Suvichar Hindi Quotes New Free 2017


  1. जिसको गलत तस्वीर
  2. दिखाई, उसको ही बस खुश
  3. रख पाया..
  4. जिसके सामने आईना
  5. रक्खा, हर शख्स वो मुझसे
  6. रूठ गया.
  7. ..................................................
  8. सफ़र के इतिहास
  9. कि बात न करो ऐ
  10. दोस्त,
  11. बस मुझे अगला
  12. कदम रखने के लिए जमीन
  13. दो
  14. ..................................................
  15. न मेरा एक
  16. होगा, न तेरा लाख होगा,
  17. तारिफ तेरी, न
  18. मेरा मजाक होगा,
  19. गुरुर न कर
  20. शाह-ए-शरीर का,
  21. मेरा भी खाक
  22. होगा, तेरा भी खाक होगा
  23. ..................................................
  24. मुहब्बत आजमानी है,
  25. तो बस इतना ही काफी
  26. है,
  27. जरा सा रूठ
  28. कर देखो, मनाने
  29. कोन आता है
  30. ..................................................
  31. ज़िन्दगी सस्ती है
  32. जीने के ढंग
  33. महँगे हैं
  34. ..................................................
  35. एक छुपी हुई
  36. पहचान रखता हूँ,
  37. बाहर शांत हूँ,
  38. अंदर तूफान रखता
  39. हूँ,
  40. रख के तराजू
  41. में अपने दोस्त
  42. की खुशियाँ,
  43. दूसरे पलड़े में
  44. मैं अपनी जान
  45. रखता हूँ।
  46. ..................................................
  47. जिंदगी में हद
  48. से ज्यादा ख़ुशी
  49. और हद से ज्यादा गम
  50. का कभी किसी
  51. से इज़हार मत
  52. करना।
  53. क्योंकि, ये दुनिया
  54. बड़ी ज़ालिम है।
  55. हद से ज्यादा
  56. ख़ुशी पर ‘नज़र’
  57. और हद से ज्यादा गम
  58. पर ‘नमक’लगाती
  59. है।
  60. ..................................................
  61. खुदा पर भरोसे
  62. का हुनर सिख
  63. ले ऐ दोस्त
  64. सहारे जितने भी
  65. सच्चे हो साथ छोड़ ही
  66. जाते है
  67. ..................................................
  68. सूरज नहीं डूबा
  69. ज़रा सी शाम होने दो”
  70. मैं खुद लौट
  71. जाउंगा मुझे नाकाम
  72. होने दो”
  73. मुझे बदनाम करने
  74. का बहाना ढूँढ़ते
  75. हो क्यों
  76. मैं खुद हो
  77. जाऊंगा बदनाम पहले
  78. नाम होने
  79. दो..
  80. ..................................................
  81. ज़िंदा हो तो
  82. ताकत रखो बाज़ुओ
  83. में लहरो से लड़ने की,
  84. क्योकि लहरो के
  85. साथ बहना तो लाशो का
  86. काम है .
  87. ..................................................
  88. मेरी इबादतों को ऐसे कर कबूल
  89. ऐ मेरे खुदा,
  90. के सजदे में
  91. मैं झुकूं
  92. तो मुझसे जुड़े
  93. हर रिश्ते की
  94. जिंदगी संवर जाए..!!
  95. ..................................................

