 
  • Phir Mujh Pe Nazar Kyu Rakhta Hai? 
  • Main Kis Haal Mein Jinda Hun 
  • Tu Meri Kahabr Kyu Rakhta Hai? 

  • मुझसे वास्ता नही रखना तो फिर मुझपे नजर क्यूं रखता है? 
  • मैं किस हाल में जिंदा हूँ
  • ============================
  • Ghayal Karke Mujhe Usne Puchha, 
  • Karoge Kya Phir Mohabbat Mujhse, 
  • Lahu-Lahu Tha Dil Magar, 
  • Honthon Ne Kaha BeIntehan-BeIntehan. 
  • घायल करके मुझे उसने पूछा, 
  • करोगे क्या फिर मोहब्बत मुझसे, 
  • लहू-लहू था दिल मगर होंठों ने कहा बेइंतहा-बेइंतहा। 

  • Toota Dil To Gham Kaisa, 
  • Wo Chal Diye To Sitam Kaisa, 
  • Man Bhara Yaar Badle, Bewafa Huye Saaf, 
  • To Fir Ishq Ka Bharam Kaisa? 

  • टूटा दिल तो गम कैसा, वो चल दिये तो सितम कैसा, 
  • मन भरा यार बदले, बेवफा हुए साफ, तो फिर इश्क का भ्रम कैसा? 

  • Mujhse Wasta Nahi Rakhna Toh, 
  • Phir Mujh Pe Nazar Kyu Rakhta Hai? 
  • Main Kis Haal Mein Jinda Hun
  •  Tu Meri Kahabr Kyu Rakhta Hai? 

  • मुझसे वास्ता नही रखना तो फिर मुझपे नजर क्यूं रखता है? 
  • मैं किस हाल में जिंदा हूँ तू मेरी खबर क्यूं रखता है?
  • ==================================


  • No comments:

    Post a Comment