  96.  
  97. रोज तारीख बदलती
  98. है,
  99. रोज दिन बदलते
  100. हैं
  101. रोज अपनी उमर
  102. भी बदलती है
  103. रोज समय भी
  104. बदलता है
  105. हमारे नजरिये भी
  106. वक्त के साथ बदलते हैं
  107. बस एक ही
  108. चीज है जो नहीं बदलती
  109. और वो हैं
  110. हम खुद और बस इसी
  111. वजह से
  112. हमें लगता है
  113. कि अब जमाना
  114. बदल गया है!!
  115. ..................................................
  116. दोस्ती उन से
  117. करो जो निभाना
  118. जानते हो,
  119. नफ़~रत उन से
  120. करो जो भुलाना
  121. जानते हो,
  122. ग़ुस्सा उन से
  123. करो जो मनाना जानता
  124. हो,
  125. प्यार उ~नसे करो
  126. जो दिल लुटाना
  127. जानता हो.
  128. ..................................................
  129. जो खानदानी रईस हैं वो, रखते
  130. हैं मिजाज़ नर्म
  131. अपना..
  132. तुम्हारा लहजा बता
  133. रहा है तुम्हारी
  134. दौलत नई नई है
  135. ..................................................
  136. जिसे मौका मिलता
  137. है पीता जरुर
  138. है,
  139. दोस्त,
  140. जाने क्या मिठास
  141. है गरीब के खून में
  142. ..!!
  143. ..................................................
  144. कितने मसरूफ़ हैं
  145. हम जिंदगी की
  146. कशमकश में
  147. इबादत भी जल्दी
  148. में करते हैं
  149. फिर से गुनाह
  150. करने के लिए
  151. ..................................................
  152. मुझे रि~श्तो की
  153. लम्बी कतारो से
  154. मतलब नही,
  155. ए – दोस्त
  156. कोई दिल से
  157. हो मेरा तो बस इक
  158. शक्स ही काफी है.
  159. ..................................................
  160. तेरे डिब्बे की
  161. वो दो रोटियाँ कहीं
  162. बिकती नहीं..
  163. माँ, महंगे होटलों
  164. में आज भी.. भूख मिटती
  165. नहीं.
  166. ..................................................
  167. जिन्दगी की उलझनों
  168. ने; कम कर दी हमारी
  169. शरारते;
  170. और लोग समझते
  171. हैं कि; हम समझदार हो
  172. गये..!!
  173. ..................................................
  174. रंगो की बात
  175. न करो दोस्तो.!
  176. मैने ~लोगो को
  177. रंग बदलते देखा
  178. है !!..
  179. ..................................................
  180. किसी ने आँख
  181. भी खोली तो सोने की
  182. नगरी में,
  183. किसी को घर
  184. बनाने में ज़माने
  185. बीत जाते हैं।
  186. ..................................................
  187. पहले मैं होशियार
  188. था, इसलिए दुनिया
  189. बदलने चला था।
  190. आज मैं समझदार
  191. हूँ, इसलिए खुद
  192. को बदल रहा हूँ
  193. ..................................................
  194. हंसने के बाद
  195. क्यों रुलाती है
  196. दुनियां,
  197. जाने के बाद
  198. क्यों भुला देती
  199. है ये दुनियां,
  200. जिंदगी में क्या
  201. कोई कसर बाकी
  202. थी,
  203. जो मरने के
  204. बाद भी ~जला देती है
  205. ये दुनियां.
  206. ..................................................
  207. हर् स्कूल में
  208. लिखा होता है,असूल तोडना
  209. मना है ..!!
  210. हर बाग में
  211. लिखा होता है
  212. ,फूल तोडना मना
  213. है ..!!
  214. हर खेल मैं
  215. लिखा होता है
  216. ,रूल तोडना मना
  217. है ..!!
  218. .
  219. .
  220. काश ..!!
  221. .
  222. .
  223. मोहब्बत और दोस्ती
  224. मैं भी लिखा होता की
  225. ..,
  226. किसी~ का दिल
  227. तोडना मना है
  228. ..!
  229. ..................................................
  230. जब लगा था
  231. तीर तब इतना दर्द न
  232. हुआ..
  233. ज़ख्म का एहसास
  234. तब हुआ जब कमान देखी
  235. अपनों के हाथ में!!
  236. ..................................................
  237. मै झुकता हूँ
  238. हमेशा आँसमा बन
  239. के
  240. जानता हूँ कि
  241. ज़मीन को उठने की आदत
  242. नही.
  243. ..................................................
  244. घड़ा सर पर
  245. रख कर पानी बड़ी दूर
  246. से लाती है,
  247. माँ की होली
  248. तो ~रोज होती
  249. है,वो रोज भीग जाती
  250. है।
  251. ..................................................
  252. सूरज ढला तो
  253. कद से ऊँचे हो गए
  254. साये
  255. कभी इन्ही परछाईयो
  256. को पैरों से
  257. रौंदते हम गए.
  258. ..................................................
  259. ले दे के
  260. अपने पास फ़कत
  261. एक नजर तो है,
  262. क्युँ देखे जिंदगी
  263. को किसी की नजर से
  264. हम..
  265. ..................................................
  266. वक़्त नूर को
  267. बेनूर बना देता
  268. है, छोटे से जख्म को
  269. नासूर बना देता
  270. है,
  271. कौन चाहता है
  272. अपनों से दूर रहना, पर
  273. वक़्त सबको मजबूर
  274. बना देता है.
  275. ..................................................
  276. डर मुझे भी
  277. लगा फ़ासला देख
  278. कर,~पर मैं बढ़ता
  279. गया रास्ता देख
  280. कर.
  281. खुद ब खुद
  282. मेरे नज़दीक आती
  283. गई,
  284. मेरी मंज़िल मेरा
  285. हौंसला ~देख कर.


  286. Suvichar Hindi Quotes,Suvichar Hindi Quotes Facebook whatsapp,Suvichar Hindi Quotes,suvichar in hindi by chanakya,suvichar new hindi me,suvichar in hindi language,suvichar in hindi,facebook,suvicharfacebook in hindi today,suvichar in hindi love,suvichar in hindi,dainik suvichar in hindi


No comments :

Post a Comment